Breaking :
||लातेहार: बारियातू में पेड़ से लटका मिला महिला का शव, जांच में जुटी पुलिस||गुमला में TSPC के चार उग्रवादी गिरफ्तार, हथियार और जिंदा कारतूस समेत अन्य सामान बरामद||चतरा: नक्सलियों की बड़ी साजिश नाकाम, दो सिलेंडर बम बरामद||मनी लॉन्ड्रिंग मामले में निलंबित मुख्य अभियंता वीरेंद्र राम की जमानत याचिका खारिज, पत्नी व पिता को भी नहीं मिली राहत||नहाय खाय के साथ सूर्योपासना का चार दिवसीय चैती छठ महापर्व शुरू||लातेहार: चुनाव प्रशिक्षण में अनुपस्थित 56 मतदान कर्मियों को मिला आखिरी मौका, उपस्थित नहीं हुए तो होगी कार्रवाई||झारखंड में धूमधाम से मनाया गया प्रकृति का पर्व सरहुल, निकाली गयी भव्य शोभायात्रा||झारखंड: सुरक्षाबलों के दबिश का परिणाम, दो महिला नक्सली समेत 15 माओवादियों ने एक साथ किया सरेंडर||पलामू: प्रेम प्रसंग में युवक की हत्या, शव फंदे से लटकाया!||चतरा: TSPC के उग्रवादियों ने बालू माफियाओं को अवैध खनन बंद करने की दी चेतावनी
Friday, April 12, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरलातेहार

जब विभाग ने नहीं ली सुध तो ग्रामीणों ने निजी कोष से जर्जर सड़क की कराई मरम्मत

बारियातू /संजय राम

लातेहार : बारियातू प्रखंड के शिबला पंचायत अंतर्गत पूरनाशिबला से उस्मान डैम श्मशान घाट जाने वाली जर्जर सड़क को ग्रामीणों ने निजी कोष से मरम्मत करवाया।

ग्रामीण दिले उरांव, बोले उरांव, सूले उरांव, पंचम उरांव, महेंद्र उरांव, बिहारी उरांव, मुन्ना उरांव, बालेश्वर उरांव, जेठू गंझू, गुंजरी देवी, बालकेश्वर कुमार, सुखदेव उरांव, लछु उरांव, नन्हका गंझू सहित कई ग्रामीणों ने बताया कि हमलोग अपने मुहल्ला पुरनासिबला व डोकिया से श्मशान घाट तक किसी मृत व्यक्ति को अंतिम संस्कार करने के लिए ले जाने के क्रम में रास्ता खराब रहने के कारण काफी कठिनाई होती थ। जिसे देखते हुए उक्त दोनो मुहल्ले की ग्रामीणों ने घर-घर चंदा इकट्ठा कर जेसीबी मशीन से लगभग 1 किलोमीटर दूरी तक मिट्टी का सड़क बनवाया है।

ग्रामीणों ने आगे बताया कि पूर्व में हमलोग श्मशान घाट जर्जर रास्ता को मरम्मत करने के लिए सम्बंधित विभाग को आवेदन दिए थे लेकिन किसी भी तरह का सड़क मरम्मति करवाने तथा सड़क निर्माण के लिए सरकारी योजना नहीं मिलने के कारण विवश होकर हम लोग सभी ग्रामीण चंदा इकट्ठा कर इस जर्जर सड़क को बनवाए हैं। ग्रामीणों ने प्रखंड प्रशासन से उक्त बनाए गए मिट्टी की सड़क को पीसीसी करवाने की मांग की है।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *