Breaking :
||झारखंड एकेडमिक काउंसिल कल जारी करेगा मैट्रिक और इंटर का रिजल्ट||लातेहार: चुनाव प्रशिक्षण में बिना सूचना के अनुपस्थित रहे SBI सहायक पर FIR दर्ज||ED ने जमीन घोटाला मामले में आरोपियों के पास से बरामद किये 1 करोड़ 25 लाख रुपये||झारखंड में हीट वेब को लेकर इन जिलों में येलो अलर्ट जारी, पारा 43 डिग्री के पार||सतबरवा सड़क हादसे में मारे गये दोनों युवकों की हुई पहचान, यात्री बस की चपेट में आने से हुई थी मौत||झारखंड: रामनवमी जुलूस रोके जाने से लोगों में आक्रोश, आगजनी, पुलिस की गाड़ियों में तोड़फोड़, लाठीचार्ज||लातेहार में भीषण सड़क हादसा, दो बाइकों की टक्कर में तीन युवकों की मौत, महिला समेत चार घायल, दो की हालत नाजुक||बड़ी खबर: 25 लाख के इनामी समेत 29 नक्सली ढेर, तीन जवान घायल||पलामू: महुआ चुनकर घर जा रही नाबालिग से भाजपा मंडल अध्यक्ष ने किया दुष्कर्म, आरोपी की तलाश में जुटी पुलिस||झामुमो केंद्रीय समिति सदस्य नज़रुल इस्लाम ने मोदी को जमीन में 400 फीट नीचे गाड़ने की दी धमकी, भाजपा प्रवक्ता ने कहा- इंडी गठबंधन के नेता पीएम मोदी के खिलाफ बड़ी घटना की रच रहे साजिश
Sunday, April 21, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

मनी लॉन्ड्रिंग: ईडी ने अब बिरसा सेंट्रल जेल के अधीक्षक हामिद अख्तर और डीएसपी प्रमोद मिश्रा को पूछताछ के लिए बुलाया

रांची : ईडी अवैध खनन के जरिये 1,000 करोड़ रुपये की मनी लॉन्ड्रिंग की जांच कर रहा है। इस मामले में ईडी ने अब बिरसा सेंट्रल जेल के अधीक्षक हामिद अख्तर और डीएसपी प्रमोद मिश्रा को समन भेजा गया है। प्रमोद मिश्रा को 6 मार्च को और हामिद अख्तर को 7 मार्च को ईडी कार्यालय में पेश होने को कहा गया है। साहिबगंज के बड़हरवा टोल प्लाजा विवाद मामले की जांच कर रहे ईडी ने तत्कालीन बड़हरवा डीएसपी प्रमोद कुमार मिश्रा को तीसरी बार समन भेजा है। पूर्व में भेजे गये दो समन के बाद भी डीएसपी ईडी के सामने पेश नहीं हुए थे।

गौरतलब है कि राज्य सरकार ने ईडी की शक्तियों को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी, एक दिन पहले ही उनकी याचिका खारिज हो चुकी है। उन पर आरोप है कि बड़हरवा के उक्त केस में उन्होंने 24 घंटे के भीतर आरोपित मंत्री आलमगीर आलम और मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के बरहेट विधानसभा क्षेत्र के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा को क्लीन चिट दे दी थी।

इसमें मंत्री आलमगीर आलम, मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा सहित कई अन्य आरोपियों को आरोपी बनाया गया था। ईडी ने इससे पहले डीएसपी प्रमोद कुमार मिश्रा को 12 दिसंबर 2022 के लिए समन भेजा था। पहले समन पर पेश नहीं होने पर ईडी ने उन्हें फिर से 15 दिसंबर को पूछताछ के लिए बुलाया था। लेकिन पीके मिश्रा ईडी के सामने पेश नहीं हुए।

झारखंड मनी लॉन्ड्रिंग केस