Breaking :
||लातेहार: लापरवाह वाहन चालक हो जायें सावधान! कल से पुलिस चलायेगी जिलेभर में सघन वाहन चेकिंग अभियान||झारखंड की नाबालिग लड़की के साथ अमानवीय व्यवहार करने वालों के खिलाफ मुख्यमंत्री ने दिये सख्त कार्रवाई के आदेश||लातेहार: बालूमाथ में ट्यूशन पढ़ाकर घर लौट रहे शिक्षक की सड़क दुर्घटना में मौत||हेमंत सरकार ने खिलाड़ियों के सर्वांगीण विकास को लेकर की जोहार खिलाड़ी स्पोर्ट्स इंटीग्रेटेड पोर्टल की शुरुआत, खिलाड़ियों की समस्याओं के निराकरण में होगा सहायक||रामगढ़, चतरा व लातेहार में कोयला कारोबारियों पर जानलेवा हमला करने वाले TSPC के चार उग्रवादी गिरफ्तार, एक लातेहार का||अब राज्य के सरकारी शिक्षकों को ‘लीव मैनेजमेंट मॉड्यूल’ के माध्यम से ही मिलेगी छुट्टी, अन्य माध्यमों से दिये गये आवेदन होंगे रद्द||लातेहार: बालूमाथ में हुई विवाहिता हत्याकांड का खुलासा, चार अभियुक्तों ने मिलकर की थी बेरहमी से हत्या||पलामू: शहर में बिना अनुमति के जुलूस निकालने पर होगी कार्रवाई, रात 10 बजे के बाद डीजे बजाने पर रोक||लातेहार: मवेशियों से लदा ट्रक दुर्घटनाग्रस्त, ग्रामीणों ने एक तस्कर को पकड़ कर किया पुलिस के हवाले, डाल्टनगंज से खरीद कर रांची के मांस कारोबारी को जा रहे थे पहुंचाने||प्रेमिका से वीडियो कॉल पर बात करते प्रेमी ने दे दी जान

लातेहार के इस गांव में नहीं हो रही है लड़कों की शादी, वजह जान आप भी रह जाएंगे हैरान

लातेहार के चंदवा प्रखंड में एक ऐसा गांव है जहां लड़कों की शादी नहीं हो रही है। जी हां, आपको यह बात अजीब लग सकती है, लेकिन यह सच है। इतना ही नहीं इसके पीछे की वजह आपको हैरान करने वाली है।

इस गांव का नाम पडुवा हरिया है और यहां कोई अपनी लड़की नहीं देना चाहता। इसके पीछे का कारण है जंगली हाथी। इस वजह से इस गांव में कोई भी अपनी लड़की से शादी नहीं करना चाहता है।

इस गांव में कुछ सालों से हाथियों का ऐसा उपद्रव चल रहा है कि कई युवकों की शादी टूट चुकी है। बेटों की शादी टूटने से परेशान पडुवा के ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से हाथियों से निजात दिलाने में मदद की गुहार लगाई है।

चकला निवासी सोमरा उरांव नाम के एक ग्रामीण ने बताया कि उसके बेटे की शादी तय हो गई थी। लेकिन, हाथियों ने इलाके में इतना दहशत पैदा कर दी कि आने वाली समधि ने बेटी की शादी से इनकार कर दिया।उन्होंने कहा कि उनकी बेटी यहां कैसे सुरक्षित रहेगी।

गांव के लोगों के मुताबिक पहाड़ों और जंगलों से घिरे गांवों में लगभग साल भर से हाथियों के हमले का सामना करना पड़ रहा है। हाथी न सिर्फ फसलों को रौंदते हैं बल्कि घरों में घुसकर उन्हें परेशान भी करते हैं। घर में रखे अनाज और तोड़फोड़ की। यहां लोग जंगली हाथी से काफी परेशान हैं।

शादी न होने से निराश राजेंद्र मुंडा नाम के युवक ने बताया कि उसकी शादी तय हो गई थी। दिन की तैयारी चल रही थी। तभी हाथियों ने फिर से गांव में हंगामा करना शुरू कर दिया जब लड़कियों को इस बात का पता चला तो उन्होंने तुरंत शादी के लिए मना कर दिया और लड़के की शादी टूट गई। ग्रामीणों ने बताया कि गजराज आधी रात के बाद आकर घरों में घुसकर फिर जंगल में चला जाता था।

हाथियों के भय से ग्रामीण खाद्य सामग्री व अन्य कीमती सामान ट्रेक्टर के द्वारा सुरक्षित स्थानों पर भेज रहे हैं। कई ग्रामीण तो गांव से पलायन का भी मन बना रहे हैं।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *