Breaking :
||Jharkhand: प्रेमी ने पांच माह की गर्भवती प्रेमिका को गला दबाकर मार डाला||कोयला लदे हाइवा व ट्रक की भीषण टक्कर में दोनों चालकों की दर्दनाक मौत||रांची: असामाजिक तत्वों ने मेन रोड स्थित हनुमान मंदिर में की तोड़फोड़, प्रतिमा क्षतिग्रस्त||बालूमाथ: वज्रपात की चपेट में आने से पत्नी की मौत, पति समेत दो घायल||पातम-डाटम जलप्रपात में डूबे दोनों युवकों के शव बरामद, प्रशासनिक उदासीनता से ग्रामीणों में आक्रोश||तीन माह की गर्भवती महिला से छह अपराधियों ने पति के सामने किया सामूहिक दुष्कर्म, सभी आरोपी गिरफ्तार||लातेहार: माइंस खोलने को लेकर भूमि पूजन करने मंगरा गांव पहुंची डीवीसी कंपनी का विरोध, दो पक्षों में जमकर मारपीट, आधा दर्जन लोग घायल||लातेहार: नाबालिग से दुष्कर्म कर बनाया वीडियो, वायरल करने की धमकी दे करता रहा दुष्कर्म, ग्रामीणों ने पिटायी कर पुलिस को सौंपा||BREAKING: बालूमाथ में मधुमक्खियों ने फिर किया हमला, एक आदिवासी महिला की मौत, छह घायल||लातेहार: पातम-डाटम जल प्रपात घूमने आये दो युवकों की नहाने के दौरान नदी में डूबने से मौत

लातेहार: 2017 से लापता है रिटार्यड आर्मी का जवान, 5 साल बीत जाने के बाद भी नही मिला कोई सुराग, परिजनों ने सरकार से लगाई मदद की गुहार

'

latehar news army missing

गोपी कुमार सिंह/लातेहार

तंगहाली में जीवन यापन कर रहा है परिवार

लातेहार : जिले के गारू थाना क्षेत्र अंतर्गत महुआडाबर निवासी आर्मी रिटार्यड 70 वर्षीय कॉर्नलिउस बखला पिछले पांच साल से लापता है। परिजनों के द्वारा काफी खोजबीन किये जाने के बाद भी अबतक उक्त जवान का कोई सुराग नही मिला है। जिससे परिजनों के ऊपर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है।

इस संबंध में लापता जवान की पत्नी फ्रांसिस्का बखला ने बताया कि आर्मी से रिटार्यड होने के बाद वह घर पर ही रहा करते थे.इस बीच उनकी मानसिक स्थिति खराब हो गयी। काफी इलाज करवाने के बाद भी वह ठीक नही हुए।

आगे बताया कि एक दिन अचानक बिना किसी को बताए घर से निकल गए। उसके बाद से अबतक उनका कोई पता नही चल सका है। हमने गुमशुदगी की रिपोर्ट गारू थाना में दर्ज करवाई थी। लेकिन सालों बाद भी कुछ पता नही लग पाया है।

इधर, पति के लापता होने के बाद कॉर्नलिउस बखला के बैंक खाता के माध्यम से प्राप्त हो रही पेंशन की राशि भी बंद कर दी है। जिससे दो बच्चों की पढ़ाई अंधड़ में अटक गई है। उनका भविष्य अब अंधकार में जाता हुआ दिख रहा है।

आगे बताया कि घर की स्थिति भी बेहद ख़राब है। किसी तरह मजदूरी कर दो वक्त की रोटी का जुगाड़ तो हो जा रहा है, लेकिन आगे का जीवन चलाना काफी मुश्किलों भरा हो सकता है। अगर तत्काल पेंशन की राशि शुरू कर दी जाती है, तो काफी हद तक मुश्किलों से निजात मिल जाती।

इधर, लापता युवक के पुत्र पंकज बखला ने बताया कि हमलोग पिता के पेंशन पर पूरी तरह आधारित थे। लेकिन पेंशन नही मिलने से घर की आर्थिक स्थिति बेहद खराब है। पंकज ने सरकार से मदद की गुहार लगाते हुए कहा अगर पेंशन शुरू कर दी जाती है तो हमलोगों को काफी हद तक राहत मिल जाती।

जानकारी देते चले कि रिटायर्ड आर्मी जवान का पूरा परिवार मिट्टी के एक कच्चे मकान में गुजर बसर कर रहा है। घर का ख़र्च बड़ा बेटा पंकज के जिम्मे है, वह किसी तरह घरवालों की पेट भर रहा है। ऐसे में सरकारी तंत्र को इसे गंभीरता से लेते हुए परिवार को पेंशन की राशि मुहैया कराने में मदद करने की जरूरत है।

यदि देश की सेवा करने वाला एक आर्मी रिटार्यड जवान का परिवार तंगहाली में जीवन यापन कर रहा है, तो लातेहार जिले और इस झारखंड राज्य के लिए बहुत बड़ी विडंबना है।

latehar news army missing

https://thenewssense.in/category/latehar

https://www.facebook.com/newssenselatehar


Leave a Reply

Your email address will not be published.