Breaking :
||लातेहार जिले के विकास के लिए किसी के पास कोई रोडमैप नहीं, अधिकारी भी नहीं रहना चाहते यहां: सुदेश महतो||झारखंड में अधिकारियों के तबादले में चुनाव आयोग के निर्देशों का नहीं हुआ पालन, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने लिखा पत्र||पलामू: बाइक सवार अपराधियों ने व्यवसायी को मारी गोली, पत्नी ने गोतिया परिवार पर लगाया आरोप||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल||पलामू: पिछले 13 माह में सड़क दुर्घटना में 225 लोगों की मौत पर उपायुक्त ने जतायी चिंता||सदन की कार्यवाही सोमवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित||JSSC परीक्षा में गड़बड़ी मामले की CBI जांच कराने की मांग को लेकर विधानसभा गेट पर भाजपा विधायकों का प्रदर्शन||लातेहार: 10 लाख के इनामी JJMP जोनल कमांडर मनोहर और एरिया कमांडर दीपक ने किया सरेंडर||युवक ने थाने की हाजत में लगायी फां*सी, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप
Sunday, February 25, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामू प्रमंडलबालूमाथलातेहार

तेतरियाखाड़ कोलियरी में PNMPL कंपनी के खिलाफ भूख हड़ताल पर बैठे मजदूर नेता की तबियत बिगड़ी

लातेहार : जिले के बालूमाथ प्रखंड क्षेत्र स्थित सीसीएल के राजहरा क्षेत्र द्वारा संचालित तेतरियाखाड़ कोलियरी में गुरुवार से पीएनएमपीएल आउटसोर्सिंग कंपनी द्वारा स्थानीय मजदूरों को काम से हटाने के खिलाफ अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठे मजदूर नेता गिरिधारी यादव की तबीयत बिगड़ गयी। उनका ब्लड प्रेशर कम होने लगा, जिसके बाद उन्होंने एक निजी डॉक्टर को बुलाया और धरना स्थल पर ही स्लाइन लगाकर उनका इलाज किया जा रहा है।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

बता दें कि हाल ही में पीएनएमपीएल कंपनी प्रबंधन ने 18 मजदूरों को काम से हटा दिया था। जिसके चलते आंदोलन के पहले चरण में श्रमिक नेताओं और निष्कासित श्रमिकों ने लगातार 28 दिनों तक धरना-प्रदर्शन किया। इसके बाद यह आंदोलन भूख हड़ताल में तब्दील हो गया है।

मजदूर नेता ने कहा है कि जब तक मजदूरों को न्याय नहीं मिल जाता तब तक भूख हड़ताल जारी रहेगी। शुक्रवार की शाम अंचल अधिकारी तृप्ति विजया कुजूर, कोलियरी के महाप्रबंधक कमल मांझी और परियोजना अधिकारी केएल यादव वार्ता के लिए पहुंचे। लेकिन निष्कासित मजदूरों और अधिकारियों के बीच वार्ता विफल रही। समाचार लिखे जाने तक निष्कासित कर्मियों की भूख हड़ताल जारी थी।

Balumath Latehar Latest News