Breaking :
||पलामू में जन वितरण प्रणाली दुकानदार की गोली मारकर हत्या, पुलिस कर रही जांच||लातेहार: युवक हत्याकांड का खुलासा, भाभी ने ही करा दी देवर की हत्या, दो आरोपी गिरफ्तार||थर्ड रेल लाइन निर्माण कार्य में लगी कंपनी के साइट पर नक्सलियों का उत्पात, फायरिंग कर जेसीबी में लगायी आग||दुर्गा पूजा पर आयोजित कार्यक्रम देख लौट रही नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म||हजारीबाग: तीर्थयात्रियों से भरे बस और ट्रक की सीधी टक्कर में 4 की मौत, 30 घायल||लातेहार: ढाबा चलाने की आड़ में अफीम व डोडा पाउडर बेचने के आरोप में ढाबा संचालक गिरफ्तार||रांची: गैस रिफिलिंग की दुकान में रखे सिलेंडर में हुए विस्फोट से चार दुकानें जलकर राख||चतरा में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़, भारी मात्रा में सामान और हथियार बरामद||लातेहार: दशहरा व दुर्गा पूजा को लेकर मिठाई व फास्ट फूड दुकानों की हुई जांच, पांच दुकानों पर कार्रवाई, लगा जुर्माना||पलामू सिविल सर्जन 50 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार, बिल भुगतान के एवज में मांगी थी रिश्वत

माओवादियों का सहयोगी बताकर आदिवासी किसान की पिटाई मामले में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने लिया संज्ञान, दोषियों पर कारवाई का दिया आदेश

'

Latehar News Hemant Soren

गोपी कुमार सिंह/लातेहार

लातेहार : जिले के गारू थाना प्रभारी रंजीत कुमार यादव के द्वारा माओवादियों का मददगार बताकर गारू थाना क्षेत्र के कुकु गांव निवासी 42 वर्षीय आदिवासी किसान अनिल सिंह की पिटाई मामले में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने संज्ञान लिया है.

संबंधित मामले को लेकर अविनाश चंचल नामक ट्विटर यूजर के पोस्ट को मुख्यमंत्री ने झारखंड पुलिस को टैग कर कहा है कि मामले का तत्काल संज्ञान लेते हुए दोषियों के खिलाफ कड़ी कारवाई करते हुए सूचित करें।

गौरतलब हो कि थाना प्रभारी के द्वारा अनिल सिंह की पिटाई से उसके शरीर के पिछले हिस्सों में कई गहरे निशान पड़ गये हैं. घटना बुधवार अर्द्धरात्रि की है.

अनिल का आरोप है कि बुधवार की रात तकरीबन एक बजे गारू थाना प्रभारी उसके घर आये और उसे थाने लेकर जाकर पार्टी वाले को मदद करने का आरोप लगाते हुए लगभग तीन से चार सौ लाठियां उसके शरीर के पिछले हिस्से में मारी गयी. जिससे उसके शरीर पर कई निशान बन गये हैं.

अनिल ने कहा कि थाना प्रभारी ने पिटाई करने के बाद कहा कि गलती से तुम्हें थाना लाया गया था. थाना प्रभारी ने उसे इलाज का खर्च देने की बात कहकर छोड़ दिया था.

बहरहाल पूरे मामले को लेकर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन सख्त नजर आ रहे है. उन्होंने जांचकर दोषियों पर कड़ी कारवाई का आदेश दिया है. अब यह देखना दिलचस्प होगा कि आरोपी थानेदार रंजीत कुमार यादव पर क्या कुछ कार्रवाई होती है।

Latehar News Hemant Soren


Leave a Reply

Your email address will not be published.