Breaking :
||नहीं रहे ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर दास, इलाज के दौरान तोड़ा दम||दुमका में मूर्ति विसर्जन के दौरान जय श्री राम के नारे बजाने को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प||मुख्यमंत्री ने लातेहार के कार्यपालक अभियंता पर अभियोजन चलाने की दी स्वीकृति||1932 के खतियान आधारित स्थानीयता वाले विधेयक को राज्यपाल ने लौटाया, कहा- सरकार वैधानिकता की करे समीक्षा||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने किया पतरातू गांव का दौरा, घटना की CID जांच की मांग||लातेहार: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो समुदायों में भिड़ंत, गांव पहुंचे विधायक और एसपी, माहौल तनावपूर्ण||ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री पर जानलेवा हमला, कार से उतरते ही ASI ने मारी गोली||मनिका: करोड़ों की लागत से हो रहे सड़क निर्माण में धांधली, बालू की जगह डस्ट से हो रही ढलाई||पड़ताल: गांव के दबंग ने ज़बरन रुकवाया PM आवास का निर्माण, 4 सालों से सरकारी बाबुओं के कार्यालय का चक्कर लगा रहा पीड़ित परिवार||लातेहार: बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट के सुरक्षा गार्ड की संदेहास्पद मौत, जांच जारी

पलामू: छह साल छोटे प्रेमी के साथ पकड़ी गई विवाहिता, पति ने प्रेमी के साथ किया विदा

पलामू : जिले के तरहसी थाना क्षेत्र के गोइंदी गांव में एक बच्ची की मां को अपने से छह साल छोटे प्रेमी के साथ पकड़ा गया। महिला पिछले कई दिनों से अपने प्रेमी के साथ रह रही थी। ग्रामीणों ने शक के आधार पर प्रेमी को पकड़ लिया। इसके बाद पूरा मामला सामने आया।

महिला का पति, सास-ससुर सभी घर से बाहर काम करते हैं। ग्रामीणों ने महिला को काफी समझाया, लेकिन वह प्रेमी को छोड़कर पति के साथ रहने को राजी नहीं हुई। पति को फोन पर सूचना मिली तो वह पत्नी को छोड़ने के लिए तैयार हो गया। महिला प्रेमी साथ गई और अपनी बेटी को भी ले गई।

गोइंदी के टंकू सिंह की पत्नी रेशमी देवी (25) का कुसडीह-बनई निवासी अरुण मोची (19) से पिछले दो साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था। दोनों घर में किसी के न होने का फायदा उठा रहे थे। अरुण अक्सर गोइंदी आता था। रेशमी के साथ रहता था। इसकी जानकारी ग्रामीणों को हुई। उसने दोनों को पकड़ लिया।

महिला रेशमी देवी का अपने पति से अक्सर विवाद रहता था। इस मामले में कई बार पंचायत भी हुई लेकिन विवाद खत्म नहीं हुआ। प्रेमी के पकड़े जाने के बाद पूरा मामला सामने आया। महिला की शादी साल 2017 में हुई थी। उसके मायका मेदिनीनगर के चियांकी में हैं।

महिला व उसके प्रेमी को पकड़ने के बाद ग्रामीणों ने बैठक की। मैंने महिला को समझाने की पूरी कोशिश की। महिला अपने प्रेमी के साथ रहने को तैयार थी। कई घंटों तक चली बैठक के बाद ग्राम सभा में पति से फोन पर पत्नी को छोड़ने की सहमति ली गई। इसके बाद दोनों को गांव से विदा कर दिया गया।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *