Breaking :
||मोदी 3.0: मोदी सरकार में मंत्रियों के बीच हुआ विभागों का बंटवारा, देखें किसे मिला कौन सा मंत्रालय||गढ़वा: प्रेमी ने गला रेतकर की प्रेमिका की हत्या, शादी का बना रही थी दबाव, बिन बयाही बनी थी मां||मैक्लुस्कीगंज में फायरिंग व आगजनी मामले में पांच गिरफ्तार, ऑनलाइन जुआ खेलाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, सात गिरफ्तार||पलामू में शैक्षणिक संस्थानों के 100 मीटर के दायरे में 60 दिनों के लिए निषेधाज्ञा लागू, जानिये वजह||पलामू में युवक की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच तेज||पलामू: संदिग्ध हालत में स्कूल में फंदे से लटका मिला प्रधानाध्यापक का शव, हत्या की आशंका||लातेहार: तालाब में डूबे बच्चे का 24 घंटे बाद भी नहीं मिला शव, तलाश के लिए पहुंची NDRF की टीम||मुख्यमंत्री चंपाई सोरेन ने आलमगीर आलम से लिए सभी विभाग वापस||पलामू: कोयला से भरा ट्रक और बीड़ी पत्ता लदा ऑटो जब्त, पांच गिरफ्तार, दो लातेहार के निवासी||लातेहार: नहाने के दौरान तालाब में डूबने से दस वर्षीय बच्चे की मौत, शव की तलाश में जुटे ग्रामीण
Thursday, June 13, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: विचाराधीन बंदी की संदिग्ध मौत मामले में पांच जेल कर्मियों पर केस दर्ज

एसपी ने कहा- दोषी पाये जाने वालों पर होगी सख्त कानूनी कार्रवाई

लातेहार : जिला मुख्यालय के जेल में बंद विचाराधीन बंदी सेंधु मुंडा की मौत के मामले में सदर थाने में पांच जेल कर्मियों के खिलाफ केस दर्ज की गयी है।

Kidzee Latehar
Kidzee Latehar

पुलिस ने जेल अधीक्षक द्वारा दिये गये अर्जी के आधार पर कक्षपाल शंकर मुंडा, चंद्रशेखर सिंह, दीप नारायण विश्वकर्मा, प्रदीप प्रजापति और मनोहर बारला के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

एसपी अंजनी अंजन ने बताया कि पुलिस पूरे मामले की जांच में जुट गयी है। मामले में दोषी पाये जाने वालों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जायेगी।

गौरतलब है कि सेंधु मुंडा बुजुर्ग दंपति हत्याकांड के आरोप में लातेहार जेल में बंद था। शनिवार की सुबह उसकी तबियत अचानक बिगड़ी तो उसे सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी। डॉक्टरों ने कहा कि बंदी की मौत स्ट्रोक के कारण हुई है। लेकिन जब मृतक के परिजन अस्पताल पहुंचे और शव देखा तो उसके शरीर पर कई गहरे जख्म के निशान देखे गये। इसके बाद परिजनों ने आरोप लगाया था कि सेंधु मुंडा की लाठियों से पीट-पीट कर हत्या कर दी गयी। इस आरोप के बाद तीन डॉक्टरों का मेडिकल बोर्ड गठित कर कार्यपालक दंडाधिकारी की मौजूदगी में शव का पोस्टमार्टम कराया गया। इसके बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया।

इधर रविवार को परिजन इस बात पर अड़े थे कि जब तक दोषियों के खिलाफ प्राथमिकी की प्रति उन्हें उपलब्ध नहीं करायी जाती तब तक वे शव का अंतिम संस्कार नहीं करेंगे। मृतक के परिजनों व ग्रामीणों ने भी पूरे मामले में प्रशासनिक उदासीनता का आरोप लगाया। हालांकि पुलिस अधिकारियों की समझाइश के बाद ग्रामीणों का गुस्सा शांत हुआ।

लातेहार कैदी संदिग्ध मौत