Breaking :
||सीएम हेमंत सोरेन की नहीं होगी गिरफ्तारी, ईडी के पास कोई पुख्ता सबूत नहीं||झारखंड से कोरोना की विदाई, सभी जिले कोरोना मुक्त घोषित||झारखंड: प्रमाण पत्र सत्यापन नहीं कराने वाले सहायक अध्यापक होंगे कार्यमुक्त||झारखंड में Suo-Moto Online Mutation की ऐतिहासिक शुरुआत, अब जमीन रजिस्ट्री के बाद म्यूटेशन के लिए नहीं देना पड़ेगा आवेदन||झारखंड प्रशासनिक सेवा के 14 अधिकारियों को मिली अपर सचिव के पद पर पदोन्नति||लातेहार: कब्र से निकाले गये शव की गुत्थी महुआडांड़ पुलिस ने सुलझाया, सास, ससुर व साले ने पीट-पीटकर की थी हत्या||लातेहार: आदिवासी मुख्यमंत्री के कार्यकाल में आदिवासी की मौत के बाद नहीं मिली एंबुलेंस, ठेले पर ले गया शव||पलामू में भाकपा माओवादी के सब जोनल कमांडर नारायण यादव गिरफ्तार||चतरा में भाकपा माओवादी के एरिया कमांडर ने किया पुलिस के सामने सरेंडर||लातेहार: सात दिन पूर्व दफनाये गये शव को महुआडांड़ पुलिस ने कब्र से निकलवाया, हत्या की आशंका

लातेहार: पुलिस मुठभेड़ में मारे गये तीसरे JJMP उग्रवादी की हुई पहचान

लातेहार : सदर थाना क्षेत्र के बेंदी जंगल में सुरक्षाबलों व प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन जेजेएमपी के बीच हुई मुठभेड़ में मारे गए तीसरे उग्रवादी की भी पहचान हो गयी। मारे गए तीसरे उग्रवादी की पहचान सनी राम मनिका, लातेहार के रूप में हुई है।

जबकि मुठभेड़ के बाद सोमवार को ही दो उग्रवादियों की पहचान शिवनाथ लोहरा पिता भादू लोहरा बन्दुआ पल्हेया, मनिका और मनोज राम उर्फ़ मनोज तिवारी उर्फ़ तिवारी जी पिता स्व रामदास राम, जुन्गुर मनिका, लातेहार के रूप में हुई थी।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

इधर, मुठभेड़ के बाद मंगलवार को रांची रिम्स की फोरेंसिक टीम घटनास्थल पहुंची और जांच पड़ताल के बाद उग्रवादियों के शवों को उठाकर पोस्टमार्टम के लिए लातेहार सदर अस्पताल भेजा। इस दौरान फोरेंसिक टीम ने करीब एक घंटे तक घटना स्थल का मुआयना किया। इसके बाद सैम्पल इकट्ठे किये।

बताया जाता है कि मुठभेड़ के बाद एसडीपीओ संतोष मिश्रा, पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी चंद्रशेखर चौधरी, रोहित कुमार, धमेंद्र कुमार, दीपक कुमार समेत सुरक्षाबलों ने रातभर जंगल में कैंप किया और सर्च अभियान चलाया जो मंगलवार दोपहर तक जारी रहा। इधर, घटना के बाद से आसपास के गावों में सन्नाटा पसरा हुआ है।