Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में विवाहिता ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, मायके वालों ने लगाया हत्या का आरोप||लातेहार: मनिका में सड़क निर्माण स्थल पर उग्रवादियों का हमला, JCB मशीन में लगायी आग||वेतन नहीं मिलने से नहीं हुआ बेहतर इलाज, गढ़वा में DRDA कर्मी की मौत||लातेहार: हेरहंज में पेड़ से गिरकर युवक की मौत, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल||लातेहार: सड़क दुर्घटना में घायल महिला की इलाज के दौरान मौत, मुआवजे की मांग को लेकर सड़क जाम||लातेहार: महुआडांड में आदिवासी महिला से दुष्कर्म के बाद बनाया वीडियो, वायरल करने व जान से मारने की धमकी||लातेहार: चंदवा पुलिस ने अभिजीत पावर प्लांट से लोहा चोरी कर ले जा रहे पिकअप को पकड़ा, एक गिरफ्तार||लातेहार: महुआडांड़ में बस और बाइक की जोरदार टक्कर में दो युवकों की मौत, एक गंभीर, देखें तस्वीरें||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान

लातेहार: 12 से 14 साल के बच्चों का टीकाकरण शुरू, लक्ष्य के अनुरूप टीकाकरण के निर्देश

लातेहार : उपायुक्त अबु इमरान के निर्देशानुसार उप विकास आयुक्त सुरेन्द्र कुमार वर्मा की अध्यक्षता में कोरोना संक्रमण के रोकथाम एवं स्वास्थ्य विभाग से संचालित योजनाओं की समीक्षा की गई।

इस क्रम में सीएस के द्वारा कोरोना संक्रमण के रोकथाम को लेकर स्वास्थ्य विभाग से किए जा रहे कार्य की जानकारी दी गई। बताया गया कि कोरोना टीकाकरण के सेकेंड एवं 12 से 14 वर्ष के बच्चों का आरंभ हो रहे टीकाकरण की जानकारी दी।

जिस पर उप विकास आयुक्त के द्वारा निर्देशित किया गया कि 12 से 14 वर्ष के बच्चों का पहले विद्यालय स्तर पर टीकाकरण करना सुनिश्चित करें एवं लक्ष्य को प्राप्त करें। वही सेकेंड डोज टीकाकरण का कार्य लक्ष्य के अनरूप नहीं होने पर उन्होंने अविलंब टीकाकरण शतप्रतिशत करने को लेकर सीएस को निर्देशित किया।

इस दौरान कोरोना जांच कार्य की भी समीक्षा की गई जिस पर पाया कि बरवाडीह प्रखंड में कोरोना जांच की गति काफी धीमी है। जिस पर उन्होंने कोरोना जांच की गति तेज करने का निर्देश दिया।

उन्होंने कहा कि कोरोना के रोकथाम के लिए जांच अतिआवश्यक है, जांच कार्य में लापरवाही नहीं बरते। समीक्षाक्रम में स्वास्थ्य विभाग से संचालित योजनाओं की भी समीक्षा की गई। बैठक में कुपोषित बच्चों को चिहिंत करने के लिए चलाए जा रहे समर अभियान की जानकारी दी गई। जिस पर उप विकास आयुक्त के द्वारा सभी एमओआइसी को निर्देशित किया गया कि अभियान के तहत चिहिंत कुपोषित बच्चों को अविलंब एमटीसी में भर्ती करना सुनिश्चित करें।

बैठक में उप विकास आयुुक्त को सीएस के द्वारा टीबी, कुष्ट एवं मलेरिया की रोकथाम के लिए विभाग से हो रहे कार्य की जानकारी दी। जिस पर उन्होंने निर्देशित किया कि टीबी एवं कुष्ट उन्मूलन कार्य को पूरी सजगता के साथ विभाग करे, ताकि जिला कुष्ट एवं टीबी रोग से मुक्त हो सके।

इस दौरान उन्होंने मलेरिया के लिए डीडीटी का छिड़काव ससमय करवाने का निर्देश दिया। समीक्षाक्रम में उप विकास आयुक्त के द्वारा स्वास्थ्य विभाग से संचालित अन्य कई महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए।

मौके पर सीएस डा हरेन्द्रचंद्र, डा नीलमणि, वेद प्रकाश समेत सभी प्रखंड चिकित्सा पदाधिकारी एवं स्वास्थ्य कर्मी मौजूद थे।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *