Breaking :
||गैंगेस्टर अमन श्रीवास्तव गैंग का शूटर राजू शर्मा बिहार से गिरफ्तार||Jharkhand: प्रेमी ने पांच माह की गर्भवती प्रेमिका को गला दबाकर मार डाला||कोयला लदे हाइवा व ट्रक की भीषण टक्कर में दोनों चालकों की दर्दनाक मौत||रांची: असामाजिक तत्वों ने मेन रोड स्थित हनुमान मंदिर में की तोड़फोड़, प्रतिमा क्षतिग्रस्त||बालूमाथ: वज्रपात की चपेट में आने से पत्नी की मौत, पति समेत दो घायल||पातम-डाटम जलप्रपात में डूबे दोनों युवकों के शव बरामद, प्रशासनिक उदासीनता से ग्रामीणों में आक्रोश||तीन माह की गर्भवती महिला से छह अपराधियों ने पति के सामने किया सामूहिक दुष्कर्म, सभी आरोपी गिरफ्तार||लातेहार: माइंस खोलने को लेकर भूमि पूजन करने मंगरा गांव पहुंची डीवीसी कंपनी का विरोध, दो पक्षों में जमकर मारपीट, आधा दर्जन लोग घायल||लातेहार: नाबालिग से दुष्कर्म कर बनाया वीडियो, वायरल करने की धमकी दे करता रहा दुष्कर्म, ग्रामीणों ने पिटायी कर पुलिस को सौंपा||BREAKING: बालूमाथ में मधुमक्खियों ने फिर किया हमला, एक आदिवासी महिला की मौत, छह घायल

लातेहार जिले के पत्रकारों की बैठक, लगातार हो रहे हमले की निंदा, कार्रवाई नहीं होने पर चरणबद्ध आंदोलन की चेतावनी

'

reporters meeting at latehar

लातेहार : जिला खेल स्टेडियम परिसर में गुरुवार को वरिष्ठ पत्रकार मनीष उपाध्याय की अध्यक्षता में जिले के पत्रकारों की बैठक हुई। बैठक में सबसे पहले पंचायत सेवक नागेश्वर रजक के पुत्र नागमणि कुमार द्वारा स्थानीय पत्रकार पंकज प्रसाद एवं बालूमाथ के पत्रकार सुरेंद्र गुप्ता पर किए गए जानलेवा हमले की घटना एवं चतरा सांसद सुनील कुमार सिंह द्वारा आरोपी को रिहा करने के लिए की गई पैरवी की निंदा की गई।

वहीं सदर थाना पुलिस द्वारा पत्रकार पंकज प्रसाद पर हमला करने वाले आरोपी को गिरफ्तार कर छोड़ दिए जाने की घटना की भर्त्सना की गई।

बैठक में कहा गया कि पत्रकारों पर लगातार हो रहे हमले चिंता का विषय है। घटना के बाद जब पीड़ित पत्रकार द्वारा थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी जाती है, तो पुलिस आरोपी को पकड़ कर छोड़ दे रही है। जिससे अवसरवादी लोगों के हौसले बढ़ते जा रहे हैं।

बैठक में सर्वसम्मति से जिले के पत्रकारों की सुरक्षा की मांग को लेकर उपायुक्त अबु इमरान से मिलने, पुलिस द्वारा दो दिनों के भीतर पीड़ित दोनों पत्रकार के आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल नहीं भेजने पर चरणबद्ध आंदोलन करने समेत कई निर्णय लिए गए।

साथ ही कहा गया कि अगर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई तो पत्रकार के आंदोलन की सारी जिम्मेदारी जिला और पुलिस प्रशासन की होगी।

बैठक में वरीय पत्रकार सुनील कुमार, संजय तिवारी, आशीष टैगोर, संजीत गुप्ता, चंद्रप्रकाश सिंह, बद्री प्रसाद, उत्कर्ष पांडेय, राजीव मिश्रा, नवीन मिश्रा, योगेश प्रसाद, अजय सिन्हा, नीरज सिन्हा, मनोज दत्त, बीरेंद्र प्रसाद, पंकज प्रसाद, रूपेश कुमार, विवेक सिन्हा, विभूतिनाथ सिंह, रौशन कुमार, रामकुमार, नीतीश भारती, डिंपल कुमार, दीपक मिश्रा, संतोष कुमार सिंह समेत कई पत्रकार मौजूद थे।

https://www.facebook.com/newssenselatehar

https://thenewssense.in/category/latehar


Leave a Reply

Your email address will not be published.