Breaking :
||बंद औद्योगिक इकाइयों को पुनर्जीवित करेगी राज्य सरकार : मुख्यमंत्री||आर्थिक तंगी के कारण कोई भी छात्र उच्च एवं तकनीकी शिक्षा से न रहे वंचित: मुख्यमंत्री||झारखंड में मानसून की आहट, भारी बारिश का अलर्ट जारी||बड़गाईं जमीन घोटाले में ED की बड़ी कार्रवाई, जमीन कारोबारी के ठिकाने से एक करोड़ कैश और गोलियां बरामद||पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के सेक्शन अधिकारी समेत दो रिश्वत लेते गिरफ्तार||सतबरवा में कपड़ा व्यवसायी के बेटे और बेटी के अपहरण का प्रयास विफल, लातेहार की ओर से आये थे अपहरणकर्ता||लातेहार: एनडीपीएस एक्ट के दोषी को 15 वर्ष का कठोर कारावास और 1.5 लाख रुपये का जुर्माना||लातेहार सिविल कोर्ट में आपसी सहमति से प्रेमी युगल ने रचायी शादी||लातेहार: किड्जी प्री स्कूल के बच्चों ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर किया योगाभ्यास||किसानों की समृद्धि से राज्य की अर्थव्यवस्था को मिलेगी मजबूती : मुख्यमंत्री
Saturday, June 22, 2024
झारखंडधार्मिक

जानिये कब से शुरू हो रहा है सावन का महीना व सोमवारी से जुड़ी पूरी डिटेल

सावन का महीना भगवान शिव का महीना होता है। इस साल सावन का महीना जुलाई से शुरू होकर 12 अगस्त तक रहेगा। जानें सावन 2022 का पवित्र महीना कब शुरू हो रहा है और इस महीने में कितने सोमवार व्रत पड़ रहे हैं। पूरी डिटेल पढ़ें।

सावन का माह या सावन का महीना हिंदू धर्म में अत्यंत विशेष महत्व रखता है। ऐसा इसलिए है, क्योंकि इस पूरे महीने में हर दिन भगवान शिव की पूजा की जाती है। ऐसा माना जाता है कि सावन का महीना शिव का महीना होता है। इस साल सावन का महीना जुलाई से शुरू होकर 12 अगस्त तक रहेगा। सावन माह का पहला दिन – 14 जुलाई 2022, दिन गुरुवार

सावन सोमवारी और पूर्णिमा दिन और तारीख

सावन सोमवार व्रत – 18 जुलाई 2022, सोमवार

सावन सोमवार व्रत – 25 जुलाई 2022, सोमवार

सावन सोमवार व्रत – 01 अगस्त 2022 सोमवार

सावन सोमवार व्रत – 08 अगस्त 2022, सोमवार

सावन मास का अंतिम दिन – 12 अगस्त 2022, शुक्रवार

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

हिंदी कैलेंडर में पांचवें स्थान पर आता है। मान्यताओं के अनुसार सावन का महीना भगवान भोलेनाथ की पूजा के लिए बेहद खास होता है। ऐसा माना जाता है कि जो व्यक्ति सावन के प्रत्येक सोमवार को व्रत रखकर भगवान शिव की पूजा करता है, उसकी हर मनोकामना पूरी होती हैं।

रक्षा बन्धन 2022

रक्षा बन्धन भद्रा अन्त समय – 08:51 पी एम

रक्षा बन्धन भद्रा पूंछ – 05:17 पी एम से 06:18 पी एम

रक्षा बन्धन भद्रा मुख – 06:18 पी एम से 08:00 पी एम

पूर्णिमा तिथि प्रारम्भ – अगस्त 11, 2022 को 10:38 ए एम बजे

पूर्णिमा तिथि समाप्त – अगस्त 12, 2022 को 07:05 ए एम बजे

रक्षा बन्धन के लिये प्रदोष काल का मुहूर्त – 08:51 पी एम से 09:13 पी एम