Breaking :
||पलामू में जन वितरण प्रणाली दुकानदार की गोली मारकर हत्या, पुलिस कर रही जांच||लातेहार: युवक हत्याकांड का खुलासा, भाभी ने ही करा दी देवर की हत्या, दो आरोपी गिरफ्तार||थर्ड रेल लाइन निर्माण कार्य में लगी कंपनी के साइट पर नक्सलियों का उत्पात, फायरिंग कर जेसीबी में लगायी आग||दुर्गा पूजा पर आयोजित कार्यक्रम देख लौट रही नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म||हजारीबाग: तीर्थयात्रियों से भरे बस और ट्रक की सीधी टक्कर में 4 की मौत, 30 घायल||लातेहार: ढाबा चलाने की आड़ में अफीम व डोडा पाउडर बेचने के आरोप में ढाबा संचालक गिरफ्तार||रांची: गैस रिफिलिंग की दुकान में रखे सिलेंडर में हुए विस्फोट से चार दुकानें जलकर राख||चतरा में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़, भारी मात्रा में सामान और हथियार बरामद||लातेहार: दशहरा व दुर्गा पूजा को लेकर मिठाई व फास्ट फूड दुकानों की हुई जांच, पांच दुकानों पर कार्रवाई, लगा जुर्माना||पलामू सिविल सर्जन 50 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार, बिल भुगतान के एवज में मांगी थी रिश्वत

झारखंड कैबिनेट में फेरबदल, कांग्रेस के लिए नयी मुसीबत, फूट पड़ने की आशंका बढ़ी

'

रांची : कांग्रेस में सब कुछ ठीक नहीं है। कैश स्कैंडल में पार्टी के तीन विधायक फिलहाल जेल में हैं। पार्टी के प्रभारी पहले ही कांग्रेस कोटे के मंत्रियों में फेरबदल के संकेत दे चुके हैं। अब जबकि झारखंड विधानसभा का मानसून सत्र भी समाप्त हो गया है, इस दिशा में भी मामला आगे बढ़ेगा। हालांकि कांग्रेस विधायक दल की बैठक में तमाम शिकायतें दूर होने की चर्चा है, लेकिन मंत्री पद बदलने के बाद भी पार्टी में फूट पड़ने की आशंका है।

पार्टी कांग्रेस कोटे से चार में से दो या तीन मंत्रियों को बदलने का मन बना रही है। ऐसे में उनकी जगह दो-तीन विधायकों को मंत्री बनने का मौका मिलेगा। वे विधायक जो मंत्री नहीं बन पाएंगे या जिन्हें मंत्री पद से हटना होगा, वे विरोध का झंडा खड़ा कर सकते हैं। राष्ट्रपति चुनाव में कांग्रेस के नौ से 10 विधायकों ने क्रॉस वोटिंग की थी। वहीं, पार्टी को कई अन्य विधायकों के भी कैश कांड में शामिल होने की आंतरिक जानकारी मिली है।

ऐसे में पार्टी की रिपोर्ट के मुताबिक जो विधायक न तो क्रॉस वोटिंग में शामिल थे और न ही कैश स्कैंडल में शामिल थे, उन्हें पार्टी के साथ खड़े होने के लिए मंत्री पद मिल सकता है। पार्टी उन्हें शॉर्टलिस्ट कर रही है। दोनों में शामिल विधायकों को मंत्री पद मिलने की संभावना नहीं है। हालांकि ऐसे विधायक क्रॉस वोटिंग और कैश स्कैंडल में शामिल होने से भी इनकार कर रहे हैं।

कैश कांड में जेल में बंद तीन विधायकों के बयान से दूसरे विधायकों का भविष्य तय होगा, वहीं अगर सरकार विधायकों को किसी न किसी रूप में मंत्री बनाएगी तो अन्य विधायकों में रोष होगा और बंटवारे की संभावना बढ़ जाएगी। ऐसे में पार्टी मंत्रिमंडल में फेरबदल की प्रक्रिया को आगे बढ़ा सकती है।