Breaking :
||पलामू: तेज रफ़्तार कार और बाइक की टक्कर में युवक की मौत||लातेहार: बारियातू में पेड़ से लटका मिला महिला का शव, जांच में जुटी पुलिस||गुमला में TSPC के चार उग्रवादी गिरफ्तार, हथियार और जिंदा कारतूस समेत अन्य सामान बरामद||चतरा: नक्सलियों की बड़ी साजिश नाकाम, दो सिलेंडर बम बरामद||मनी लॉन्ड्रिंग मामले में निलंबित मुख्य अभियंता वीरेंद्र राम की जमानत याचिका खारिज, पत्नी व पिता को भी नहीं मिली राहत||नहाय खाय के साथ सूर्योपासना का चार दिवसीय चैती छठ महापर्व शुरू||लातेहार: चुनाव प्रशिक्षण में अनुपस्थित 56 मतदान कर्मियों को मिला आखिरी मौका, उपस्थित नहीं हुए तो होगी कार्रवाई||झारखंड में धूमधाम से मनाया गया प्रकृति का पर्व सरहुल, निकाली गयी भव्य शोभायात्रा||झारखंड: सुरक्षाबलों के दबिश का परिणाम, दो महिला नक्सली समेत 15 माओवादियों ने एक साथ किया सरेंडर||पलामू: प्रेम प्रसंग में युवक की हत्या, शव फंदे से लटकाया!
Saturday, April 13, 2024
बरवाडीहलातेहार

बरवाडीह में बंद केंदू पत्ता खलिहान शुरू करने की मांग को लेकर मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

शशि शेखर/बरवाडीह

लातेहार : बरवाडीह प्रखंड क्षेत्र के पलामू व्याघ्र परियोजना अंतर्गत आने वाले वन क्षेत्रों में लंबे समय से केंदू पत्ते की तुड़ाई बंद है। जिसके कारण प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत लगभग 2000 से अधिक निबंधित मजदूर पत्ते की तुड़ाई नहीं होने के कारण बेरोजगारी की मार झेल रहे हैं।

इसे लेकर प्रखण्ड की महिला समाजसेवी सन्तोषी शेखर ने राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, स्थानीय विधायक और नेता प्रतिपक्ष को पत्र लिखकर वन प्रमंडल अंतर्गत आने वाले प्रखंड क्षेत्र के 14 खलिहानों को शुरू करने की अनुमति देने की मांग की है।

सन्तोषी शेखर ने बताया कि केंदू पत्ता की तुड़ाई कर जहां स्थानीय मजदूर काफी खुशहाल रहते थे। इस कार्य से we लगभग 6 महीने तक के जीवन यापन करने की राशि जमा कर लेते थे। शादी विवाह जैसे पारिवारिक कार्यक्रम को लेकर भी रकम जमा कर लेते थे।

लेकिन दुर्भाग्य से जिस पत्ते की तुड़ाई से वन क्षेत्र को कोई नुकसान नहीं उन पत्तों की तुड़ाई पर रोक लगाकर मजदूरों को पलायन करने पर मजबूर कर दिया गया है। जिस पर स्थानीय जनप्रतिनिधि और सरकार को मजदूरों के हित में ध्यान देते हुए सकारात्मक फैसला लेकर तुड़ाई की अनुमति दी जानी चाहिए।

ताकि प्रखंड क्षेत्र के कुटमु, सरईडीह, कचनपुर, पोखरी खुर्द, कोलपुरवा, बरवाडीह, लुहुर, बभंडी, ततहा, मंडल, सिधोरवा, लेदगाई, होरीलोग, पैरा में केंदु पत्ते के तुड़ाई औऱ संग्रह का काम शुरू हो औऱ सैकड़ो मजदूरों के जीवन स्तर में सुधार हो सके।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *