Breaking :
||फल खरीदने गया पति, प्रेमी के साथ भाग गयी पत्नी||पलामू में 47.5 डिग्री पहुंचा पारा, मई महीने का रिकॉर्ड टूटा, दशक का सर्वाधिक अधिकतम तापमान||DJ सैंडी मर्डर केस : हत्या और मारपीट का मामला दर्ज, बार संचालक व बाउंसर समेत 14 गिरफ्तार||झारखंड की चर्चा खूबसूरत पहाड़ों की वजह से नहीं बल्कि नोटों के पहाड़ की वजह से हो रही : मोदी||लातेहार: हाइवा की चपेट में आने से मजदूर घायल, विरोध में सड़क जाम समेत बालूमाथ की दो ख़बरें||चक्रवाती तूफ़ान ‘रेमल’ का असर, कल से दो जून तक बारिश, इन जिलों के लिए अलर्ट जारी||टेंडर कमीशन घोटाला: कल IAS मनीष रंजन से ED करेगी पूछताछ||पलामू SP की दरियादिली, हैदराबाद के अस्पताल में जवान की मौत के बाद बकाया राशि का भुगतान कर शव भी मंगवाया||पलामू में नाबालिग के साथ दुष्कर्म, आरोपी गिरफ्तार||पलामू: 17 दिन से लापता युवक का मिला कंकाल, हत्या की आशंका
Wednesday, May 29, 2024
पलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: होमगार्ड्स ने कंपनी कमांडर पर लगाया अवैध वसूली का आरोप, प्रदर्शन

लातेहार : होमगार्ड्स ने कंपनी कमांडर प्रकाश रंजन पर ड्यूटी के नाम पर अवैध वसूली करने और राशि नहीं देने पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है। गुरुवार को होमगार्ड्स ने उपायुक्त भोर सिंह यादव को ज्ञापन सौंपा और कलेक्ट्रेट के सामने प्रदर्शन किया।

गृह रक्षा वाहिनी के प्रदेश महासचिव राजीव कुमार तिवारी ने आरोप लगाया कि कंपनी कमांडर प्रकाश ड्यूटी देने के नाम पर प्रत्येक जवान से छह हजार रुपये की अवैध वसूली करते हैं। कंपनी कमांडर का कहना है कि ड्यूटी लेनी है तो किडनी बेचकर भी पैसे देने पड़ेंगे।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

ज्ञापन में होमगार्ड्स ने कहा है कि पहले ऑनलाइन एचआरएमएस कंपनी कमांडर प्रकाश रंजन द्वारा किया जाता था और सभी होमगार्डों को ई-मेल आईडी जारी की गयी थी। इस ऑनलाइन एचआरएमएस में कांस्टेबल का नंबर डालकर ही चेक किया जा सकता है। लेकिन अब एचआरएमएच का फार्म नये सिरे से सारा डाटा हटाकर भरा जा रहा है। जबकि एचआरएमएस का फॉर्म एक ही बार में पूरे झारखंड में भर दिया गया है।

ज्ञापन में कहा गया है कि जिनके कर्मचारी पहचान पत्र जारी है, उन्हें छोड़कर बाकी होमगार्ड को एचआरएमएच फार्म भरने को कहा गया है। इस संबंध में कुछ पूछने पर कंपनी कमांडर अभद्र व्यवहार करते हैं। होमगार्डों ने बताया कि कंपनी कमांडर जब भी बात करता है तो सभी होमगार्डों के मोबाइल बाहर ही रख दिये जाते हैं। दुमका में पदस्थापन के दौरान कंपनी कमांडर के खिलाफ एसटी-एसी मामले में प्राथमिकी भी दर्ज हो चुकी है और उन्हें रांची में ब्लैक लिस्ट भी कर दिया गया था।