Breaking :
||लातेहार में बड़ा रेल हादसा, चार यात्रियों की मौत और कई के घायल होने की सूचना||मोदी 3.0: मोदी सरकार में मंत्रियों के बीच हुआ विभागों का बंटवारा, देखें किसे मिला कौन सा मंत्रालय||गढ़वा: प्रेमी ने गला रेतकर की प्रेमिका की हत्या, शादी का बना रही थी दबाव, बिन बयाही बनी थी मां||मैक्लुस्कीगंज में फायरिंग व आगजनी मामले में पांच गिरफ्तार, ऑनलाइन जुआ खेलाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, सात गिरफ्तार||पलामू में शैक्षणिक संस्थानों के 100 मीटर के दायरे में 60 दिनों के लिए निषेधाज्ञा लागू, जानिये वजह||पलामू में युवक की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच तेज||पलामू: संदिग्ध हालत में स्कूल में फंदे से लटका मिला प्रधानाध्यापक का शव, हत्या की आशंका||लातेहार: तालाब में डूबे बच्चे का 24 घंटे बाद भी नहीं मिला शव, तलाश के लिए पहुंची NDRF की टीम||मुख्यमंत्री चंपाई सोरेन ने आलमगीर आलम से लिए सभी विभाग वापस||पलामू: कोयला से भरा ट्रक और बीड़ी पत्ता लदा ऑटो जब्त, पांच गिरफ्तार, दो लातेहार के निवासी
Friday, June 14, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरलातेहार

लातेहार: प्रखंड समन्वयक को मिली जान से मारने की धमकी, मामला दर्ज

लातेहार : सदर थाना क्षेत्र के होटवाग ग्राम निवासी शिव प्रसाद यादव ने अपने ही गांव के शंकर यादव पिता अशर्फी यादव पर गाली गलौज और जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाया है। इस संबंध में शिव प्रसाद यादव ने लातेहार सदर थाने में आवेदन देकर मामला दर्ज कराया है।

प्रखंड समन्वयक शिव प्रसाद यादव

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

दिए गए आवेदन में शिव ने बताया है कि शंकर यादव को 17 अप्रैल 2021 को जमीन के एवज में अग्रिम 90 हजार रुपये बैंक ऑफ इंडिया के खाते से शंकर यादव के खाते में ट्रांसफर किया था, जो मेरी मां की जमा पूंजी थी।

पैसा देने के बावजूद आज तक शंकर यादव ने ना तो जमीन की नापी कराई और नहीं जमीन दिया गया। 16 माह बीत जाने के बाद भी जब पैसे की मांग करता हूं तो पैसा नहीं दिया जा रहा है।

आवेदन में आगे बताया है कि मैं गारू प्रखंड के प्रखंड समन्वयक के पद पर कार्यरत हूं और शंकर यादव 11 अगस्त 2022 को मुझे रात में फोन कर गाली गलौज करते हुए जान से मारने की धमकी दिया। फोन पर शंकर यादव ने कहा कि बीच रास्ते में तुम्हें जान से मार दूंगा।

आवेदन में शिव प्रसाद यादव ने पुलिस पदाधिकारियों से अनुरोध किया है कि शंकर यादव पर प्राथमिकी दर्ज करते हुए सुसंगत धाराओं के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की जाए।