Breaking :
||पलामू : सतबरवा SBI शाखा में पैसे जमा कराने आयी महिला से अपराधियों ने उड़ाए 84 हजार रुपये, घटना सीसीटीवी में कैद||लातेहार: ट्रक और पिकअप की भीषण टक्कर में चार घायल, तीन रिम्स रेफर, हालत नाजुक||झारखंड: कैबिनेट की बैठक में 39 प्रस्तावों को मिली मंजूरी, जिला परिषद और ग्राम पंचायत सदस्यों के मानदेय में वृद्धि||चतरा: रेल निर्माण कार्य में लगे पोकलेन मशीन को उग्रवादियों ने फूंका, पर्चा छोड़ कर दी चेतावनी||PLFI सुप्रीमो दिनेश गोप की निशानदेही पर लातेहार से खरीदा जिप्सी जमीन के अंदर से बरामद||पलामू: सतबरवा में सौ रुपए के लिए पति-पत्नी आपस में भिड़े, फायरिंग में भतीजी की गयी जान||धनबाद रेल मंडल में बड़ा हादसा, हाईटेंशन तार की चपेट में आने से छह लोग ज़िंदा जले, दो लातेहार व दो सतबरवा के सगे भाई शामिल||लातेहार: मनिका इलाके से TSPC के छह उग्रवादी हथियार के साथ गिरफ्तार||यात्रीगण कृपया ध्यान दें! बीडीएम सवारी गाड़ी के परिचालन पर फिर लगी रोक, 29 मई से शुरू होना था परिचालन, अब इस..||चतरा: TSPC के एरिया कमांडर समेत तीन उग्रवादी गिरफ्तार, विदेशी हथियार बरामद

सरना झंडा जलाने के विरोध में आदिवासी संगठनों का कल रांची बंद

रांची : असामाजिक तत्वों द्वारा पवित्र सरना झंडा को जलाये जाने के खिलाफ सभी आदिवासियों और सरना धर्मावलंबियों में रोष है। इसके तहत शुक्रवार को पाहन महासभा झारखंड प्रदेश व सभी आदिवासी मूलनिवासी संगठनों ने 8 अप्रैल को रांची बंद का आह्वान किया है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

इस मौके पर जगदीश पाहन ने कहा कि अल्बर्ट एक्का चौक पर विशाल मशाल जुलूस निकाला गया और जिला प्रशासन से मांग की गयी कि असामाजिक तत्वों ने आदिवासी सरना धर्मावलंबियों की भावनाओं और धर्म के साथ खिलवाड़ किया है। अब तक उन पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है। इसी का परिणाम है कि हम सभी आदिवासी सरना धर्मावलंबी शनिवार के रांची बंद को पूरी एकजुटता के साथ शांतिपूर्ण तरीके से सफल बनाएंगे। उन्होंने कहा कि अगर उसके बाद भी प्रशासनिक पहल नहीं की गयी तो हम सब उग्र आंदोलन करने को बाध्य होंगे।