Breaking :
||लोहरदगा में हथियार के साथ एक गिरफ्तार, एक भागने में सफल, भारी मात्रा में हथियार व गोलियां बरामद||सीएम हेमंत सोरेन का ऐलान, नेतरहाट फील्ड फायरिंग रेंज होगी रद्द, ग्रामीण 30 साल से कर रहे थे आंदोलन||कोलकाता हाईकोर्ट ने कांग्रेस के तीनों विधायकों को दी सशर्त अंतरिम जमानत||लातेहार: फिर एक महिला ने इलाज के बहाने डॉक्टर पर लगाया छेड़खानी का आरोप||बिहार में नीतीश कैबिनेट का विस्तार, 31 मंत्रियों ने ली शपथ, तेज प्रताप फिर बने मंत्री||DGP नीरज सिन्हा ने कहा- पिछले तीन साल में 1,526 नक्सली गिरफ्तार, 51 मारे गये||जम्मू-कश्मीर में जवानों से भरी बस खाई में गिरी, 7 जवान शहीद, 32 घायल, राष्ट्रपति ने व्यक्त की संवेदना||JPSC के पूर्व अध्यक्ष IPS अमिताभ चौधरी का हार्ट अटैक से निधन||लातेहार: पीटीआर के गारू पूर्वी वन क्षेत्र में हाथी की मौत, पोस्टमार्टम के लिए पहुंची मेडिकल टीम||पलामू में बिजली गिरने से तीन किशोर की मौत, बारिश से बचने के लिए पेड़ के नीचे छिपे थे

झारखंड के शिक्षा मंत्री की फिर बिगड़ी तबीयत, मुख्यमंत्री पहुंचे मिलने, चेन्नई ले जाने की तैयारी

'

रांची : झारखंड के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो की सोमवार को अचानक तबीयत बिगड़ गई। जैसे ही वह विधानसभा के मानसून सत्र में भाग लेने के लिए विधानसभा पहुंचे, उन्हें बेचैनी होने लगी। इसके बाद उन्हें धुर्वा के पारस अस्पताल में भर्ती कराया गया। हालांकि, मंत्री की तबीयत स्थिर है और वह बातचीत भी कर रहे हैं। उन्हें एयर एंबुलेंस से चेन्नई ले जाने की तैयारी की जा रही है, जहां उनका फेफड़ा प्रत्यारोपण हुआ था।

बताया गया कि सोमवार को मंत्री जैसे ही विधानसभा पहुंचे, उनकी तबीयत बिगड़ने लगी। चक्कर आने और सांस लेने में तकलीफ की शिकायत के बाद असेंबली डिस्पेंसरी के डॉक्टरों ने उनका ब्लड प्रेशर चेक किया, फिर उन्हें बढ़ा दिया गया। उन्हें सांस लेने में भी कुछ परेशानी हो रही थी।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

इसके बाद आनन-फानन में उन्हें पारस अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहां एमजीएम, चेन्नई के डॉक्टरों द्वारा फोन पर प्राप्त दिशा-निर्देशों के अनुसार उनका इलाज शुरू हुआ। खबर लिखे जाने तक एमजीएम के डॉक्टरों की सलाह पर उन्हें एयर एंबुलेंस से चेन्नई भेजने की तैयारी चल रही थी। आपको बता दें कि साल 2020 में एमजीएम चेन्नई में ही फेफड़ा प्रत्यारोपण किया गया था।

शिक्षा मंत्री के पारस अस्पताल में भर्ती होने के बाद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, विधानसभा अध्यक्ष रवींद्रनाथ महतो, वित्त मंत्री डॉ. रामेश्वर उरांव के अलावा विधायक नीरा यादव आदि उनसे मिलने पहुंचे। मुख्यमंत्री ने डॉक्टरों से मंत्री के स्वास्थ्य और उनके इलाज की जानकारी ली।