Breaking :
||झारखंड में भीषण गर्मी से मिलेगी राहत, 20 जून तक मानसून करेगा प्रवेश||पलामू: बालिका गृह में दुष्कर्म पीड़िता की बहन की मौत, मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में हुआ पोस्टमार्टम||सतबरवा प्रखंड के रैयतों ने सांसद से की मुलाकात, उचित मुआवजा दिलाने की मांग||पलामू में तीन अलग-अलग सड़क हादसों में तीन की मौत, नेतरहाट घूमने जा रहा एक पर्यटक भी शामिल||केंद्रीय मंत्री शिवराज व असम के मुख्यमंत्री हिमंता झारखंड विधान सभा चुनाव में भाजपा का करेंगे बेड़ापार||झारखंड में पांच नक्सली ढेर, एक महिला नक्सली समेत दो गिरफ्तार, हथियार बरामद||अब स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग स्कूली बच्चों को नशीले पदार्थो के सेवन से होने वाले दुष्प्रभावों के बारे में करेगा जागरूक||लातेहार: बालूमाथ में अनियंत्रित बाइक दुर्घटनाग्रस्त, दो युवक घायल, सांसद ने पहुंचाया अस्पताल, दोनों रिम्स रेफर||15 ऐसे महत्वपूर्ण कानून और कानूनी अधिकार जो हर भारतीय को जरूर जानने चाहिए||लातेहार में तेज रफ्तार बोलेरो ने घर में सो रहे पांच लोगों को रौंदा, एक की मौत, चार रिम्स रेफर
Tuesday, June 18, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

मुख्यमंत्री विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा को नहीं मिली जमानत

रांची: विशेष ईडी न्यायाधीश प्रभात कुमार शर्मा की अदालत ने साहिबगंज जिले में अवैध खनन और टेंडर प्रबंधन के आरोपी मुख्यमंत्री विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा की जमानत याचिका शनिवार को खारिज कर दी।

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

इससे पहले इस मामले की सुनवाई पिछले मंगलवार को हुई थी। सुनवाई के दौरान पंकज मिश्रा के वकील प्रदीप चंद्रा ने पंकज के इलाज से जुड़े दस्तावेज कोर्ट के सामने पेश किए और खराब स्वास्थ्य के आधार पर जमानत की गुहार लगायी।

ईडी की ओर से दलील देते हुए विशेष लोक अभियोजक आतिश कुमार ने पंकज मिश्रा के वकील की दलीलों का कड़ा विरोध किया और अदालत से जमानत न देने का आग्रह किया। इसके बाद कोर्ट ने सुनवाई पूरी कर आदेश सुरक्षित रख लिया था।

गौरतलब है कि पंकज मिश्रा पर अवैध खनन और टेंडर प्रबंधन से जुड़े एक हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप है। इस मामले में पंकज मिश्रा को ईडी की टीम ने 19 जुलाई को गिरफ्तार किया था। फिलहाल उनका रिम्स में न्यायिक हिरासत में इलाज चल रहा है।