Breaking :
||पलामू में जन वितरण प्रणाली दुकानदार की गोली मारकर हत्या, पुलिस कर रही जांच||लातेहार: युवक हत्याकांड का खुलासा, भाभी ने ही करा दी देवर की हत्या, दो आरोपी गिरफ्तार||थर्ड रेल लाइन निर्माण कार्य में लगी कंपनी के साइट पर नक्सलियों का उत्पात, फायरिंग कर जेसीबी में लगायी आग||दुर्गा पूजा पर आयोजित कार्यक्रम देख लौट रही नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म||हजारीबाग: तीर्थयात्रियों से भरे बस और ट्रक की सीधी टक्कर में 4 की मौत, 30 घायल||लातेहार: ढाबा चलाने की आड़ में अफीम व डोडा पाउडर बेचने के आरोप में ढाबा संचालक गिरफ्तार||रांची: गैस रिफिलिंग की दुकान में रखे सिलेंडर में हुए विस्फोट से चार दुकानें जलकर राख||चतरा में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़, भारी मात्रा में सामान और हथियार बरामद||लातेहार: दशहरा व दुर्गा पूजा को लेकर मिठाई व फास्ट फूड दुकानों की हुई जांच, पांच दुकानों पर कार्रवाई, लगा जुर्माना||पलामू सिविल सर्जन 50 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार, बिल भुगतान के एवज में मांगी थी रिश्वत

लातेहार : खेत में धान बो रहे किसान पर गिरी बिजली, पति-पत्नी की मौके पर ही मौत

'

जिला प्रशासन से तत्काल मदद की अपील

लातेहार : सदर प्रखंड के पेशरार पंचायत के होसीर गांव के गोरीखांड़ टोला में धानरोपणी कर रहे पति-पत्नी की बिजली गिरने से मौत हो गयी।

मृतक पति-पत्नी की पहचान होसीर गांव निवासी जगलाल उरांव और सविता देवी के रूप में हुई है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

बताया जाता है कि पति-पत्नी दोनों गोरीखांड़ टोला स्थित अपने खेत में धानरोपणी का काम कर रहे थे। इसी बीच गरज के साथ बारिश होने लगी। बारिश के दौरान अचानक वज्रपात हुई, जिसकी चपेट में पति-पत्नी दोनों आ गए, जिससे दोनों की मौके पर ही मौत हो गई।

घटना के बाद मौके पर ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई। ग्रामीणों ने बताया कि उनके दो छोटे बच्चे हैं। एक छह साल का है जबकि दूसरा नौ साल का है। घर में कोई सदस्य नहीं है जो इन्हें अस्पताल ले जा सके।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

ग्रामीणों ने प्रशासन से गुहार लगाते हुए कहा कि प्रशासन द्वारा वाहन की व्यवस्था की जाती तो उन्हें अस्पताल ले जाया जाता। ताकि उनका पोस्टमॉर्टम समय से हो सके। ग्रामीणों ने जिला प्रशासन से तत्काल मदद की अपील की है।

ग्रामीणों ने अनाथ बच्चों के भरण-पोषण और पीड़ित परिवार को मुआवजे देने की मांग की है। घटना के बाद गांव में मातम का माहौल है। समाचार लिखे जाने तक दोनों के शव खेत में ही पड़े थे।