Breaking :
||चतरा डीसी अबु इमरान ने किया एक और सांसद का अपमान, लोकसभा स्पीकर के पास दूसरी बार पहुंची शिकायत||अब झारखंड के प्राथमिक विद्यालयों में कक्षाएं संचालित करने में स्थानीय युवाओं की मदद लेगी सरकार||रांची बिरसा मुंडा एयरपोर्ट उड़ाने की धमकी देने वाला आरोपी बिहार से गिरफ्तार||बिहार में सियासी हलचल, नीतीश के पालाबदल की चर्चा, दिल्ली बुलाए गए भाजपा नेता||सुखाड़ को लेकर सरकार गंभीर, स्थिति का जायजा लेने सभी जिलों में भेजे गए अधिकारी||रांची में अपराधियों ने गैस दुकानदार मारी गोली, रिम्स में चल रहा इलाज||माओवादियों के नाम पर लेवी वसूलने आये तीन बदमाश पकड़ाये||झारखंड कैबिनेट में फेरबदल, कांग्रेस के लिए नयी मुसीबत, फूट पड़ने की आशंका बढ़ी||अब लातेहार के इस गांव के ग्रामीणों ने सीमा पर लगाया बोर्ड, बाहरी व्यक्ति के प्रवेश पर रोक||सांगठनिक बदलाव की तैयारी में झारखंड कांग्रेस, अधिकांश जिले में नए चेहरों को मौका

विवादित भूमि पर व्यक्तिगत रूप से टेंट लगाने का ग्रामीणों ने किया विरोध, मौके पर पहुंची पुलिस

'

संजय राम /बारियातू

लातेहार : बारियातू प्रखंड अंतर्गत टोंटी पंचायत के टुंडाहुटु पिपराडीह में सार्वजिनक विवादित स्थल पर गांव के ही नागेश्वर महतो द्वारा व्यक्तिगत रूप से टेंट लगाए जाने का ग्रामीणों ने विरोध किया है।

पिपराडीह के ग्रामीणों ने बताया कि सार्वजनिक विवादित स्थल खाता नम्बर 30 प्लॉट नम्बर 293 रकबा 31 डिसमिल नया खाता नम्बर 32 प्लॉट 344 व 345 जो पूर्व में भी और वर्तमान नए सर्वे में भी बिहार सरकार अनाबाद दर्ज है। जिसे गांव के ही नागेश्वर यादव ने पूर्व में बंदोबस्त कराया था।

जानकारी देते ग्रामीण

अब उपरोक्त दर्शाए गए सार्वजनिक विवादित स्थल पर नागेश्वर महतो द्वारा व्यक्तिगत रूप से टेंट लगाकर कार्य किया जा रहा था। जिसका विरोध करते हुए बारियातू टीओपी प्रभारी को सूचना दी गई है।

विरोध करते ग्रामीण

इधर, सार्वजनिक विवादित स्थल पर व्यक्तिगत रूप से कार्य कराने की सूचना मिलते ही टीओपी प्रभारी कुंदन कुमार सदलबल उक्त स्थल पर पहुंचे व दोनों पक्षो की बात को सुनकर नागेश्वर यादव को समझा कर सार्वजनिक विवादित स्थल पर टेंट नही लगाने की बात कही। वंही विरोध कर रहे ग्रामीणों से कहा कि आपस में किसी भी तरह का विवाद न करे। विवादित भूमि से सम्बंधित आवेदन अंचल में दिया हुआ है। बहुत जल्द विवाद का समाधान कर दिया जायेगा। टीओपी प्रभारी के आश्वासन के बाद ग्रामीण शांत हुए।


Leave a Reply

Your email address will not be published.