Breaking :
||चतरा डीसी अबु इमरान ने किया एक और सांसद का अपमान, लोकसभा स्पीकर के पास दूसरी बार पहुंची शिकायत||अब झारखंड के प्राथमिक विद्यालयों में कक्षाएं संचालित करने में स्थानीय युवाओं की मदद लेगी सरकार||रांची बिरसा मुंडा एयरपोर्ट उड़ाने की धमकी देने वाला आरोपी बिहार से गिरफ्तार||बिहार में सियासी हलचल, नीतीश के पालाबदल की चर्चा, दिल्ली बुलाए गए भाजपा नेता||सुखाड़ को लेकर सरकार गंभीर, स्थिति का जायजा लेने सभी जिलों में भेजे गए अधिकारी||रांची में अपराधियों ने गैस दुकानदार मारी गोली, रिम्स में चल रहा इलाज||माओवादियों के नाम पर लेवी वसूलने आये तीन बदमाश पकड़ाये||झारखंड कैबिनेट में फेरबदल, कांग्रेस के लिए नयी मुसीबत, फूट पड़ने की आशंका बढ़ी||अब लातेहार के इस गांव के ग्रामीणों ने सीमा पर लगाया बोर्ड, बाहरी व्यक्ति के प्रवेश पर रोक||सांगठनिक बदलाव की तैयारी में झारखंड कांग्रेस, अधिकांश जिले में नए चेहरों को मौका

आदिवासियों की पहचान की रक्षा को लेकर पारंपरिक पड़हा स्वशासन व्यवस्था की बैठक में विभिन्न मुद्दों पर चर्चा

'

बारियातू /संजय राम

लातेहार : बारियातू प्रखंड अंतर्गत टोंटी पंचायत के जतरा टांड इटके मध्य विद्यालय के समीप शनिवार को पारंपरिक पड़हा स्वशासन व्यवस्था, पड़हा चट्टा का एक दिवसीय कार्यक्रम आयोजित की गई। कार्यक्रम की अध्यक्षता मोहन उरांव ने की।

कार्यक्रम में बारियातू, बालूमाथ व हेरहंज तीनों प्रखंड के सक्रिय सदस्यों का प्रखंडवार आदिवासियों की आर्थिक एवं आदिवासी पहचान की रक्षा को लेकर चर्चा की गई।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पड़हा प्रदेश संयोजक देव कुमार धान ने पारंपरिक पड़हा स्वाशसन व्यवस्था, जमीन, धर्म, भाषा, संस्कृति, आदिवासी पड़हा स्वशासन व्यवस्था, बेटी बहन की रक्षा, शिक्षा, और आर्थिक विकास, संवैधानिक अधिकार, कानून व्यवस्था के बारे में विशेष रूप से उपस्थित लोगों को जानकारी दी।

वही जिला पड़हा के प्रभु दयाल उरांव, दिलीप उरांव, प्रखंड पड़हा लालजी उरांव, धर्म अगुआ तेतर उरांव, दिगंबर टाना भगत, विकास प्राधिकार जिला लातेहार प्रतिनिधि सदस्य मुनेश्वर उरांव ने भी अपने अपने विचार व्यक्त किये।

कार्यक्रम में मुख्य रूप से रंजन उरांव, अर्जुन उरांव, विष्णुदेव उरांव, उर्मिला देवी, धनो देवी, नरेश उरांव रामेश्वर उरांव संतोष उरांव सहित दर्जनों की संख्या में आदिवासी महिला पुरुषों ने भाग लिया।


Leave a Reply

Your email address will not be published.