Breaking :
||गैंगेस्टर अमन श्रीवास्तव गैंग का शूटर राजू शर्मा बिहार से गिरफ्तार||Jharkhand: प्रेमी ने पांच माह की गर्भवती प्रेमिका को गला दबाकर मार डाला||कोयला लदे हाइवा व ट्रक की भीषण टक्कर में दोनों चालकों की दर्दनाक मौत||रांची: असामाजिक तत्वों ने मेन रोड स्थित हनुमान मंदिर में की तोड़फोड़, प्रतिमा क्षतिग्रस्त||बालूमाथ: वज्रपात की चपेट में आने से पत्नी की मौत, पति समेत दो घायल||पातम-डाटम जलप्रपात में डूबे दोनों युवकों के शव बरामद, प्रशासनिक उदासीनता से ग्रामीणों में आक्रोश||तीन माह की गर्भवती महिला से छह अपराधियों ने पति के सामने किया सामूहिक दुष्कर्म, सभी आरोपी गिरफ्तार||लातेहार: माइंस खोलने को लेकर भूमि पूजन करने मंगरा गांव पहुंची डीवीसी कंपनी का विरोध, दो पक्षों में जमकर मारपीट, आधा दर्जन लोग घायल||लातेहार: नाबालिग से दुष्कर्म कर बनाया वीडियो, वायरल करने की धमकी दे करता रहा दुष्कर्म, ग्रामीणों ने पिटायी कर पुलिस को सौंपा||BREAKING: बालूमाथ में मधुमक्खियों ने फिर किया हमला, एक आदिवासी महिला की मौत, छह घायल

पाकिस्तान की नेशनल असेंबली भंग, 90 दिन में होंगे चुनाव

'

पाकिस्तान की नेशनल असेंबली ने रविवार को इमरान खान सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग होनी थी. नेशनल असेंबली में जिस तरह के समीकरण बने थे उसके हिसाब से प्रधानमंत्री इमरान खान की कुर्सी जानी तय तय लग रही थी. नेशनल असेंबली की कार्रवाई दोपहर में शुरू हुई.

पाकिस्तान की नेशनल असेंबली के डिप्टी स्पीकर कासिम खान सूरी ने रविवार को प्रधानमंत्री इमरान खान के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव को संविधान के अनुच्छेद पांच के खिलाफ बताते हुए खारिज कर दिया. उन्होंने विदेशी साजिश का आरोप लगाकर इसे खारिज किया है. डिप्टी स्पीकर ने नेशनल असेंबली की कार्रवाई 25 अप्रैल तक स्थगित कर दी.

इसे भी पढ़ें :- नक्सलियों की अब खैर नहीं ! सैटेलाइट ट्रैकर का होगा इस्तेमाल, बड़े ऑपरेशन की तैयारी

वहीं अविश्वास प्रस्ताव के खारिज होने से नाराज विपक्ष ने सदन पर कब्जा कर लिया है. विपक्ष ने अयाज सादिक को स्पीकर चुन कर अलग से अपनी कार्यवाही शुरू कर दी है.

विपक्ष का दावा उसके पास 177 सदस्यों समर्थन

वहीं विपक्ष के सदस्य जब आज जब सदन में पहुंचे तो वे अविश्वास प्रस्ताव को लेकर आश्वस्त दिखाई दिए, लेकिन प्रस्ताव खारिज होने के बाद उन्होंने फैसले का विरोध किया. विपक्ष को इमरान खान को सरकार से बाहर करने के लिए निचले सदन में 342 में से 172 सदस्यों के समर्थन की ज़रूरत थी जबकि उन्होंने दावा किया है कि उनके पास 177 सदस्यों को समर्थन है.

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें