Breaking :
||पलामू में जन वितरण प्रणाली दुकानदार की गोली मारकर हत्या, पुलिस कर रही जांच||लातेहार: युवक हत्याकांड का खुलासा, भाभी ने ही करा दी देवर की हत्या, दो आरोपी गिरफ्तार||थर्ड रेल लाइन निर्माण कार्य में लगी कंपनी के साइट पर नक्सलियों का उत्पात, फायरिंग कर जेसीबी में लगायी आग||दुर्गा पूजा पर आयोजित कार्यक्रम देख लौट रही नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म||हजारीबाग: तीर्थयात्रियों से भरे बस और ट्रक की सीधी टक्कर में 4 की मौत, 30 घायल||लातेहार: ढाबा चलाने की आड़ में अफीम व डोडा पाउडर बेचने के आरोप में ढाबा संचालक गिरफ्तार||रांची: गैस रिफिलिंग की दुकान में रखे सिलेंडर में हुए विस्फोट से चार दुकानें जलकर राख||चतरा में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़, भारी मात्रा में सामान और हथियार बरामद||लातेहार: दशहरा व दुर्गा पूजा को लेकर मिठाई व फास्ट फूड दुकानों की हुई जांच, पांच दुकानों पर कार्रवाई, लगा जुर्माना||पलामू सिविल सर्जन 50 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार, बिल भुगतान के एवज में मांगी थी रिश्वत

रिम्स जाते समय दिल्ली एयरपोर्ट पर फिर बिगड़ी लालू की तबीयत, एम्स ने लौटाने के बाद उन्हें फिर से इमरजेंसी में किया भर्ती

'

लालू प्रसाद यादव की बिगड़ी तबीयत

पांच डॉक्टरों की टीम कर रही इलाज

लालू प्रसाद यादव की तबीयत एक बार फिर खराब हो गई है। जिसके बाद उन्हें एम्स की इमरजेंसी में रखा गया है। उनकी किडनी और कई अहम टेस्ट किए जा चुके हैं और टेस्ट रिपोर्ट का इंतजार है। लालू प्रसाद रांची जाने के लिए दिल्ली एयरपोर्ट पहुंचे थे, लेकिन वहां अचानक उनकी तबीयत बिगड़ने लगी। इसके बाद उन्हें एम्स ले जाया गया है। अब एम्स में पांच डॉक्टरों की टीम उनका इलाज कर रही है।

एम्स ने लालू प्रसाद को भर्ती करने से कर दिया था मना

इससे पहले बुधवार सुबह एम्स ने लालू प्रसाद को भर्ती करने से मना कर दिया था और उन्हें रांची रिम्स में ही इलाज कराने की सलाह दी थी। जिसके बाद लालू प्रसाद रांची लौटने के लिए दिल्ली एयरपोर्ट गए। लेकिन एयरपोर्ट पर ही उनकी तबीयत बिगड़ने लगी। तब एम्स ने उन्हें भर्ती करने की अनुमति दी थी, जिसके बाद लालू प्रसाद को यहां लाया गया है।

इससे पहले एम्स ने वापस भेजा था रिम्स

रिम्स में हालत बिगड़ने पर मंगलवार को उन्हें एयर एंबुलेंस से एम्स दिल्ली ले जाया गया। जहां उन्हें रात चार बजे इमरजेंसी वार्ड में ऑब्जर्वेशन में रखने के बाद छुट्टी दे दी गई। साथ ही उन्हें रिम्स के डॉक्टरों से ही इलाज कराने की सलाह दी। तब लालू प्रसाद वापस रांची लौट रहे थे, इस दौरान दिल्ली एयरपोर्ट पर उनकी तबीयत बिगड़ गई और फिर उन्हें फिर से एम्स ले जाया गया।

चारा घोटाले के पांचवें मामले में लालू हैं दोषी करार

चारा घोटाले के सबसे चर्चित डोरंडा कोषागार से 139.35 करोड़ रुपये के गबन के मामले में राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद को दोषी करार दिया गया है। सीबीआई की विशेष अदालत ने उन्हें पांच साल कैद और 60 लाख रुपये के जुर्माने की सजा सुनाई है। जिसके बाद लालू प्रसाद होटवार जेल में सजा काट रहे हैं। तबीयत खराब होने के कारण उन्हें रिम्स के पेंईग वार्ड में रखा गया था।

लालू प्रसाद मधुमेह, रक्तचाप, हृदय रोग, गुर्दे की बीमारी, गुर्दे की पथरी, तनाव, थैलेसीमिया, प्रोस्टेट का बढ़ना, यूरिक एसिड में वृद्धि, मस्तिष्क संबंधी रोग, कमजोर प्रतिरक्षा, दाहिने कंधे की हड्डी की समस्या, पैर की हड्डी की समस्या जैसे रोगों से पीड़ित हैं।

हरियाणा से ‘स्कूटर’ पर लाये गये थे भैंस

डोरंडा कोषागार मामले से पहले लालू प्रसाद को देवघर, चाईबासा में दो और दुमका कोषागार से अवैध निकासी मामले में सजा सुनाई जा चुकी है। दुमका मामले में उन्हें सात साल की सजा सुनाई गई है। डोरंडा ट्रेजरी कांड सबसे प्रसिद्ध है क्योंकि इस सीबीआई जांच में पाया गया कि अधिकारी और राजनेता धोखाधड़ी करने के लिए हरियाणा से ‘स्कूटर’ पर भैंस ले गए थे।


Leave a Reply

Your email address will not be published.