Breaking :
||बंद औद्योगिक इकाइयों को पुनर्जीवित करेगी राज्य सरकार : मुख्यमंत्री||आर्थिक तंगी के कारण कोई भी छात्र उच्च एवं तकनीकी शिक्षा से न रहे वंचित: मुख्यमंत्री||झारखंड में मानसून की आहट, भारी बारिश का अलर्ट जारी||बड़गाईं जमीन घोटाले में ED की बड़ी कार्रवाई, जमीन कारोबारी के ठिकाने से एक करोड़ कैश और गोलियां बरामद||पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के सेक्शन अधिकारी समेत दो रिश्वत लेते गिरफ्तार||सतबरवा में कपड़ा व्यवसायी के बेटे और बेटी के अपहरण का प्रयास विफल, लातेहार की ओर से आये थे अपहरणकर्ता||लातेहार: एनडीपीएस एक्ट के दोषी को 15 वर्ष का कठोर कारावास और 1.5 लाख रुपये का जुर्माना||लातेहार सिविल कोर्ट में आपसी सहमति से प्रेमी युगल ने रचायी शादी||लातेहार: किड्जी प्री स्कूल के बच्चों ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर किया योगाभ्यास||किसानों की समृद्धि से राज्य की अर्थव्यवस्था को मिलेगी मजबूती : मुख्यमंत्री
Saturday, June 22, 2024
पलामूपलामू प्रमंडल

डालटनगंज रेलवे स्टेशन से आरपीएफ ने नौ बाल मजदूरों को कराया मुक्त, एक तस्कर गिरफ्तार

पलामू : डालटनगंज रेलवे स्टेशन पर रेस्क्यू कर गुरुवार की रात नौ बाल श्रमिकों को मुक्त कराया गया है। सारे बच्चे दिल्ली ले जाये जा रहे थे। उन्हें एक खिलौना फैक्ट्री में काम पर लगाना था। सूचना मिलते ही गढ़वा रोड आरपीएफ इंस्पेक्टर बनारसी यादव ने कार्रवाई की। बच्चों को स्टेशन से मुक्त कराने के बाद टाउन थाना में रखा गया। सीडब्लूसी से काउंसिलिंग कराने के बाद बच्चों को उनके माता-पिता को सौंप दिया जायेगा। सारे बच्चे चैनपुर प्रखंड के सेमरा पंचायत क्षेत्र के निवासी हैं। इस सिलसिले में एक तस्कर रामगढ़ के चौपरिया निवासी मुनीफ अंसारी (21) को गिरफ्तार किया गया है।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

शहर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर अभय कुमार सिन्हा ने शुक्रवार को बताया कि गुप्त सूचना मिलने के बाद आरपीएफ गढ़वा रोड के इंस्पेक्टर बनारसी यादव ने डालटनगंज रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर एक से नौ बच्चों का रेस्क्यू किया। सभी बच्चों को दिल्ली के खिलौना फैक्ट्री में काम कराने के लिए ले जाया जा रहा था। सारे बच्चों को स्वर्ण जयंती एक्सप्रेस से दिल्ली ले जाने की तैयारी थी। उन्होंने कहा कि इस संबंध में एक तस्कर को गिरफ्तार किया गया है। उसने कई जानकारी दी है। इस पर कार्रवाई की जा रही है। सीडब्लूसी से काउंसिलिंग कराने के बाद बच्चों को उनके परिजनों के हवाले कर दिया जायेगा।

इधर बच्चों के परिजनों ने बताया कि सारे बच्चे गावं में क्रिकेट खेलने के बाद से लापता हो गए थे, उन्हें ढूंढा जा रहा था। इसी बीच सूचना मिली कि सभी को बहला फुसलाकर दिल्ली ले जाया जा रहा है। टाउन थाना से सूचना मिलने पर बच्चों को लेने के लिए पहुंचे हैं। उन्होंने बताया कि घर से निकलते समय बच्चों ने किसी तरह की कोई जानकारी नहीं दी थी।