Breaking :
||लोहरदगा में हथियार के साथ एक गिरफ्तार, एक भागने में सफल, भारी मात्रा में हथियार व गोलियां बरामद||सीएम हेमंत सोरेन का ऐलान, नेतरहाट फील्ड फायरिंग रेंज होगी रद्द, ग्रामीण 30 साल से कर रहे थे आंदोलन||कोलकाता हाईकोर्ट ने कांग्रेस के तीनों विधायकों को दी सशर्त अंतरिम जमानत||लातेहार: फिर एक महिला ने इलाज के बहाने डॉक्टर पर लगाया छेड़खानी का आरोप||बिहार में नीतीश कैबिनेट का विस्तार, 31 मंत्रियों ने ली शपथ, तेज प्रताप फिर बने मंत्री||DGP नीरज सिन्हा ने कहा- पिछले तीन साल में 1,526 नक्सली गिरफ्तार, 51 मारे गये||जम्मू-कश्मीर में जवानों से भरी बस खाई में गिरी, 7 जवान शहीद, 32 घायल, राष्ट्रपति ने व्यक्त की संवेदना||JPSC के पूर्व अध्यक्ष IPS अमिताभ चौधरी का हार्ट अटैक से निधन||लातेहार: पीटीआर के गारू पूर्वी वन क्षेत्र में हाथी की मौत, पोस्टमार्टम के लिए पहुंची मेडिकल टीम||पलामू में बिजली गिरने से तीन किशोर की मौत, बारिश से बचने के लिए पेड़ के नीचे छिपे थे

बालूमाथ के पत्रकार ने आधी रात को रक्तदान कर बचाई महिला की जान

'

यह जावेद की 40वीं रक्तदान था

लातेहार : बालूमाथ के पत्रकार सह समाजसेवी जावेद अख्तर ने रातू के वरदान अस्पताल में भर्ती बबीता देवी नाम की गर्भवती महिला की जान बचाने के लिए देर रात रक्तदान किया।

लातेहार जिला अंतर्गत बालूमाथ के तसतबार निवासी स्वर्गीय मदन ठाकुर की गर्भवती पुत्री बबीता देवी के पेट में बच्चा मर गया था। बबीता की शादी उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद (अब प्रयागराज) में सोनू ठाकुर से हुई है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

बबीता प्रसव के लिए अपना मायके बालूमाथ आई हुई थी। इसी बीच पेट दर्द उठने के बाद बबीता को उसकी विधवा मां डिलेवरी के लिए रांची के सदर हॉस्पिटल ले गई। जहां डॉक्टरों ने जवाब दे दिया।

इसके बाद उसे रांची के रातू स्थित वरदान हॉस्पिटल ले जाया गया। जहां डॉक्टर का कहना था कि इस महिला के शरीर में हीमोग्लोबिन बहुत कम है और ऑपरेशन कर मृत बच्चा को जल्दी बाहर निकालना होगा। नहीं तो इस गर्भवती महिला की भी जान जा सकती है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

आधी रात को अपनी बेटी की जान बचाने के लिए उसकी विधवा मां बहुत परेशान थी। डॉक्टर ब्लड उपलब्ध हुए बगैर ऑपरेशन करने लिए तैयार नहीं थे। किसी तरह इस बात की जानकारी पत्रकार जावेद अख्तर को हुई। देर रात रांची के रिम्स स्थित ब्लड बैंक में जाकर जावेद अख्तर ने रक्तदान कर बबीता देवी को खून उपलब्ध कराया और उसकी जान बचाई। मौके पर पीड़ित महिला के परिजनों ने जावेद के प्रति आभार जताया।