Breaking :
||नहीं रहे ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर दास, इलाज के दौरान तोड़ा दम||दुमका में मूर्ति विसर्जन के दौरान जय श्री राम के नारे बजाने को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प||मुख्यमंत्री ने लातेहार के कार्यपालक अभियंता पर अभियोजन चलाने की दी स्वीकृति||1932 के खतियान आधारित स्थानीयता वाले विधेयक को राज्यपाल ने लौटाया, कहा- सरकार वैधानिकता की करे समीक्षा||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने किया पतरातू गांव का दौरा, घटना की CID जांच की मांग||लातेहार: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो समुदायों में भिड़ंत, गांव पहुंचे विधायक और एसपी, माहौल तनावपूर्ण||ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री पर जानलेवा हमला, कार से उतरते ही ASI ने मारी गोली||मनिका: करोड़ों की लागत से हो रहे सड़क निर्माण में धांधली, बालू की जगह डस्ट से हो रही ढलाई||पड़ताल: गांव के दबंग ने ज़बरन रुकवाया PM आवास का निर्माण, 4 सालों से सरकारी बाबुओं के कार्यालय का चक्कर लगा रहा पीड़ित परिवार||लातेहार: बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट के सुरक्षा गार्ड की संदेहास्पद मौत, जांच जारी

लातेहार जिले के पत्रकारों की बैठक, लगातार हो रहे हमले की निंदा, कार्रवाई नहीं होने पर चरणबद्ध आंदोलन की चेतावनी

reporters meeting at latehar

लातेहार : जिला खेल स्टेडियम परिसर में गुरुवार को वरिष्ठ पत्रकार मनीष उपाध्याय की अध्यक्षता में जिले के पत्रकारों की बैठक हुई। बैठक में सबसे पहले पंचायत सेवक नागेश्वर रजक के पुत्र नागमणि कुमार द्वारा स्थानीय पत्रकार पंकज प्रसाद एवं बालूमाथ के पत्रकार सुरेंद्र गुप्ता पर किए गए जानलेवा हमले की घटना एवं चतरा सांसद सुनील कुमार सिंह द्वारा आरोपी को रिहा करने के लिए की गई पैरवी की निंदा की गई।

वहीं सदर थाना पुलिस द्वारा पत्रकार पंकज प्रसाद पर हमला करने वाले आरोपी को गिरफ्तार कर छोड़ दिए जाने की घटना की भर्त्सना की गई।

बैठक में कहा गया कि पत्रकारों पर लगातार हो रहे हमले चिंता का विषय है। घटना के बाद जब पीड़ित पत्रकार द्वारा थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी जाती है, तो पुलिस आरोपी को पकड़ कर छोड़ दे रही है। जिससे अवसरवादी लोगों के हौसले बढ़ते जा रहे हैं।

बैठक में सर्वसम्मति से जिले के पत्रकारों की सुरक्षा की मांग को लेकर उपायुक्त अबु इमरान से मिलने, पुलिस द्वारा दो दिनों के भीतर पीड़ित दोनों पत्रकार के आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल नहीं भेजने पर चरणबद्ध आंदोलन करने समेत कई निर्णय लिए गए।

साथ ही कहा गया कि अगर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई तो पत्रकार के आंदोलन की सारी जिम्मेदारी जिला और पुलिस प्रशासन की होगी।

बैठक में वरीय पत्रकार सुनील कुमार, संजय तिवारी, आशीष टैगोर, संजीत गुप्ता, चंद्रप्रकाश सिंह, बद्री प्रसाद, उत्कर्ष पांडेय, राजीव मिश्रा, नवीन मिश्रा, योगेश प्रसाद, अजय सिन्हा, नीरज सिन्हा, मनोज दत्त, बीरेंद्र प्रसाद, पंकज प्रसाद, रूपेश कुमार, विवेक सिन्हा, विभूतिनाथ सिंह, रौशन कुमार, रामकुमार, नीतीश भारती, डिंपल कुमार, दीपक मिश्रा, संतोष कुमार सिंह समेत कई पत्रकार मौजूद थे।

https://www.facebook.com/newssenselatehar

https://thenewssense.in/category/latehar


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *