Breaking :
||गैंगेस्टर अमन श्रीवास्तव गैंग का शूटर राजू शर्मा बिहार से गिरफ्तार||Jharkhand: प्रेमी ने पांच माह की गर्भवती प्रेमिका को गला दबाकर मार डाला||कोयला लदे हाइवा व ट्रक की भीषण टक्कर में दोनों चालकों की दर्दनाक मौत||रांची: असामाजिक तत्वों ने मेन रोड स्थित हनुमान मंदिर में की तोड़फोड़, प्रतिमा क्षतिग्रस्त||बालूमाथ: वज्रपात की चपेट में आने से पत्नी की मौत, पति समेत दो घायल||पातम-डाटम जलप्रपात में डूबे दोनों युवकों के शव बरामद, प्रशासनिक उदासीनता से ग्रामीणों में आक्रोश||तीन माह की गर्भवती महिला से छह अपराधियों ने पति के सामने किया सामूहिक दुष्कर्म, सभी आरोपी गिरफ्तार||लातेहार: माइंस खोलने को लेकर भूमि पूजन करने मंगरा गांव पहुंची डीवीसी कंपनी का विरोध, दो पक्षों में जमकर मारपीट, आधा दर्जन लोग घायल||लातेहार: नाबालिग से दुष्कर्म कर बनाया वीडियो, वायरल करने की धमकी दे करता रहा दुष्कर्म, ग्रामीणों ने पिटायी कर पुलिस को सौंपा||BREAKING: बालूमाथ में मधुमक्खियों ने फिर किया हमला, एक आदिवासी महिला की मौत, छह घायल

पलामू: छह साल छोटे प्रेमी के साथ पकड़ी गई विवाहिता, पति ने प्रेमी के साथ किया विदा

'

पलामू : जिले के तरहसी थाना क्षेत्र के गोइंदी गांव में एक बच्ची की मां को अपने से छह साल छोटे प्रेमी के साथ पकड़ा गया। महिला पिछले कई दिनों से अपने प्रेमी के साथ रह रही थी। ग्रामीणों ने शक के आधार पर प्रेमी को पकड़ लिया। इसके बाद पूरा मामला सामने आया।

महिला का पति, सास-ससुर सभी घर से बाहर काम करते हैं। ग्रामीणों ने महिला को काफी समझाया, लेकिन वह प्रेमी को छोड़कर पति के साथ रहने को राजी नहीं हुई। पति को फोन पर सूचना मिली तो वह पत्नी को छोड़ने के लिए तैयार हो गया। महिला प्रेमी साथ गई और अपनी बेटी को भी ले गई।

गोइंदी के टंकू सिंह की पत्नी रेशमी देवी (25) का कुसडीह-बनई निवासी अरुण मोची (19) से पिछले दो साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था। दोनों घर में किसी के न होने का फायदा उठा रहे थे। अरुण अक्सर गोइंदी आता था। रेशमी के साथ रहता था। इसकी जानकारी ग्रामीणों को हुई। उसने दोनों को पकड़ लिया।

महिला रेशमी देवी का अपने पति से अक्सर विवाद रहता था। इस मामले में कई बार पंचायत भी हुई लेकिन विवाद खत्म नहीं हुआ। प्रेमी के पकड़े जाने के बाद पूरा मामला सामने आया। महिला की शादी साल 2017 में हुई थी। उसके मायका मेदिनीनगर के चियांकी में हैं।

महिला व उसके प्रेमी को पकड़ने के बाद ग्रामीणों ने बैठक की। मैंने महिला को समझाने की पूरी कोशिश की। महिला अपने प्रेमी के साथ रहने को तैयार थी। कई घंटों तक चली बैठक के बाद ग्राम सभा में पति से फोन पर पत्नी को छोड़ने की सहमति ली गई। इसके बाद दोनों को गांव से विदा कर दिया गया।


Leave a Reply

Your email address will not be published.