Breaking :
||पलामू में जन वितरण प्रणाली दुकानदार की गोली मारकर हत्या, पुलिस कर रही जांच||लातेहार: युवक हत्याकांड का खुलासा, भाभी ने ही करा दी देवर की हत्या, दो आरोपी गिरफ्तार||थर्ड रेल लाइन निर्माण कार्य में लगी कंपनी के साइट पर नक्सलियों का उत्पात, फायरिंग कर जेसीबी में लगायी आग||दुर्गा पूजा पर आयोजित कार्यक्रम देख लौट रही नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म||हजारीबाग: तीर्थयात्रियों से भरे बस और ट्रक की सीधी टक्कर में 4 की मौत, 30 घायल||लातेहार: ढाबा चलाने की आड़ में अफीम व डोडा पाउडर बेचने के आरोप में ढाबा संचालक गिरफ्तार||रांची: गैस रिफिलिंग की दुकान में रखे सिलेंडर में हुए विस्फोट से चार दुकानें जलकर राख||चतरा में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़, भारी मात्रा में सामान और हथियार बरामद||लातेहार: दशहरा व दुर्गा पूजा को लेकर मिठाई व फास्ट फूड दुकानों की हुई जांच, पांच दुकानों पर कार्रवाई, लगा जुर्माना||पलामू सिविल सर्जन 50 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार, बिल भुगतान के एवज में मांगी थी रिश्वत

चतरा डीसी अबु इमरान ने किया एक और सांसद का अपमान, लोकसभा स्पीकर के पास दूसरी बार पहुंची शिकायत

'

रांची : बिहार के गया लोकसभा क्षेत्र के सांसद विजय कुमार ने चतरा के उपायुक्त अबु इमरान के खिलाफ लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से शिकायत की है। उन्होंने लोकसभा अध्यक्ष से प्रोटोकॉल और विशेषाधिकार हनन के मामले में उपायुक्त के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है।

इससे पहले पलामू सांसद वीडी राम ने उपायुक्त के खिलाफ लोकसभा अध्यक्ष से भी शिकायत की थी। इस तरह दूसरी बार उपायुक्त के खिलाफ लोकसभा अध्यक्ष के पास शिकायत पहुंची है।

शिकायत में सांसद ने उल्लेख किया है कि वह 11 जुलाई को चतरा कलेक्ट्रेट में पुलिस अधीक्षक से मिलने गए थे। उनकी कार चालक ने कार्यालय के बाहर खड़ी की थी। उसी समय चतरा के उपायुक्त अबु इमरान वहां आए और कार पार्क करने पर उन्हें डांटने लगे।

जब मेरे ड्राइवर ने चतरा के उपायुक्त को बताया कि यह सांसद विजय कुमार का वाहन है, उसके बाद भी उपायुक्त ने बहुत बुरा भला कहा और कार जब्त करने की धमकी दी। उन्होंने चालक व वाहन के कागजात भी खंगाले।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

सांसद विजय कुमार के अनुसार उपायुक्त अबु इमरान का व्यवहार और भाषा संसदीय मर्यादा के अनुरूप नहीं थी, यह जानते हुए भी कि यह दलित समुदाय से आने वाले सांसद की गाड़ी है। मुझे सबके सामने दलित होने के कारण अपमानित किया गया। इससे सार्वजनिक जीवन में मेरी छवि खराब हुई है।

उपायुक्त ने एक तरीके से बातचीत करना भी जरूरी नहीं समझा। उन्होंने लोकसभा अध्यक्ष से मांग की है कि चतरा के उपायुक्त के खिलाफ विशेषाधिकार हनन समिति के माध्यम से जांच कराई जाए। उन्होंने शिकायत पत्र की एक प्रति लोकसभा की विशेषाधिकार समिति के अध्यक्ष सुनील कुमार सिंह को भी दी है।

आपको बता दें कि उपायुक्त अबु इमरान के खिलाफ यह पहला मामला नहीं है। इससे पहले पलामू सांसद वीडी राम ने लोकसभा अध्यक्ष से भी शिकायत की है। उस मामले की सुनवाई विशेषाधिकार समिति के अध्यक्ष सांसद सुनील कुमार सिंह कर रहे हैं।

सांसद वीडी राम ने आरोप लगाया था कि रांची जाते समय वह कुछ समय के लिए सर्किट हाउस में रुके थे। इस दौरान उपायुक्त अबु इमरान ने पाया कि प्रवेश द्वार पर कुछ वाहनों के खड़े होने से जाम की स्थिति बनी हुई है। इसके बाद उन्होंने सांसद के साथ जा रहे जिला परिषद सदस्य प्रमोद सिंह के वाहन का लाइसेंस जब्त कर लिया। इतना ही नहीं उसने कार की चाबी अपने पास रख ली।

सांसद ने उपायुक्त को समझाने की कोशिश की, लेकिन वह नहीं माने। बाद में अबु इमरान ने ड्राइवर से सादे कागज पर लिखने को कहा कि गाड़ी गलत पार्किंग में खड़ी थी। इस माफी के बाद लाइसेंस और चाबी वापस कर दी गई। सांसद वीडी राम ने यह भी आरोप लगाया था कि सर्किट हाउस में उनकी मौजूदगी के बावजूद उपायुक्त अबु इमरान ने मुलाकात तक नहीं की।