Breaking :
||झारखंड एकेडमिक काउंसिल कल जारी करेगा मैट्रिक और इंटर का रिजल्ट||लातेहार: चुनाव प्रशिक्षण में बिना सूचना के अनुपस्थित रहे SBI सहायक पर FIR दर्ज||ED ने जमीन घोटाला मामले में आरोपियों के पास से बरामद किये 1 करोड़ 25 लाख रुपये||झारखंड में हीट वेब को लेकर इन जिलों में येलो अलर्ट जारी, पारा 43 डिग्री के पार||सतबरवा सड़क हादसे में मारे गये दोनों युवकों की हुई पहचान, यात्री बस की चपेट में आने से हुई थी मौत||झारखंड: रामनवमी जुलूस रोके जाने से लोगों में आक्रोश, आगजनी, पुलिस की गाड़ियों में तोड़फोड़, लाठीचार्ज||लातेहार में भीषण सड़क हादसा, दो बाइकों की टक्कर में तीन युवकों की मौत, महिला समेत चार घायल, दो की हालत नाजुक||बड़ी खबर: 25 लाख के इनामी समेत 29 नक्सली ढेर, तीन जवान घायल||पलामू: महुआ चुनकर घर जा रही नाबालिग से भाजपा मंडल अध्यक्ष ने किया दुष्कर्म, आरोपी की तलाश में जुटी पुलिस||झामुमो केंद्रीय समिति सदस्य नज़रुल इस्लाम ने मोदी को जमीन में 400 फीट नीचे गाड़ने की दी धमकी, भाजपा प्रवक्ता ने कहा- इंडी गठबंधन के नेता पीएम मोदी के खिलाफ बड़ी घटना की रच रहे साजिश
Saturday, April 20, 2024
झारखंड

गुमला: नक्सली साले की अंतिम संस्कार में शामिल होने आये जीजा की पीट-पीटकर हत्या

गुमला : घाघरा थाना क्षेत्र के टोटाम्बी गांव में दो लाख का इनामी नक्सली दिलबर नायक की बीमारी से मौत के बाद उनके अंतिम संस्कार में पहुंचे उनके जीजी नंदलाल नायक (40) की अज्ञात अपराधियों ने लाठियों, डंडों और पत्थरों से मार डाला।

सबूत छिपाने के इरादे से शव को टोटांबी बांध में चटाई से लपेट कर फेंक दिया गया। लेकिन गुरुवार को बांध के ऊपर आते ही ग्रामीणों की नजर उस पर पड़ी। इसके बाद ग्रामीणों ने घटना की सूचना पुलिस को दी। सूचना मिलते ही पुलिस ग्रामीणों की मदद से मौके पर पहुंची और शव को बांध से बाहर निकाला।

इधर, शव को बाहर निकालने के बाद पुलिस ने देखा कि मृतक का चेहरा कुचला हुआ है। इससे उसकी पहचान करना मुश्किल हो रहा था लेकिन मौके पर मौजूद ग्रामीणों ने कपड़े से शव की पहचान नंदलाल नायक के रूप में की।

नंदलाल के चेहरे के अलावा शरीर के अन्य हिस्सों पर चोट के निशान हैं। इस वजह से उसकी हत्या किए जाने की प्रबल संभावना थी। ग्रामीणों ने बताया कि नंदलाल परिवार के साथ चैनपुर प्रखंड स्थित ईंट भट्ठे में काम करता था।

पिछले रविवार को अपने जीजा नक्सली दिलबर नायक की मौत के बाद वह उसके अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए अकेले टोटांबी गांव पहुंचा था, जबकि उसकी पत्नी और बच्चे ईंट भट्ठे में रुके हुए थे।

प्रथम दृष्टया पुलिस का यह भी मानना ​​है कि आपसी विवाद के बाद नंदलाल की हत्या की गई है। शव को चटाई में लपेटकर बांध में फेंक दिया गया। जांच के दौरान गांव की पुलिस ने नंदलाल के कुछ परिचितों को हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ कर रही है।

इस संबंध में एसडीपीओ मनीष चंद्र लाल ने कहा कि जल्द ही घटना का खुलासा किया जाएगा। साथ ही पुलिस जल्द ही अपराधियों को गिरफ्तार करेगी।