Breaking :
||पलामू में जन वितरण प्रणाली दुकानदार की गोली मारकर हत्या, पुलिस कर रही जांच||लातेहार: युवक हत्याकांड का खुलासा, भाभी ने ही करा दी देवर की हत्या, दो आरोपी गिरफ्तार||थर्ड रेल लाइन निर्माण कार्य में लगी कंपनी के साइट पर नक्सलियों का उत्पात, फायरिंग कर जेसीबी में लगायी आग||दुर्गा पूजा पर आयोजित कार्यक्रम देख लौट रही नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म||हजारीबाग: तीर्थयात्रियों से भरे बस और ट्रक की सीधी टक्कर में 4 की मौत, 30 घायल||लातेहार: ढाबा चलाने की आड़ में अफीम व डोडा पाउडर बेचने के आरोप में ढाबा संचालक गिरफ्तार||रांची: गैस रिफिलिंग की दुकान में रखे सिलेंडर में हुए विस्फोट से चार दुकानें जलकर राख||चतरा में पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़, भारी मात्रा में सामान और हथियार बरामद||लातेहार: दशहरा व दुर्गा पूजा को लेकर मिठाई व फास्ट फूड दुकानों की हुई जांच, पांच दुकानों पर कार्रवाई, लगा जुर्माना||पलामू सिविल सर्जन 50 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार, बिल भुगतान के एवज में मांगी थी रिश्वत

राहु और केतु करने वाले हैं राशि परिवर्तन, जानिए क्या होगा सभी राशियों पर प्रभाव

'

लगभग 18 साल बाद राहु मेष राशि में और केतु तुला राशि में प्रवेश करेंगे। राहु और केतु की चाल हमेशा वक्री होती है, यानी ये दोनों उलटे चलते हैं। 12 अप्रैल 2022 को सुबह 10:36 बजे ये दोनों अपनी राशि स्थान में परिवर्तन करेंगे। राहु वृषभ से मेष राशि में आएंगे, जबकि केतु वृश्चिक से तुला राशि में आएंगे। आने वाले डेढ़ साल तक ये दोनों इसी राशि में रहेंगे। ये दोनों क्रूर ग्रहों के गोचर से सभी राशियों के जातकों पर अलग अलग प्रभाव पड़ने वाला है। आईये जानते प्रत्येक राशि पर इनका क्या प्रभाव होगा :-

मेष :-

मेष राशि वालों के लिए राहु पहले और केतु सातवें भाव में आएंगे। इस गोचर के कारण अगले डेढ़ सालों तक इन जातकों में थोड़ा घमंड आ सकता है। हालाँकि ऊंचाइयों को छूने का यह अच्छा समय होगा। इनके व्यक्तित्व में निखार आएगा। पत्नी से रिश्तों में खटास आ सकती है। बिज़नेस करने वालों को थोड़ा ध्यान देने की ज़रूरत है। अगर पार्टनरशिप में हैं, तो थोड़ा सावधान रहें।

वृषभ :-

वृषभ राशि वालों के लिए राहु बारहवें और केतु छठे भाव में आएंगे। आने वाले डेढ़ साल तक ये दोनों इसी राशि में रहेंगे। इस गोचर के प्रभाव से विदेश यात्रा का योग बन रहा है। रिश्तों में शारीरिक सुख ज्यादा भोगने की कोशिश करेंगे। मामाओं से झगड़ा या उन्हें कोई परशानी हो सकती है। केतु के कारण कुछ स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याएं आ सकती हैं। कुत्तों और गौ माता को रोटी खिलने से लाभ मिलेगा।

मिथुन :-

मिथुन राशि वालों के लिए राहु ग्यारहवें और केतु पांचवें भाव में आएंगे। आने वाले डेढ़ साल में इस परिवर्तन से मिथुन राशि वाले ज्यादा लाभ के बारे में सोचेंगे। इनका फ्रेंड सर्किल बड़ा होने का समय है। रिश्तों की अहमियत को आप समझेंगे। बच्चों के कारण कुछ समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं। उनके स्वास्थ्य पर ध्यान दें। शेयर मार्केट में अगर पैसा लगाते हैं तो अभी रुक जाएँ।

कर्क :-

कर्क राशि वालों के लिए राहु दसवें और केतु चौथे भाव में आएंगे। अगले डेढ़ सालों तक ये लोग अपने करियर को अच्छी दिशा देने में लगे रहेंगे। अपने कार्य कौशल से अच्छा लाभ कमा सकते हैं। जॉब में हैं तो प्रमोशन हो सकता है। यह आपके मकान या निवास स्थान के बदलने का भी संकेत है। आपके घर का पुनर्निर्माण होने का समय है। वाहन से चोट लग सकता है। सावधान रहें।

सिंह :-

सिंह राशि वालों के लिए राहु नौवें और केतु तीसरे भाव में आएंगे। अगले डेढ़ सालों तक इनमे साहस की कमी आ सकती है। लम्बी दूरी की यात्रा संभव है। धर्म और पूजा पाठ को फायदे के नज़र से देखेंगे। लोगों से बातचीत कम होंगे। छोटे भाई बहनों से झगड़ा हो सकता है। सतर्क रहें।

कन्या :-

कन्या राशि वालों के लिए राहु आठवें और केतु दूसरे भाव में आएंगे। आने वाले डेढ़ साल तक ये दोनों इसी राशि में रहेंगे। आपको अचानक से कुछ फायदा होने के संकेत मिल सकते हैं। कोई जमीन – जायदाद मिल सकता है। कटु बोलने से परहेज़ करें। आपके अंदर घर से दूर जाने का विचार आएगा। मुख संबंधी कोई समस्या हो सकती है। सावधान रहने की ज़रूरत है।

तुला :-

तुला राशि वालों के लिए राहु सातवें और केतु पहले भाव में आएंगे। इन डेढ़ वर्षों में आपके अंदर कोई आध्यात्मिक परिवर्तन हो सकता है। अपने आप को बदलने की कोशिश में रहेंगे। अपने आपको जानने की कोशिश करेंगे। प्रेम सम्बन्धी छल से दूर रहें। सामाजिक बदनामी हो सकती है। अगर व्यापार में हैं तो लाभ होगा।

वृश्चिक :-

वृश्चिक राशि वालों के लिए राहु छठे और केतु बारहवें भाव में आएंगे। आने वाले डेढ़ साल तक ये दोनों इसी राशि में रहेंगे। अगर आप आध्यात्मिक राह पर है तो यह समय आपके लिए अच्छा है। जॉब में हैं तो प्रमोशन हो सकता है। बीमारियों को नज़रअंदाज़ न करें।

धनु :-

धनु राशि वालों के लिए राहु पांचवें और केतु ग्यारहवें भाव में आएंगे। इन 18 महीनों में बच्चों के प्रति लगाव ज्यादा होगा। कई मित्र या साथी गण आपसे दूर हो सकते हैं। आय में कटौती हो सकती है। शेयर मार्केट से लाभ हो सकता है। अफेयर हो सकता है।

मकर :-

मकर राशि वालों के लिए राहु चौथे और केतु दसवें भाव में आएंगे। इन डेढ़ वर्षों में नौकरी के क्षेत्र में परेशानी हो सकती है। नौकरी में बदलाव संभव है। अपमान भी हो सकता है। प्रॉपर्टी या वाहन खरीदने का सोचेंगे। माता – पिता के स्वास्थ्य पर ध्यान दें।

कुम्भ :-

कुम्भ राशि वालों के लिए राहु तीसरे और केतु नौवें भाव में आएंगे। अगले डेढ़ सालों तक अत्यधिक साहसी और ऊर्जावान महसूस करेंगे। छोटे भाई बहन अपने जीवन में आगे बढ़ते दिखेंगे। धर्म – कर्म, पूजा पाठ से दूर हो सकते है। छोटी यात्रायें अधिक करनी पड़ सकती हैं।

मीन :-

मीन राशि वालों के लिए राहु दूसरे और केतु आठवें भाव में आएंगे। इन डेढ़ सालों में आप ज़रूरत से ज्यादा बोलेंगे। जिससे लोगों को बुरा लग सकता है। अतः कम बोलने का प्रयास करें। चटपटा खाने का शौक बढ़ सकता है। कोई अचानक से स्वास्थ्य में परेशानी आ सकती है। उन्हें नज़रअंदाज़ न करें।

राहु और केतु गोचर 2022


Leave a Reply

Your email address will not be published.