Breaking :
||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता का इंडी गठबंधन पर हमला, कहा- कोड वर्ड के जरिये बेच दिया झारखंड को||टेंडर कमीशन देने में पांकी के ठेकेदार का भी नाम : शशिभूषण मेहता||टेंडर घोटाले की जांच में पूर्व मंत्री आलमगीर आलम नहीं कर रहे सहयोग : ED||पांचवें चरण में 63.21 फीसदी वोटिंग, पुरुषों से ज्यादा रही महिलाओं की भागीदारी||गढ़वा: शादी समारोह में शामिल होने जा रही मां-बेटी की सड़क हादसे में मौत, बेटा और बेटी की हालत नाजुक||झारखंड: स्कूलों में शत प्रतिशत नामांकन को लेकर राज्य शिक्षा परियोजना गंभीर, लापरवाही बरतने पर होगी कार्रवाई||टेंडर कमीशन घोटाला मामला: ED ने अब IAS मनीष रंजन को पूछताछ के लिए बुलाया||मतदान केंद्र में फोटो या वीडियो लेना अपराध, की जा रही है कार्रवाई : मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी||लातेहार: बालूमाथ में बाइक दुर्घटना में एक युवक की मौत, दूसरा गंभीर, रिम्स रेफर||गढवा: डोभा में नहाने के दौरान डूबने से JJM नेता के पोते समेत दो किशोरों की मौत
Thursday, May 23, 2024
बरवाडीहलातेहार

बरवाडीह से 20 श्रद्धालुओं का जत्था माता वैष्णो देवी दरबार के लिए रवाना

बरवाडीह जत्था वैष्णो देवी

शशि शेखर/बरवाडीह

लातेहार : बरवाडीह प्रखंड के केचकी पंचायत के सरइडीह औऱ पोखरीकला पंचायत से सोमवार को 20 श्रद्धालुओं का जत्था माता वैष्णो देवी दरबार के लिए टाटा जम्मू तवी एक्सप्रेस से रवाना हुआ।

रवाना होने के पूर्व जत्थे में शामिल सभी श्रद्धालुओं ने प्रखंड के प्रसिद्ध पर्यटन और धार्मिक स्थल के रूप में विख्यात सरईडीह शिव मंदिर में पूजा अर्चना की। जिसके बाद जत्थे में शामिल हीरालाल प्रसाद ,अन्ति देवी , सरजू साव , प्रमिला देवी , सुरेश प्रसाद , दिलीप प्रसाद , सुनैना देवी , रमेश सोनी , प्रेम सागर सिंह , लवकुश सोनी , निर्मला देवी , मुनिब सोनी उषा देवी , अखिलेश्वर प्रसाद ,गोरी देवी , प्रभा देवी , दशरथ प्रसाद , समेत अन्य लोगों को प्रखंड की महिला समाजसेवी और अपना अधिकार अपना सम्मान मंच के सचिव संतोषी शेखर, मंदिर समिति के अध्यक्ष जोखन प्रसाद , ग्राम प्रधान रामनाथ साव ,नमो एप लोकसभा सयोंजक दिलीप सिंह यादव मंदिर पुजारी श्याम नाथ पाठक समेत अन्य प्रबुद्ध लोगों के द्वारा सभी माता वैष्णो देवी के तीर्थ पर जाने वाले श्रद्धालुओं को सम्मानित करते हुए विदा किया गया।

इस दौरान सन्तोषी शेखर ने कहा कि प्रखंड क्षेत्र के केचकी औऱ पोखरीकला पंचायत सम्मानित ग्रामीणों का धर्म और धर्म के केंद्र के रूप में प्रचार भारत के प्रसिद्ध धार्मिक स्थलों के प्रति लोगों की सच्ची श्रद्धा और भावना अपने आप में अनुकरणीय है। जिससे हम सभी को प्रेरणा लेनी चाहिए। क्यो की हम सभी को अपने धर्म और धर्म की रक्षा करने के लिए आगे आने के साथ-साथ अपनी आने वाली पीढ़ी को इसके प्रति जागरूक करना चाहिए जो काम यहां के लोगों के द्वारा लगातार किया जा रहा है।

बरवाडीह जत्था वैष्णो देवी


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *