Breaking :
||नहीं रहे ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर दास, इलाज के दौरान तोड़ा दम||दुमका में मूर्ति विसर्जन के दौरान जय श्री राम के नारे बजाने को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प||मुख्यमंत्री ने लातेहार के कार्यपालक अभियंता पर अभियोजन चलाने की दी स्वीकृति||1932 के खतियान आधारित स्थानीयता वाले विधेयक को राज्यपाल ने लौटाया, कहा- सरकार वैधानिकता की करे समीक्षा||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने किया पतरातू गांव का दौरा, घटना की CID जांच की मांग||लातेहार: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो समुदायों में भिड़ंत, गांव पहुंचे विधायक और एसपी, माहौल तनावपूर्ण||ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री पर जानलेवा हमला, कार से उतरते ही ASI ने मारी गोली||मनिका: करोड़ों की लागत से हो रहे सड़क निर्माण में धांधली, बालू की जगह डस्ट से हो रही ढलाई||पड़ताल: गांव के दबंग ने ज़बरन रुकवाया PM आवास का निर्माण, 4 सालों से सरकारी बाबुओं के कार्यालय का चक्कर लगा रहा पीड़ित परिवार||लातेहार: बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट के सुरक्षा गार्ड की संदेहास्पद मौत, जांच जारी

चंदवा: पुलिस और झामुमो नेता की पहल पर दो पक्षों में गहराया विवाद सुलझा, बड़ी अनहोनी टली

लातेहार : चंदवा प्रखंड अंतर्गत माल्हन पंचायत के केकराही गांव में तालाब मरम्मत योजना को लेकर जितेंद्र गंझू, विजय गंझू और दूसरा पक्ष भीम गंझू, अर्जुन गंझू, गंगाधर गंझू, मंटू गंझू, जयमंगल गंझू, मनोज गंझू आमने-सामने आ गए।

पहले पक्ष जितेंद्र गंझू तालाब की जमीन पर दावा कर रहे थे, वहीं दूसरी तरफ भीम गंझू व अन्य इसे सरकारी जमीन बता रहे थे। इसे लेकर दोनों पक्षों के बीच विवाद और गहरा गया।

इसके समाधान के लिए ग्रामीणों ने गांव में ग्राम सभा भी की, लेकिन पहले पक्ष ने नहीं सुनी. यहां एक सप्ताह तक विवाद बढ़ता गया और मामले को लेकर पहला पक्ष थाने पहुंच गया। जिसके बाद दूसरे पक्ष के लोगों को भी थाने में बुलाया गया।

इसकी जानकारी ग्रामीणों ने झामुमो केंद्रीय समिति सदस्य दीपू कुमार सिन्हा को भी दी। श्री सिन्हा ने ग्रामीणों को थाने पहुंचने की सलाह दी। इसके बाद दूसरे पक्ष सहित गांव के सैकड़ों लोग ग्रामीण थाने पहुंचे। श्री सिन्हा ने पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी आशुतोष कुमार को मामले में उत्पन्न विवाद से अवगत कराया।

इसके बाद निरीक्षक सह थाना प्रभारी, झामुमो नेता व पंचायत समिति सदस्य कांति देवी, मुखिया मानती देवी, उप मुखिया बिरसी देवी समेत सैकड़ों ग्रामीणों की मौजूदगी में फिर बैठक हुई। इसमें दोनों पक्षों ने आपसी सहमति से उपजे विवाद को सुलझा लिया है। विवाद शांत होने के बाद ग्रामीणों ने राहत की सांस ली है।

बैठक में रूपलाल गंझू, बबीता देवी, रामकिशुन गंझू, लक्ष्मण गंझू, दिलीप गंझू, हरिलाल गंझू समेत सैकड़ों ग्रामीण मौजूद थे।

लातेहार की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें