Breaking :
||झारखंड में धूमधाम से मनाया गया प्रकृति का पर्व सरहुल, निकाली गयी भव्य शोभायात्रा||झारखंड: सुरक्षाबलों के दबिश का परिणाम, दो महिला नक्सली समेत 15 माओवादियों ने एक साथ किया सरेंडर||पलामू: प्रेम प्रसंग में युवक की हत्या, शव फंदे से लटकाया!||चतरा: TSPC के उग्रवादियों ने बालू माफियाओं को अवैध खनन बंद करने की दी चेतावनी||पलामू में दो मादक पदार्थ तस्करों को 10-10 साल सश्रम कारावास की सजा, एक-एक लाख रुपये का जुर्माना||पलामू में अवैध शराब की खेप के साथ तस्कर गिरफ्तार, बिहार में खपाने की थी तैयारी, कार जब्त||शहरी जलापूर्ति योजना से 20 करोड़ रुपये गबन करने का आरोपी PHED कर्मचारी गिरफ्तार||लातेहार: आगामी त्योहारों के दौरान बिजली संबंधी समस्याओं एवं आपात स्थिति से निपटने के लिए मोबाइल नंबर जारी||सांप्रदायिक सौहार्द्र में खलल डालने वाले तत्वों के खिलाफ होगी सख्त कार्रवाई, DJ संचालकों से भरवाये जायेंगे बांड||झामुमो ने राजमहल और सिंहभूम लोकसभा सीट से उतारे उम्मीदवार
Friday, April 12, 2024
बरवाडीहलातेहार

जंगल में जलावन लेने गयी महिलाओं से वनरक्षी ने की मारपीट, मामला पहुंचा थाने

latehar barwadih forest guard

शशि शेखर/बरवाडीह

लातेहार : शुक्रवार को बरवाडीह थाना क्षेत्र अंतर्गत छेचा के लगभग आधे दर्जन से अधिक महिलाओं ने सामाजिक कार्यकर्ता कन्हाई सिंह के साथ थाने पहुँच कर छिपादोहर वन क्षेत्र के वन रक्षी अमृतलाल खाखा पर होरीलॉग के जंगल से जलावन चुनकर लाने के दौरान युवतियों और महिलाओं के साथ मारपीट करने और अभद्र व्यवहार करने का आरोप लगाकर लिखित शिकायत दर्ज कराई है।

मामले को लेकर पीड़ित महिला मानती देवी पति राजेन्द्र सिंह ने बताया की गुरुवार की सुबह घर के जलावन औऱ अन्य काम को लेकर गांव की महिलाओं के साथ सूखा जलावन चुने गई थी। जिस क्रम में जंगल में ही वन विभाग के वंरक्षी अमृतलाल खाखा अपने तीन सहयोगियों के साथ पहुंच गया और हम लोगों से जलावन की सूखी लकड़ियां और टागी को छीन ते हुए धक्का देकर मुझे गिरा दिया और उसके बाद टागी की बेट से मेरे कमर पर कई बात मारते हुए भद्दी भद्दी गालियां देने लगे।

वही इस क्रम में हमारे साथ गई गांव की कुछ अन्य युवतियों के साथ भी धक्का-मुक्की और अभद्र व्यवहार करते हुए उनके जलावन और टागी को छीन कर धमकी दी जाने लगी। जिसके बाद हम सभी वहां से भय से भागे भागे अपने गांव पहुंच गए और पूरे मामले की जानकारी अपने परिवार और आसपास के लोगों को दिए जिसे हम सभी भय में हो गई।

मामले को लेकर आरोपी वनरक्षी अमृत लाल खाखा पूरे आरोप को निराधार बताया है। महिलाओ के साथ सिर्फ उन्हें लकड़ी ले जाने से रोकने औऱ उनके टागी को जप्त किया गया। इस दौरान किसी भी तरह का गलत व्यव्हार नही हुआ है।

उधर मामले को लेकर डीएफओ कुमार आशीष ने बताया कि मामले को लेकर जानाकरी मिली है पूरे मामले की जॉच की जा रही है उसके बाद ही कुछ स्पष्ट कहा जायेगा।

वही थाना प्रभारी श्रीनिवास सिंह ने बताया की मामले को लेकर महिलाए थाने आई है आवेदन मिला है। जिसकी जाँच की जा रही है।

वही मामले पर सामाजिक कार्यकर्ता कन्हाई सिंह ने कहा कि ग्रामीणों के द्वारा वन क्षेत्र से जलावर के लकड़ी लेकर आना कोई बड़ा अपराध नहीं है। अगर यह अपराध था तो विभाग के द्वारा अपनी कार्रवाई करनी चाहिए थी। इस तरह से दबंगई दिखाकर हमारे क्षेत्र की महिलाओं को अपमानित करना उनके साथ मारपीट करना किसी हालत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

latehar barwadih forest guard


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *