Breaking :
||पलामू में बिजली गिरने से तीन किशोर की मौत, बारिश से बचने के लिए पेड़ के नीचे छिपे थे||रांची में करंट लगने से एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत, तिरंगा लगाने के दौरान हुआ हादसा||15 अगस्त को झारखंड के 26 पुलिसकर्मियों को विभिन्न सेवाओं के लिए मेडल||रांची में नकली नोटों के तस्कर को पकड़ने गई दिल्ली पुलिस पर ग्रामीणों ने किया हमला, बनाया बंधक||झारखंड जल्द होगा सूखाग्रस्त घोषित, सभी मापदंडों पर तैयार हो रही रिपोर्ट||लातेहार: विद्यालय से उर्दू शब्द हटाए जाने पर मुस्लिम समुदाय में आक्रोश, किया प्रदर्शन||मुख्य धारा में लौटे नक्सलियों के सम्मान समारोह में अधिकारियों ने कहा- सरकार की सेरेंडर पॉलिसी का लाभ उठाएं नक्सली||लातेहार : खेत में धान बो रहे किसान पर गिरी बिजली, पति-पत्नी की मौके पर ही मौत||झारखंड भाजपा को मिलेगा नया प्रदेश अध्यक्ष, नियुक्ति को लेकर कई नामों पर चर्चा||अब झारखंड के बिजली उपभोक्ताओं को मिलेगी 100 यूनिट मुफ्त बिजली

जब विभाग ने नहीं ली सुध तो ग्रामीणों ने निजी कोष से जर्जर सड़क की कराई मरम्मत

'

बारियातू /संजय राम

लातेहार : बारियातू प्रखंड के शिबला पंचायत अंतर्गत पूरनाशिबला से उस्मान डैम श्मशान घाट जाने वाली जर्जर सड़क को ग्रामीणों ने निजी कोष से मरम्मत करवाया।

ग्रामीण दिले उरांव, बोले उरांव, सूले उरांव, पंचम उरांव, महेंद्र उरांव, बिहारी उरांव, मुन्ना उरांव, बालेश्वर उरांव, जेठू गंझू, गुंजरी देवी, बालकेश्वर कुमार, सुखदेव उरांव, लछु उरांव, नन्हका गंझू सहित कई ग्रामीणों ने बताया कि हमलोग अपने मुहल्ला पुरनासिबला व डोकिया से श्मशान घाट तक किसी मृत व्यक्ति को अंतिम संस्कार करने के लिए ले जाने के क्रम में रास्ता खराब रहने के कारण काफी कठिनाई होती थ। जिसे देखते हुए उक्त दोनो मुहल्ले की ग्रामीणों ने घर-घर चंदा इकट्ठा कर जेसीबी मशीन से लगभग 1 किलोमीटर दूरी तक मिट्टी का सड़क बनवाया है।

ग्रामीणों ने आगे बताया कि पूर्व में हमलोग श्मशान घाट जर्जर रास्ता को मरम्मत करने के लिए सम्बंधित विभाग को आवेदन दिए थे लेकिन किसी भी तरह का सड़क मरम्मति करवाने तथा सड़क निर्माण के लिए सरकारी योजना नहीं मिलने के कारण विवश होकर हम लोग सभी ग्रामीण चंदा इकट्ठा कर इस जर्जर सड़क को बनवाए हैं। ग्रामीणों ने प्रखंड प्रशासन से उक्त बनाए गए मिट्टी की सड़क को पीसीसी करवाने की मांग की है।


Leave a Reply

Your email address will not be published.