Breaking :
||नहीं रहे ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर दास, इलाज के दौरान तोड़ा दम||दुमका में मूर्ति विसर्जन के दौरान जय श्री राम के नारे बजाने को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प||मुख्यमंत्री ने लातेहार के कार्यपालक अभियंता पर अभियोजन चलाने की दी स्वीकृति||1932 के खतियान आधारित स्थानीयता वाले विधेयक को राज्यपाल ने लौटाया, कहा- सरकार वैधानिकता की करे समीक्षा||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने किया पतरातू गांव का दौरा, घटना की CID जांच की मांग||लातेहार: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो समुदायों में भिड़ंत, गांव पहुंचे विधायक और एसपी, माहौल तनावपूर्ण||ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री पर जानलेवा हमला, कार से उतरते ही ASI ने मारी गोली||मनिका: करोड़ों की लागत से हो रहे सड़क निर्माण में धांधली, बालू की जगह डस्ट से हो रही ढलाई||पड़ताल: गांव के दबंग ने ज़बरन रुकवाया PM आवास का निर्माण, 4 सालों से सरकारी बाबुओं के कार्यालय का चक्कर लगा रहा पीड़ित परिवार||लातेहार: बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट के सुरक्षा गार्ड की संदेहास्पद मौत, जांच जारी

वन विभाग ने ग्रामीणों से की जंगल को आग से बचाने की अपील, ग्रामीणों में बांटी फायर ब्लोअर मशीन

Palamu Tiger Reserve Forest Fire

गोपी कुमार सिंह/लातेहार

लातेहार : गर्मी का मौसम शुरू होते ही जंगलों में आग लगने का सिलसिला शुरू हो जाता है। हाल के दिनों में पीटीआर के तहत कुछ ऐसी घटनाएं भी हुई हैं। जंगल की आग से वन संपदा को बहुत नुकसान होता है। ऐसे में जंगलों को आग से बचाना वन विभाग के सामने बड़ी चुनौती है।

जंगल को आग से बचाने के लिए वन विभाग के अधिकारी व वन कर्मी जंगलों में लगने वाली आग से निपटने को लेकर कमर कश चुके है। पलामू टाइगर रिजर्व के तिसिया गांव में वनपाल सह इको विकास समिति के सचिव परमजीत तिवारी ने गांव के ग्रामीणों के साथ बैठकर आग पर काबू पाने के मुद्दे पर चर्चा की, साथ ही आग बुझाने के लिए ग्रामीणों को विभिन्न प्रकार की जानकारी दी।

परमजीत तिवारी ने बताया कि गर्मी के साथ-साथ महुआ का भी मौसम आ गया है। ऐसे में जंगल में आग लगने की संभावना और भी बढ़ जाती है। की महुआ के कारण ग्रामीण जंगल मे आग लगाते है और वही आग भयावह रूप ले लेती है। जिससे वन संपदा को काफी नुकसान होता है। इन सभी मुद्दों पर ग्रामीणों से चर्चा करने के बाद आग से जंगल व वन्य जीवों को हुए नुकसान की जानकारी साझा की गई है। इसके साथ ही ग्रामीणों से भी अपील है कि गांव वाले बेवजह आग न लगाएं और अगर आसपास कहीं भी आग लगे तो उसे रोकने का प्रयास करें।

परमजीत तिवारी ने कहा कि पीटीआर के बारेसाढ़ रेंज के तहत हर गांव के ग्रामीणों को इस सामान्य में जानकारी दी जा रही है. जिन गांवों में हमारी टीम नहीं पहुंची है। वनकर्मी वहां जाने के बाद भी ग्रामीणों को आग पर काबू पाने और आग न लगाने की जानकारी देंगे। वन विभाग की ओर से परमजीत तिवारी ने आग पर काबू पाने के लिए तिसिया गांव के ग्रामीणों के बीच 8 नए फायर ब्लोअर बांटे हैं।

उन्होंने कहा कि बारेसाढ़ रेंज में काम करने वाले विभिन्न ट्रैकर, गार्डों और जंगल में या उसके आसपास गश्त कर रहे हैं उनके बीच फायर ब्लोअर मशीन, सत्तू, गुड़, पानी की बोतल, टार्च, जूता और अन्य आवश्यक चीजें उपलब्ध कराई गईं हैं। बाकी कर्मियों को भी ये सभी जरूरी चीजें उपलब्ध कराई जाएंगी।

वन विभाग द्वारा दूरदर्शिता और समय पर उठाए गए उपाय जंगल की आग से निपटने में कारगर साबित हो सकते हैं। पीटीआर के जंगलों में लगी आग को बुझाने के लिए टीमें तैयार कर ली गई हैं। परमजीत तिवारी ने कहा कि वन विभाग पूरी टीम के साथ और मशीन के जरिए आग बुझाने के लिए तैयार है। साथ ही ग्रामीणों से भी संपर्क किया जा रहा है और आग पर काबू पाने और आग न लगाने की अपील की जा रही है।

Palamu Tiger Reserve Forest Fire


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *