Breaking :
||झारखंड से कोरोना की विदाई, सभी जिले कोरोना मुक्त घोषित||झारखंड: प्रमाण पत्र सत्यापन नहीं कराने वाले सहायक अध्यापक होंगे कार्यमुक्त||झारखंड में Suo-Moto Online Mutation की ऐतिहासिक शुरुआत, अब जमीन रजिस्ट्री के बाद म्यूटेशन के लिए नहीं देना पड़ेगा आवेदन||झारखंड प्रशासनिक सेवा के 14 अधिकारियों को मिली अपर सचिव के पद पर पदोन्नति||लातेहार: कब्र से निकाले गये शव की गुत्थी महुआडांड़ पुलिस ने सुलझाया, सास, ससुर व साले ने पीट-पीटकर की थी हत्या||लातेहार: आदिवासी मुख्यमंत्री के कार्यकाल में आदिवासी की मौत के बाद नहीं मिली एंबुलेंस, ठेले पर ले गया शव||पलामू में भाकपा माओवादी के सब जोनल कमांडर नारायण यादव गिरफ्तार||चतरा में भाकपा माओवादी के एरिया कमांडर ने किया पुलिस के सामने सरेंडर||लातेहार: सात दिन पूर्व दफनाये गये शव को महुआडांड़ पुलिस ने कब्र से निकलवाया, हत्या की आशंका||लातेहार : गैंगस्टर गोपाल शार्क शूटर के नाम से पोस्टर चस्पा कर दी चेतावनी, सभी को देनी होगी रंगदारी, दो दिन लातेहार व चंदवा बंद रखने की धमकी

माले विधायक विनोद सिंह ने सदन में उठाया आदिवासी युवक की पिटाई का मामला, संबंधित पुलिसकर्मियों पर की कारवाई की मांग

गोपी कुमार सिंह/लातेहार

लातेहार : जिले के गारू थाना प्रभारी रंजीत कुमार यादव ने नक्सलियों का मददगार बताकर कुकु गांव निवासी 42 वर्षीय आदिवासी किसान अनिल सिंह की जमकर पिटाई कर दी थी. इस पिटाई से अनिल सिंह के शरीर के पिछले हिस्से में चोट के गहरे निशान पड़ गये थे। .

पुलिस की इस कारवाई से जहाँ ग्रामीणों में दहशत का माहौल है. वही सामाजिक, राजनीतिक समेत अन्य लोग भी इस कारवाई की कड़ी निंदा कर रहे है.

इधर, इस मामले को लेकर माले विधायक विनोद सिंह ने सदन में सवाल उठाया है. विधायक श्री सिंह ने कहा पुलिस बेवजह आदिवासी किसान अनिल सिंह को घर से उठाकर थाने ले जाती है और वहाँ नक्सलियों का सहयोगी बताकर उसे बड़ी बेरहमी से पिटाई करते हैं और बाद में यहकर छोड़ देते हैं कि गलती से तुमको उठाकर ले आये है. थानाध्यक्ष पीड़ित से यह कहते है कि पिटाई की बात किसी से मत कहना तुम्हे दवा का पैसा मिल जाएगा।

श्री सिंह ने कहा इसी गारू थाना क्षेत्र के गनईखाड़ में सुरक्षा बलों ने गलती से आदिवासी युवक ब्रह्मदेव सिंह की हत्या कर दी थी. उस मामले की भी अबतक जांच पूरी नही हुई है और न ही किसी पर कारवाई हुई है. और अब यह दूसरी घटना हुई है.

अखबार में अनिल सिंह की लहूलुहान तस्वीर छपी है. सरकार तत्काल इस पूरे मामले पर कारवाई करे साथ ही पीड़ित को मुआवजा दे। और तत्काल थाना प्रभारी पर कठोर कारवाई करे। बहरहाल इस पूरे मामले को लेकर एक जांच टीम का गठन किया है, जो इस मामले की जांच कर वरीय पुलिस पदाधिकारी को रिपोर्ट सौंपेगी।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *