Breaking :
||Jharkhand: प्रेमी ने पांच माह की गर्भवती प्रेमिका को गला दबाकर मार डाला||कोयला लदे हाइवा व ट्रक की भीषण टक्कर में दोनों चालकों की दर्दनाक मौत||रांची: असामाजिक तत्वों ने मेन रोड स्थित हनुमान मंदिर में की तोड़फोड़, प्रतिमा क्षतिग्रस्त||बालूमाथ: वज्रपात की चपेट में आने से पत्नी की मौत, पति समेत दो घायल||पातम-डाटम जलप्रपात में डूबे दोनों युवकों के शव बरामद, प्रशासनिक उदासीनता से ग्रामीणों में आक्रोश||तीन माह की गर्भवती महिला से छह अपराधियों ने पति के सामने किया सामूहिक दुष्कर्म, सभी आरोपी गिरफ्तार||लातेहार: माइंस खोलने को लेकर भूमि पूजन करने मंगरा गांव पहुंची डीवीसी कंपनी का विरोध, दो पक्षों में जमकर मारपीट, आधा दर्जन लोग घायल||लातेहार: नाबालिग से दुष्कर्म कर बनाया वीडियो, वायरल करने की धमकी दे करता रहा दुष्कर्म, ग्रामीणों ने पिटायी कर पुलिस को सौंपा||BREAKING: बालूमाथ में मधुमक्खियों ने फिर किया हमला, एक आदिवासी महिला की मौत, छह घायल||लातेहार: पातम-डाटम जल प्रपात घूमने आये दो युवकों की नहाने के दौरान नदी में डूबने से मौत

लोहरदगा में माओवादी रवींद्र गंझू के दस्ते के एरिया कमांडर ने किया सरेंडर

'

Area commander of Maoist Ravindra Ganjhu’s

लोहरदगा : ‘नई दिशा’ के तहत माओवादी संगठन के एरिया कमांडर सूरजनाथ खेरवार ने लोहरदगा के बक्सीडिपा स्थित न्यू पुलिस लाइन में बुधवार को सरेंडर कर दिया। डीसी-एसपी के सामने नक्सली ने सरेंडर किया।

सरेंडर के दौरान सरकार की नीति के तहत दी जाने वाली राशि में से हार्डकोर नक्सली को एक लाख रुपये का चेक और गुलदस्ता भेंट किया गया। नक्सली सूरजनाथ ने आत्मसमर्पण करने के बाद अन्य नक्सलियों से भी बंदूक छोड़कर सरकार की मुख्यधारा में शामिल होने की अपील की है।

हार्डकोर नक्सली पेशरार थाना अंतर्गत बुलबुल गांव निवासी बालकिशुन खेरवार का पुत्र है। नक्सली सूरजनाथ मुख्यधारा से भटककर संगठन में शामिल हो गया था। नक्सली सूरजनाथ पर पेशरार थाना के अलावा सेरेंगदाग, बिशुनपुर और चंदवा थाना में कई मामले दर्ज हैं।

मौके पर डीसी वाघमारे प्रसाद कृष्ण ने कहा कि सरकार की नीति चरमपंथी संगठन के लिए बेहद फायदेमंद है, जो मुख्यधारा से जुड़ने का मौका देती है। कहा कि अन्य उग्रवादियों को सरकार की नीति के तहत इस धारा में शामिल होकर अपनी जिंदगी सुधारने का मौका दिया जाएगा। साथ ही कहा कि यह योजना उन उग्रवादियों के लिए वरदान साबित होगी, जो मुख्यधारा से जुड़कर परिवार का भविष्य संवारने का काम कर सकते हैं।

वहीं एसपी प्रियंका मीणा ने बताया कि डबल बुल ऑपरेशन के तहत अति नक्सल प्रभावित क्षेत्र में जिला पुलिस जगुआर, कोबरा, सैट द्वारा लगातार उग्रवादियों के खिलाफ तलाशी अभियान चलाया जा रहा है. जिसमें मुठभेड़ के दौरान कुछ आतंकियों की जान चली गई और माओवादी संगठन के कुछ उग्रवादियों को गिरफ्तार किया गया.

इसे देखते हुए माओवादी संगठन के एरिया कमांडर सूरजनाथ खेरवार रवींद्र गंजू के दस्ते से बाहर निकल आए और खुद को बचाते हुए प्रशासन के सामने सरेंडर कर दिया। एसपी ने कहा कि डबल बुल अभियान का नाम बुलबुल गांव के नाम पर रखा गया है। इसके तहत नक्सलियों को उन वन क्षेत्रों में संयुक्त तलाशी अभियान में करारा जवाब दिया गया।

Area commander of Maoist Ravindra Ganjhu’s