Breaking :
||चतरा डीसी अबु इमरान ने किया एक और सांसद का अपमान, लोकसभा स्पीकर के पास दूसरी बार पहुंची शिकायत||अब झारखंड के प्राथमिक विद्यालयों में कक्षाएं संचालित करने में स्थानीय युवाओं की मदद लेगी सरकार||रांची बिरसा मुंडा एयरपोर्ट उड़ाने की धमकी देने वाला आरोपी बिहार से गिरफ्तार||बिहार में सियासी हलचल, नीतीश के पालाबदल की चर्चा, दिल्ली बुलाए गए भाजपा नेता||सुखाड़ को लेकर सरकार गंभीर, स्थिति का जायजा लेने सभी जिलों में भेजे गए अधिकारी||रांची में अपराधियों ने गैस दुकानदार मारी गोली, रिम्स में चल रहा इलाज||माओवादियों के नाम पर लेवी वसूलने आये तीन बदमाश पकड़ाये||झारखंड कैबिनेट में फेरबदल, कांग्रेस के लिए नयी मुसीबत, फूट पड़ने की आशंका बढ़ी||अब लातेहार के इस गांव के ग्रामीणों ने सीमा पर लगाया बोर्ड, बाहरी व्यक्ति के प्रवेश पर रोक||सांगठनिक बदलाव की तैयारी में झारखंड कांग्रेस, अधिकांश जिले में नए चेहरों को मौका

सदन की कार्यवाही बाधित करने के आरोप में भाजपा के चार विधायक निलंबित

'

रांची : झारखंड विधानसभा के मानसून सत्र के तीसरे दिन आज स्पीकर रवींद्र नाथ महतो ने चार विधायकों को सदन की कार्यवाही से 4 अगस्त तक के लिए निलंबित कर दिया है। इनमें जयप्रकाश भाई पटेल, रणधीर सिंह, भानु प्रताप शाही और ढुल्लू महतो शामिल हैं। इन पर सदन की कार्यवाही में बाधा डालने का आरोप है।

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

दरअसल, सदन की कार्यवाही शुरू होते ही भाजपा विधायक सरकार विरोधी नारे लगाने लगे। सदन के प्रश्नकाल की शुरुआत सरयू राय के हरमू नदी से संबंधित प्रश्न से हुई। उसके बाद भाजपा के अनंत ओझा ने शुक्रवार को सरकारी स्कूलों को बंद करने पर सवाल उठाया। इसका जवाब देते हुए मंत्री आलमगीर आलम ने कहा कि यह मामला सरकार के संज्ञान में आते ही कार्रवाई की गई है।

इस दौरान भाजपा सदस्य मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के इस्तीफे की मांग को लेकर नारेबाजी करते रहे। लगातार नारेबाजी करते हुए विपक्षी भाजपा के सदस्य वेल में चले गए।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

स्पीकर ने उन्हें शांत करने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि कल पूरे देश ने उन लोगों के आचरण को देखा, भाई आज भी विपक्षी सदस्य उसी तरह हंगामा कर रहे हैं। उन्हें विरोध करने के लिए शब्दों का प्रयोग करना चाहिए लेकिन उनकी वजह से अन्य पार्टी के लोग भी प्रभावित हो रहे हैं। स्पीकर ने कहा कि ऐसा नहीं किया जाना चाहिए जिससे दूसरे लोगों को भी बुरा लगे।

जब अध्यक्ष के बार-बार विपक्षी सदस्यों के प्रयास सफल नहीं हुए, तो उन्होंने भाजपा के चार सदस्यों को निलंबित करने का निर्देश दिया।