Breaking :
||मोदी 3.0: मोदी सरकार में मंत्रियों के बीच हुआ विभागों का बंटवारा, देखें किसे मिला कौन सा मंत्रालय||गढ़वा: प्रेमी ने गला रेतकर की प्रेमिका की हत्या, शादी का बना रही थी दबाव, बिन बयाही बनी थी मां||मैक्लुस्कीगंज में फायरिंग व आगजनी मामले में पांच गिरफ्तार, ऑनलाइन जुआ खेलाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, सात गिरफ्तार||पलामू में शैक्षणिक संस्थानों के 100 मीटर के दायरे में 60 दिनों के लिए निषेधाज्ञा लागू, जानिये वजह||पलामू में युवक की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच तेज||पलामू: संदिग्ध हालत में स्कूल में फंदे से लटका मिला प्रधानाध्यापक का शव, हत्या की आशंका||लातेहार: तालाब में डूबे बच्चे का 24 घंटे बाद भी नहीं मिला शव, तलाश के लिए पहुंची NDRF की टीम||मुख्यमंत्री चंपाई सोरेन ने आलमगीर आलम से लिए सभी विभाग वापस||पलामू: कोयला से भरा ट्रक और बीड़ी पत्ता लदा ऑटो जब्त, पांच गिरफ्तार, दो लातेहार के निवासी||लातेहार: नहाने के दौरान तालाब में डूबने से दस वर्षीय बच्चे की मौत, शव की तलाश में जुटे ग्रामीण
Thursday, June 13, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरचंदवापलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: हाथियों के झुंड ने झोपड़ी में सो रहे मासूम बच्चे समेत मां-बाप को कुचल कर मार डाला

लातेहार : जिले में जंगली हाथियों का आतंक थमने का नाम नहीं ले रहा है। इसी क्रम में गुरुवार की रात चंदवा थाना क्षेत्र के माल्हन गांव में हाथियों के झुंड ने ईंट भट्ठे पर सो रहे मजदूरों के झोपड़ीनुमा घर पर हमला बोल दिया। इस दौरान हाथियों ने ईंट भट्ठे में काम करने वाले एक ही परिवार के तीन लोगों को कुचल कर मार डाला। मृतकों में एक तीन वर्षीय मासूम बच्चा भी शामिल है।

Kidzee Latehar
Kidzee Latehar

मरने वालों में फनू भुइयां (35), पत्नी बबिता देवी (30) और उनकी तीन साल की बेटी शामिल हैं। बताया जाता है कि मृतक गढ़वा जिले के भंडरिया के रहने वाले हैं। घटना के बाद लोगों में वन विभाग के खिलाफ काफी आक्रोश देखा जा रहा है। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

बताया जाता है कि मजदूर फनू भुइयां अपनी पत्नी और एक छोटी बच्ची के साथ ईंट भट्ठे की एक छोटी सी झोपड़ी में सो रहा था। इसी बीच देर रात अचानक हाथियों के झुंड ने उन पर हमला बोल दिया। झोपड़ी में सो रहे फनू भुइयां, उनकी पत्नी बबिता देवी और तीन साल की बेटी को हाथियों ने कुचल कर मार डाला। इस दौरान वहां काम कर रहे अन्य मजदूर किसी तरह जान बचाकर वहां से भाग निकले।

वहां काम कर रहे अन्य मजदूरों ने बताया कि रात में अचानक हाथियों ने झोपड़ी में सो रहे मजदूरों पर हमला कर मार डाला। इस दौरान झुंड में 12 से ज्यादा हाथी शामिल थे। घटना के वक्त अन्य मजदूर किसी तरह जान बचाकर वहां से भागे। बाद में सभी हाथी जंगल की ओर चले गये।

इधर, घटना के बाद वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची और पूरे मामले की जानकारी ली। वन अधिकारियों ने बताया कि मृतक के परिजनों को सरकारी प्रावधान के अनुसार मुआवजा दिया जायेगा। वही हाथियों को भगाने के लिए बाहर से टीम बुलायी जा रही है।