Breaking :
||सीएम हेमंत सोरेन की नहीं होगी गिरफ्तारी, ईडी के पास कोई पुख्ता सबूत नहीं||झारखंड से कोरोना की विदाई, सभी जिले कोरोना मुक्त घोषित||झारखंड: प्रमाण पत्र सत्यापन नहीं कराने वाले सहायक अध्यापक होंगे कार्यमुक्त||झारखंड में Suo-Moto Online Mutation की ऐतिहासिक शुरुआत, अब जमीन रजिस्ट्री के बाद म्यूटेशन के लिए नहीं देना पड़ेगा आवेदन||झारखंड प्रशासनिक सेवा के 14 अधिकारियों को मिली अपर सचिव के पद पर पदोन्नति||लातेहार: कब्र से निकाले गये शव की गुत्थी महुआडांड़ पुलिस ने सुलझाया, सास, ससुर व साले ने पीट-पीटकर की थी हत्या||लातेहार: आदिवासी मुख्यमंत्री के कार्यकाल में आदिवासी की मौत के बाद नहीं मिली एंबुलेंस, ठेले पर ले गया शव||पलामू में भाकपा माओवादी के सब जोनल कमांडर नारायण यादव गिरफ्तार||चतरा में भाकपा माओवादी के एरिया कमांडर ने किया पुलिस के सामने सरेंडर||लातेहार: सात दिन पूर्व दफनाये गये शव को महुआडांड़ पुलिस ने कब्र से निकलवाया, हत्या की आशंका

रांची: यौन शोषण के आरोपी DAV कपिलदेव के निलंबित प्राचार्य को मिली जमानत

रांची : यौन शोषण के आरोपित डीएवी कपिलदेव स्कूल के निलंबित प्रिंसिपल मनोज कुमार सिन्हा को झारखंड हाई कोर्ट ने जमानत दे दी है। हाई कोर्ट के न्यायाधीश सुभाष चांद की अदालत में मामले की सुनवाई हुई। दोनों पक्षों को सुनने के बाद अदालत ने मनोज कुमार सिन्हा को जमानत दे दी। मनोज सिन्हा की ओर से अधिवक्ता अनुराग कश्यप ने अदालत में पक्ष रखा। हाई कोर्ट ने तीस-तीस हजार के दो निजी मुचलकों पर मनोज कुमार सिन्हा को जमानत दी है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

विदित हो कि डीएवी कपिलदेव स्कूल की प्राथमिक चिकित्सा केंद्र में कार्यरत नर्स ने निलंबित प्रिंसिपल मनोज कुमार सिन्हा पर यौन शोषण का आरोप लगाते हुए अरगोड़ा थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी थी। इसके बाद राजनीतिक दलों ने भी मामले का विरोध करते हुए जमकर हंगामा किया था। निलंबित प्रिंसिपल मनोज सिन्हा की गिरफ्तारी की चारों ओर मांग हो रही थी। मामला दर्ज होने के बाद से मनोज सिन्हा फरार चल रहे थे। पुलिस ने उन्हें 29 मई को जमशेदपुर से गिरफ्तार किया था। इसके बाद से वे न्यायिक हिरासत में हैं।