Breaking :
||लातेहार: लापरवाह वाहन चालक हो जायें सावधान! कल से पुलिस चलायेगी जिलेभर में सघन वाहन चेकिंग अभियान||झारखंड की नाबालिग लड़की के साथ अमानवीय व्यवहार करने वालों के खिलाफ मुख्यमंत्री ने दिये सख्त कार्रवाई के आदेश||लातेहार: बालूमाथ में ट्यूशन पढ़ाकर घर लौट रहे शिक्षक की सड़क दुर्घटना में मौत||हेमंत सरकार ने खिलाड़ियों के सर्वांगीण विकास को लेकर की जोहार खिलाड़ी स्पोर्ट्स इंटीग्रेटेड पोर्टल की शुरुआत, खिलाड़ियों की समस्याओं के निराकरण में होगा सहायक||रामगढ़, चतरा व लातेहार में कोयला कारोबारियों पर जानलेवा हमला करने वाले TSPC के चार उग्रवादी गिरफ्तार, एक लातेहार का||अब राज्य के सरकारी शिक्षकों को ‘लीव मैनेजमेंट मॉड्यूल’ के माध्यम से ही मिलेगी छुट्टी, अन्य माध्यमों से दिये गये आवेदन होंगे रद्द||लातेहार: बालूमाथ में हुई विवाहिता हत्याकांड का खुलासा, चार अभियुक्तों ने मिलकर की थी बेरहमी से हत्या||पलामू: शहर में बिना अनुमति के जुलूस निकालने पर होगी कार्रवाई, रात 10 बजे के बाद डीजे बजाने पर रोक||लातेहार: मवेशियों से लदा ट्रक दुर्घटनाग्रस्त, ग्रामीणों ने एक तस्कर को पकड़ कर किया पुलिस के हवाले, डाल्टनगंज से खरीद कर रांची के मांस कारोबारी को जा रहे थे पहुंचाने||प्रेमिका से वीडियो कॉल पर बात करते प्रेमी ने दे दी जान

रिम्स ले जाने के क्रम में बीमार प्रवासी मजदूर की मौत, प्रशासन से मदद की गुहार

संजय राम/ बारियातू

लातेहार : बारियातू प्रखंड अंतर्गत अमरवाडीह पंचायत के मनातू निमवा टोंगरी निवासी प्रवासी मजदूर श्याम सुंदर लोहरा पिता मथुरा लोहरा की रिम्स रांची ले जाने के क्रम में रविवार की रात मौत हो गई।

मृतक मजदूर की पत्नी सोहरी देवी ने रोते हुए बताया कि मेरे पति छतीसगढ़ के कोरवा में हाइवा ट्रक चलाते थे। इससे बीच बीते एक सप्ताह पूर्व अचानक उनकी तबियत खराब हो गई। जिसके बाद एनसीएच छत्तीसगढ़ अस्पताल में भर्ती किया गया वंहा दो दिनों के इलाज के पश्चात बताया गया कि श्याम सुंदर का एक अंग बिल्कुल काम नही कर रहा है, उसे लकवा हो गया है।

जानकारी देते परिजन

फिर वंहा से किसी तरह पलामू जिले के सतबरवा में लकवे के इलाज के लिए लाइ। तब तक इनकी आवाज भी बंद हो गई थी। फिर परिजनों ने सलाह दिया कि बनासो विष्णुगढ़ हजारीबाग ले जाओ तब वंहा भी ले गया, लेकिन वंहा के चिकित्सक ने रिम्स रांची भेज दिया। फिर रिम्स रांची ले जाने के क्रम में रास्ते मे ही उसकी मौत हो गई।

अचानक हुई इस घटना से मृतक की पत्नी व नाबालिक पुत्र विक्की लोहरा(16) व सूरज लोहरा(14) सहित अन्य परिजनों का रोते रोते बुरा हाल है। मृतक की पत्नी ने प्रखंड प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है।

गौरतलब रहे कि मृतक 1994 से ही छत्तीसगढ़ में दैनिक मजदूरी का काम करता था। बाद में हाइवा चलाने का काम करने लगा। 2003 में शादी होने के बाद 2008 से अपनी पत्नी के साथ कोरवा छत्तीसगढ़ में ही रह रहा था।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *