Breaking :
||झारखंड में Suo-Moto Online Mutation की ऐतिहासिक शुरुआत, अब जमीन रजिस्ट्री के बाद म्यूटेशन के लिए नहीं देना पड़ेगा आवेदन||झारखंड प्रशासनिक सेवा के 14 अधिकारियों को मिली अपर सचिव के पद पर पदोन्नति||लातेहार: कब्र से निकाले गये शव की गुत्थी महुआडांड़ पुलिस ने सुलझाया, सास, ससुर व साले ने पीट-पीटकर की थी हत्या||लातेहार: आदिवासी मुख्यमंत्री के कार्यकाल में आदिवासी की मौत के बाद नहीं मिली एंबुलेंस, ठेले पर ले गया शव||पलामू में भाकपा माओवादी के सब जोनल कमांडर नारायण यादव गिरफ्तार||चतरा में भाकपा माओवादी के एरिया कमांडर ने किया पुलिस के सामने सरेंडर||लातेहार: सात दिन पूर्व दफनाये गये शव को महुआडांड़ पुलिस ने कब्र से निकलवाया, हत्या की आशंका||लातेहार : गैंगस्टर गोपाल शार्क शूटर के नाम से पोस्टर चस्पा कर दी चेतावनी, सभी को देनी होगी रंगदारी, दो दिन लातेहार व चंदवा बंद रखने की धमकी||लातेहार में उग्रवादी संगठन JJMP के सबजोनल कमांडर समेत दो गिरफ्तार, हथियार बरामद||झारखंड निकाय चुनाव में ओबीसी को आरक्षण नहीं देने के मामले में सरकार को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस

लातेहार : शिवपुरी मोहल्ले से दो नाबालिग बच्चे पिछले 8 दिसंबर से लापता, अनहोनी की आशंका, परिजन परेशान

लातेहार : जिला मुख्यालय के शिवपुरी मोहल्ले से पिछले 8 दिसंबर से दो नाबालिग बच्चे लापता हैं, जिससे उनका परिवार काफी परेशान है। परिजनों ने सदर थाने में गुमशुदगी का मामला दर्ज कराया है। जिसके आधार पर सदर थाना पुलिस मामले की जांच कर रही है। लेकिन पांच दिन बीत जाने के बाद भी लापता बच्चों का अभी तक कोई सुराग नहीं लग पाया है।

लापता बच्चों में अंजलि कुमारी (12 वर्ष) व पवन कुमार (10 वर्ष) पिता सनी कुमार शामिल है। दोनों बीते 8 दिसंबर को अपने घर से कबाड़ चुनने के लिए निकले थे जो आज तक वापस नहीं लौटे।

हालांकि परेशान परिजनों ने अपने सगे संबंधियों और जिला मुख्यालय समेत आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में काफी खोजबीन की। लेकिन उनका पता नहीं चल पाया। बच्चों की मां का रो-रोकर बुरा हाल है।

बच्चों के पिता सनी ने बताया कि हमलोग पलामू जिला के छतरपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत रामगढ़ गांव के रहने वाले हैं। लेकिन वर्तमान में लातेहार जिला मुख्यालय के शिवपुरी मोहल्ले में किराए के मकान में रहते हैं और कबाड़ चुनकर अपने परिवार का भरण-पोषण करते हैं। बच्चे नाबालिग हैं, इसलिए उनके साथ किसी तरह की अनहोनी न हो जाय इसको लेकर मन में भय सता रहा है।

बच्चों की माता काजल देवी ने रोते हुए बताया कि पिछले बुधवार को बच्चे घर से कबाड़ चुनने के लिए निकले जो आज तक वापस नहीं लौटे। हमलोगों ने काफी खोजबीन की लेकिन बच्चे नहीं मिले।

परिजनों ने बताया कि खोजबीन के दौरान पता चला कि बच्चों को सदर थाना क्षेत्र के बहेराटांड़ मोहल्ले में 8 दिसंबर को कबाड़ चुनते देखा गया था। परिजनों ने पुलिस प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *