Breaking :
||पलामू में जन वितरण प्रणाली दुकानदार की गोली मारकर हत्या, पुलिस कर रही जांच||लातेहार: युवक हत्याकांड का खुलासा, भाभी ने ही करा दी देवर की हत्या, दो आरोपी गिरफ्तार||थर्ड रेल लाइन निर्माण कार्य में लगी कंपनी के साइट पर नक्सलियों का उत्पात, फायरिंग कर जेसीबी में लगायी आग||दुर्गा पूजा पर आयोजित कार्यक्रम देख लौट रही नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म||हजारीबाग: तीर्थयात्रियों से भरे बस और ट्रक की सीधी टक्कर में 4 की मौत, 30 घायल||लातेहार: ढाबा चलाने की आड़ में अफीम व डोडा पाउडर बेचने के आरोप में ढाबा संचालक गिरफ्तार||रांची: गैस रिफिलिंग की दुकान में रखे सिलेंडर में हुए विस्फोट से चार दुकानें जलकर राख||चतरा में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़, भारी मात्रा में सामान और हथियार बरामद||लातेहार: दशहरा व दुर्गा पूजा को लेकर मिठाई व फास्ट फूड दुकानों की हुई जांच, पांच दुकानों पर कार्रवाई, लगा जुर्माना||पलामू सिविल सर्जन 50 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार, बिल भुगतान के एवज में मांगी थी रिश्वत

लातेहार: पुलिस ने उग्रवादी संगठन TSPC के सबजोनल कमांडर व एरिया कमांडर समेत तीन को मार गिराया

'

लातेहार : जिला पुलिस ने आज एक बड़ी सफलता हासिल की है। सदर थाना क्षेत्र अंतर्गत पोचरा पंचायत के कहुआखांड जंगल में पुलिस और टीएसपीसी उग्रवादियों के बीच मुठभेड़ हुई। इस मुठभेड़ में पुलिस ने तीन हार्डकोर उग्रवादियों को मार गिराया है। पुलिस ने मुठभेड़ के बाद चलाये गए सर्च अभियान में भारी मात्रा में हथियार भी बरामद किये हैं।

मारे गए उग्रवादियों की प्रारंभिक पहचान टीएसपीसी उग्रवादी संगठन का सब जोनल कमांडर एक, एक एरिया कमांडर एवं एक दस्ता सदस्य के रूप में हुई है। इनके विस्तृत रूप से पहचान की कार्रवाई की जा रही है।

प्रेस को जानकारी देते हुए पुलिस ने बताया कि जिला पुलिस अधीक्षक अंजनी अंजन को गुप्त सूचना मिली थी कि पोचरा पंचायत के हेसलबार और मारबार जंगल में टीएसपीसी के राकेश गंझू उर्फ राकेश भोक्ता उर्फ विराज, राजेश उरांव, जितेंद्र यादव एवं नथुनी का दस्ता 10-12 सदस्यों के साथ भ्रमणशील है।

मिली गुप्त सूचना के आधार पर जिला पुलिस बल एवं झारखंड जगुआर को लेकर एक टीम का गठन किया गया। गठित टीम ने टीएसपीसी उग्रवादियों के विरुद्ध जंगल में छापामारी अभियान चलाया।

इस दौरान टीएसपीसी और पुलिस के बीच कहुआखाड़ जंगल में मुठभेड़ हुई। मुठभेड़ में पुलिस एवं सशस्त्र बल को भारी पड़ता देख उग्रवादी दुर्गम व पहाड़ी जंगल का लाभ उठाकर भागने में सफल रहे।

आगे बताया कि इसके बाद पुलिस ने जंगल में सर्च अभियान चलाया। सर्च अभियान के दौरान पुलिस ने टीएसपीसी उग्रवादियों के तीन शव बरामद किए। प्रारंभिक पहचान टीएसपीसी उग्रवादी संगठन का सब जोनल कमांडर एक, एक एरिया कमांडर एवं एक दस्ता सदस्य के रूप में हुई है। इनके विस्तृत रूप से पहचान की कार्रवाई की जा रही है।

साथ ही सर्च अभियान के क्रम में पुलिस ने घटनास्थल से हथियार एवं अन्य सामग्री भी बरामद किया हैं। पुलिस ने बताया कि घटनास्थल के आसपास काफी मात्रा में खून के धब्बे पाए गए हैं। जिससे प्रतीत होता है कि इस मुठभेड़ में कई अन्य उग्रवादियों को गोली लगी है। जिनके भागने की दिशा में सर्च अभियान चलाया जा रहा है।

बरामद हथियार :-

7.62 एसएलआर राइफल एक, एसएलआर मैगजीन एक, 7.62 एमएम जिंदा गोली 26, 5.56 इंसास मैगजीन एक, कारतूस 15, AK47 का ज़िंदा गोली 8, AK47 का खोखा 3, AK47 का टूटा मैगजीन एक, मैगजीन पाउच एक समेत अन्य सामग्री बरामद किया गया है।

image – file photo


Leave a Reply

Your email address will not be published.