Breaking :
||बंद औद्योगिक इकाइयों को पुनर्जीवित करेगी राज्य सरकार : मुख्यमंत्री||आर्थिक तंगी के कारण कोई भी छात्र उच्च एवं तकनीकी शिक्षा से न रहे वंचित: मुख्यमंत्री||झारखंड में मानसून की आहट, भारी बारिश का अलर्ट जारी||बड़गाईं जमीन घोटाले में ED की बड़ी कार्रवाई, जमीन कारोबारी के ठिकाने से एक करोड़ कैश और गोलियां बरामद||पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के सेक्शन अधिकारी समेत दो रिश्वत लेते गिरफ्तार||सतबरवा में कपड़ा व्यवसायी के बेटे और बेटी के अपहरण का प्रयास विफल, लातेहार की ओर से आये थे अपहरणकर्ता||लातेहार: एनडीपीएस एक्ट के दोषी को 15 वर्ष का कठोर कारावास और 1.5 लाख रुपये का जुर्माना||लातेहार सिविल कोर्ट में आपसी सहमति से प्रेमी युगल ने रचायी शादी||लातेहार: किड्जी प्री स्कूल के बच्चों ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर किया योगाभ्यास||किसानों की समृद्धि से राज्य की अर्थव्यवस्था को मिलेगी मजबूती : मुख्यमंत्री
Saturday, June 22, 2024
पलामूपलामू प्रमंडल

पलामू: अंचल अधिकारी ने दर्ज करायी बदसलूकी व सरकारी कार्य में बाधा डालने की प्राथमिकी

पलामू : जिले में तरहसी के अंचल अधिकारी केदारनाथ सिंह के कार्यालय में घुसकर उनसे बदसलूकी करने का मामला सामने आया है। अंचल अधिकारी ने इस संबंध में थाने में मामला दर्ज कराया है, जिसमें गुरहा निवासी 28 वर्षीय अबुदरदा खान समेत 10-15 लोगों को आरोपी बनाया गया है। इस संबंध में अंचल अधिकारी के आवेदन के आधार पर धारा 147, 148, 323, 353, 427, 504 लगायी गयी है।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

आवेदन में अंचल अधिकारी ने कहा है कि 24 मई की सुबह करीब 11.30 बजे अबुदरदा खान 10-15 साथियों के साथ जबरन अंचल कार्यालय में घुस गया और गाली-गलौज करने लगा। उन लोगों ने करीब एक घंटे तक हंगामा किया और सरकारी काम को बाधित किया। अबुदरदा खान बेहद हिंसक था और उसने एक लैपटॉप तोड़ दिया और कई सरकारी कागजात फाड़ दिये। बहुत समझाने पर भी वह समझने को तैयार नहीं था। अंचल अधिकारी ने थाना प्रभारी से अबुदरदा व उसके साथियों पर कार्रवाई करने का आग्रह किया है।

सभी आरोप निराधार : अबुदरदा

इधर, अबुदारदा ने फोन पर कहा कि सीओ द्वारा लगाये गये सभी आरोप निराधार हैं। उन्होंने किसी भी प्रकार की तोड़फोड़ और सरकारी कार्य में बाधा उत्पन्न नहीं की है। अंचल अधिकारी के कार्यालय में सीसीटीवी लगा है। इसके फुटेज से स्थिति स्पष्ट की जा सकती है। अबुदरदा ने कहा कि बेदानी मोड़ का नाम डॉ. भीमराव अंबेडकर चौक करने का लिखित अनुरोध किया गया था। इस बीच वहां परशुराम चौक का बोर्ड लगा दिया गया। मामला एसडीओ के कोर्ट में गया है। वहां से स्थानीय स्तर पर रिपोर्ट मांगी गयी। सीओ ने वह रिपोर्ट भेज दी है। मैं और मेरे साथ आये लोग संबंधित रिपोर्ट की जानकारी लेने गये थे।