Breaking :
||मोदी 3.0: मोदी सरकार में मंत्रियों के बीच हुआ विभागों का बंटवारा, देखें किसे मिला कौन सा मंत्रालय||गढ़वा: प्रेमी ने गला रेतकर की प्रेमिका की हत्या, शादी का बना रही थी दबाव, बिन बयाही बनी थी मां||मैक्लुस्कीगंज में फायरिंग व आगजनी मामले में पांच गिरफ्तार, ऑनलाइन जुआ खेलाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, सात गिरफ्तार||पलामू में शैक्षणिक संस्थानों के 100 मीटर के दायरे में 60 दिनों के लिए निषेधाज्ञा लागू, जानिये वजह||पलामू में युवक की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच तेज||पलामू: संदिग्ध हालत में स्कूल में फंदे से लटका मिला प्रधानाध्यापक का शव, हत्या की आशंका||लातेहार: तालाब में डूबे बच्चे का 24 घंटे बाद भी नहीं मिला शव, तलाश के लिए पहुंची NDRF की टीम||मुख्यमंत्री चंपाई सोरेन ने आलमगीर आलम से लिए सभी विभाग वापस||पलामू: कोयला से भरा ट्रक और बीड़ी पत्ता लदा ऑटो जब्त, पांच गिरफ्तार, दो लातेहार के निवासी||लातेहार: नहाने के दौरान तालाब में डूबने से दस वर्षीय बच्चे की मौत, शव की तलाश में जुटे ग्रामीण
Thursday, June 13, 2024
पलामू प्रमंडलबालूमाथलातेहार

लातेहार: बालूमाथ में जंगली हाथियों ने चार घरों को तोड़ा, तीन मवेशियों को पटक कर मार डाला

शशि भूषण गुप्ता/बालूमाथ

लातेहार : बालूमाथ थाना क्षेत्र के विभिन्न ग्रामीण क्षेत्रों में जंगली हाथियों का आतंक रुकने का नाम नहीं ले रहा है। इस दौरान बुधवार की सुबह करीब 3:00 बजे हाथियों ने बालूमाथ प्रखंड मुख्यालय से सटे बसिया ग्राम अंतर्गत बीसोडारी टोला में जमकर उत्पात मचाया। यहां जंगली हाथियों ने चार घरों को ध्वस्त करते हुए दो पशुओं को पटक कर मार डाला।

ग्रामीणों से मिली जानकारी के अनुसार जंगली हाथियों ने बीसोडारी टोला में करीब 3 घंटे तक उत्पात मचाया। इस दौरान सिलवंती मसोमात, चंद्र तुरी, रामजीत गंझू और लालमनी मसोमत के घर को पूरी तरह से धवस्त कर दिया। जबकि राजदेव गंझू का एक बैल, विमल गंझू व तेतर गंझू के एक-एक सुकर को पटक कर मार डाला।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

जंगली हाथियों के कारण बीसो डारी टोला के ग्रामीणों को करीब पांच लाख रुपये का आर्थिक नुकसान बताया जा रहा है। इस बरसात की मौसम में घर ध्वस्त हो जाने से ग्रामीणों के समक्ष रहने खाने और सोने की समस्या उत्पन्न हो गयी है। जिसे देखते हुए पीड़ित परिवार के लोगों ने वन विभाग के अधिकारियों से तत्काल मुआवजा राशि के साथ-साथ पक्के आवास उपलब्ध कराने और इस क्षेत्र से जंगली हाथियों को भगा कर बेतला वन क्षेत्र में ले जाने की मांग की है।