Breaking :
||लातेहार: लापरवाह वाहन चालक हो जायें सावधान! कल से पुलिस चलायेगी जिलेभर में सघन वाहन चेकिंग अभियान||झारखंड की नाबालिग लड़की के साथ अमानवीय व्यवहार करने वालों के खिलाफ मुख्यमंत्री ने दिये सख्त कार्रवाई के आदेश||लातेहार: बालूमाथ में ट्यूशन पढ़ाकर घर लौट रहे शिक्षक की सड़क दुर्घटना में मौत||हेमंत सरकार ने खिलाड़ियों के सर्वांगीण विकास को लेकर की जोहार खिलाड़ी स्पोर्ट्स इंटीग्रेटेड पोर्टल की शुरुआत, खिलाड़ियों की समस्याओं के निराकरण में होगा सहायक||रामगढ़, चतरा व लातेहार में कोयला कारोबारियों पर जानलेवा हमला करने वाले TSPC के चार उग्रवादी गिरफ्तार, एक लातेहार का||अब राज्य के सरकारी शिक्षकों को ‘लीव मैनेजमेंट मॉड्यूल’ के माध्यम से ही मिलेगी छुट्टी, अन्य माध्यमों से दिये गये आवेदन होंगे रद्द||लातेहार: बालूमाथ में हुई विवाहिता हत्याकांड का खुलासा, चार अभियुक्तों ने मिलकर की थी बेरहमी से हत्या||पलामू: शहर में बिना अनुमति के जुलूस निकालने पर होगी कार्रवाई, रात 10 बजे के बाद डीजे बजाने पर रोक||लातेहार: मवेशियों से लदा ट्रक दुर्घटनाग्रस्त, ग्रामीणों ने एक तस्कर को पकड़ कर किया पुलिस के हवाले, डाल्टनगंज से खरीद कर रांची के मांस कारोबारी को जा रहे थे पहुंचाने||प्रेमिका से वीडियो कॉल पर बात करते प्रेमी ने दे दी जान

लातेहार: दलालों का अड्डा बनी गारू SBI की शाखा, उपभोक्ता को करते है दिग्भ्रमित

गोपी कुमार सिंह/लातेहार

लातेहार : भारतीय स्टेट बैंक की गारू शाखा दलालों के कारण लगातार चर्चा में है। शाखा में पानी पीने वालों से लेकर सफाईकर्मी तक खुद को शाखा प्रबंधक से कमतर नहीं समझते हैं। शाखा प्रबंधक जब नए थे तो सुधार देखने को मिला। लेकिन अब ताजा मामला कुछ और ही कहानी बयां कर रहा है। जिसकी सबसे बड़ी वजह यह है कि प्रखंड मुख्यालय के कई बड़े कारोबारी शाखा के अंदर गोपनीय स्थानों में घुसकर फाइलों से छेड़छाड़ करते हैं। जेनरेटर ऑपरेटर, कैंटीन बॉय से लेकर बैंक के ग्राहकों को काम दिलाने के एवज में लोग लगातार पैसे की उगाही कर रहे हैं।

बारेसांढ़ निवासी लक्ष्मणिया देवी ने बताया कि पिछले तीन माह से बैंक के दलाल उनके सीएसपी में खोले गए खाते को बंद कर एसबीआई के खाते में राशि डालने के लिए गुमराह कर रहे हैं। महिला लगातार बैंक पहुंच रही है। महिला का आरोप है कि बैंक पासबुक नहीं दे रहा है। वह पूरी तरह परेशान है। वह करीब आठ से दस हजार रुपये बैंक आने-जाने में खर्च कर चुकी है।

गौरतलब है कि गारू एसबीआई पासबुक नहीं दे रहा है। इसलिए शाखा द्वारा स्वीकृत सीएसपी में पासबुक तैयार की जा रही है। आए दिन शाखा में लिंक फेल बोर्ड लगाकर दलालों द्वारा निजी काम किया जाता है। वहीं सैकड़ों ग्राहक पासबुक नहीं बनने से नाराज हैं। उनका कहना है कि एक तरफ तो आने-जाने का किराया आसमान छू रहा है और बैंक आये दिन काम नहीं करता है।

Garu SBI branch