Breaking :
||झारखंड निकाय चुनाव में ओबीसी को आरक्षण नहीं देने के मामले में सरकार को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस||रांची: ट्रैक्टर व बाराती गाड़ी की भीषण टक्कर में दो की मौत, दो गंभीर रूप से घायल||झारखंड: हाईकोर्ट में पारा शिक्षकों के समायोजन मामले में हुई सुनवाई||हजारीबाग में गैंगेस्टर अमन साहू गिरोह के दो शूटर हथियार के साथ गिरफ्तार, एक पलामू का||पलामू: कुख्यात गैंगेस्टर अमन साहू के गुर्गों ने JMM नेता को दी जान से मारने की धमकी, दो गिरफ्तार, एक लातेहार का||लातेहार: JJMP उग्रवादी की पत्नी से प्रेम संबंध के आरोप में मारे गये ओमप्रकाश यादव के हत्या का आरोपी गिरफ्तार||रांची में स्कूल के गार्ड ने की 11 साल की बच्ची के साथ छेड़छाड़, गिरफ्तार||लातेहार: बालूमाथ में अवैध कोयला लदा हाइवा जब्त, दो गिरफ्तार, जांच जारी||झारखंड के शराब दुकानदारों को मुख्यमंत्री की चेतावनी, कार्यशैली में लायें सुधार, नहीं तो होगी कार्रवाई||लातेहार: चंदवा में नाबालिग का यौन शोषण करने का आरोपी गिरफ्तार, जेल

लातेहार: माइंस खोलने को लेकर भूमि पूजन करने मंगरा गांव पहुंची डीवीसी कंपनी का विरोध, दो पक्षों में जमकर मारपीट, आधा दर्जन लोग घायल

लातेहार : दामोदर घाटी निगम (डीवीसी) सोमवार सुबह सदर प्रखंड के मंगरा गांव में कंपनी की माइंस खोलने के लिए भूमि पूजन करने पहुंचे थे। इस दौरान दो पक्षों में जमकर मारपीट हो गई। जिसमें करीब आधा दर्जन लोग घायल हो गये।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

घायलों में प्रीतम सिंह (25) पिता स्व. जशवंत सिंह, अमृता देवी (50) पति सुरेंद्र भगत (दुबियाही), गेंदा उरांव (40) पिता बुधन उरांव, उर्मिला देवी (35) पति कृष्णा उरांव, गुड़िया देवी (35) पति लक्ष्मण उरांव (तीनों, नेवाड़ी), विष्णु उरांव (40) पिता बिगू उरांव (तुबेद) घायल हो गए हैं। सभी घायलों को इलाज के लिए सदर अस्पताल लाया गया। जहां डॉक्टर सुनील कुमार ने इलाज किया।

घायल प्रीतम सिंह (25) पिता स्व. जशवंत सिंह

बताया जाता है कि एक पक्ष कंपनी द्वारा माइंस खोले जाने के समर्थन कर रहे थे, तो दूसरा पक्ष विरोध कर रहा था। इसी बात को लेकर तू-तू मैं-मैं करते हुए मारपीट में पहुंच गई। हालांकि स्थानीय पुलिस की मौजूदगी के कारण दोनों पक्षों को समझा कर मामले को शांत कराया गया। इसके बाद कंपनी द्वारा भूमि पूजन किया गया।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

मालूम हो कि कंपनी खोलने को लेकर स्थानीय रैयतों द्वारा तक लगातार कई वर्षों से विरोध प्रदर्शन करते आ रहे है। तीन दिन पहले भी स्थानीय रैयतों ने डीवीसी कंपनी द्वारा कोल माइंस खोले जाने के विरोध में डीसी कार्यालय का घेराव किया था। इस दौरान उपायुक्त भोर सिंह यादव, डीवीसी कंपनी के प्रतिनिधि व स्थानीय रैयतों के बीच बातचीत की गई थी। जिस पर उपायुक्त ने स्थानीय रैयतों से आपसी समन्वय बनाकर कंपनी खोले जाने की बात कही थी, लेकिन कंपनी अपनी मनमानी करते हुए सोमवार को शिलान्यास करने पहुंची थी।

इधर, पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी अमित कुमार गुप्ता ने बताया कि भूमि पूजन के दौरान दो पक्षों में मारपीट होते ही पुलिस बल के द्वारा दोनों पक्षों को आपसी समझौते कर मामला को शांत कराया गया। उन्होंने बताया कि गांव में दोनों पक्षों के लोगों को एक साथ बैठाकर समझा-बुझाकर मामले को सुलह करा लिया गया है।