Breaking :
||नहीं रहे ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर दास, इलाज के दौरान तोड़ा दम||दुमका में मूर्ति विसर्जन के दौरान जय श्री राम के नारे बजाने को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प||मुख्यमंत्री ने लातेहार के कार्यपालक अभियंता पर अभियोजन चलाने की दी स्वीकृति||1932 के खतियान आधारित स्थानीयता वाले विधेयक को राज्यपाल ने लौटाया, कहा- सरकार वैधानिकता की करे समीक्षा||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने किया पतरातू गांव का दौरा, घटना की CID जांच की मांग||लातेहार: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो समुदायों में भिड़ंत, गांव पहुंचे विधायक और एसपी, माहौल तनावपूर्ण||ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री पर जानलेवा हमला, कार से उतरते ही ASI ने मारी गोली||मनिका: करोड़ों की लागत से हो रहे सड़क निर्माण में धांधली, बालू की जगह डस्ट से हो रही ढलाई||पड़ताल: गांव के दबंग ने ज़बरन रुकवाया PM आवास का निर्माण, 4 सालों से सरकारी बाबुओं के कार्यालय का चक्कर लगा रहा पीड़ित परिवार||लातेहार: बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट के सुरक्षा गार्ड की संदेहास्पद मौत, जांच जारी

यूक्रेन से वापस लौटी बरवाडीह की राजनंदिनी, परिजनों ने सरकार का जताया आभार

Barwadih Rajnandini Ukraine

शशि शेखर/बरवाडीह

लातेहार : यूक्रेन-रूस युद्ध के दौरान बिगड़े हालात के बीच बरवाडीह प्रखंड की मेडिकल की छात्रा राजनंदिनी फंस गई थी। जिसके वापस भारत लाने को लेकर परिवार के लोगों के साथ-साथ स्थानीय सांसद और विधायक समेत कई अन्य जनप्रतिनिधियों के द्वारा केंद्र सरकार और विदेश मंत्रालय से लगातार गुहार लगाई गयी थी।

जिसके बाद केंद्र सरकार के ऑपरेशन गंगा अभियान के तहत बरवाडीह के बाजार निवासी मनोज प्रसाद की बेटी राजनंदनी की भारत वापसी हुई। वह बुधवार की सुबह दिल्ली से रांची जाने वाली गरीब रथ ट्रेन से डाल्टनगंज पहुंची।

इस दौरान राजनंदिनी के माता-पिता, हीरो शोरूम के मालिक मुकेश कुमार और स्थानीय पत्रकार रवि गुप्ता ने रेलवे स्टेशन पर स्वागत करते हुए शॉल भेंट कर सम्मानित किया। बरवाडीह पहुंचने के बाद प्रखंड विकास पदाधिकारी के निर्देश पर राजनंदनी और उनके पूरे परिवार का प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ आशीष रंजन के द्वारा कोविड-19 जांच किया गया। जहां सभी की रिपोर्ट नेगेटिव आई ।

यूक्रेन के कीव में कर रही थी एमबीबीएस

राजनंदनी यूक्रेन के किस शहर में एमबीबीएस की पढ़ाई कर रही थी। युक्रेन में युद्ध से हालात बिगड़ने के बाद वह लगातार भारतीय दूतावास के संपर्क में थी। भारतीय दूतावास की सहायता से रोमानिया लाई गई। जिसके बाद ऑपरेशन गंगा के तहत उसे भारत की सरकार की सहायता से सुरक्षित वापस भारत लाया गया। घर वापस आने के बाद राजनंदनी युद्ध के दौरान पूरे देश और अपने साथ गुजरे उन पलों को बताने का भी काम परिवार के लोगों और मौजूद लोगों के बीच किया गया।

परिवार के लोगों ने जताया सरकार का आभार

राजनंदिनी के यूक्रेन से वापस सुरक्षित भारत आने पर राजनंदनी के माता-पिता के द्वारा भारत सरकार के द्वारा चलाए गए ऑपरेशन गंगा को लेकर प्रधानमंत्री विदेश मंत्री का आभार व्यक्त करने के साथ-साथ स्थानीय सांसद सुनील सिंह और स्थानीय विधायक रामचंद्र सिंह का भी आभार व्यक्त किया गया ।

Barwadih Rajnandini Ukraine


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *