Breaking :
||गुमला में लूटपाट करने आये चार अपराधी हथियार के साथ गिरफ्तार||रांची में वाहन चेकिंग के दौरान भारी मात्रा में कैश बरामद||लोहरदगा में धारदार हथियार से गला रेतकर महिला की हत्या||पलामू समेत झारखंड के इन चार लोकसभा सीटों के लिए 18 से शुरू होगा नामांकन, प्रत्याशी गर्मी की तपिश में बहा रहे पसीना||रामनवमी के दौरान माहौल बिगाड़ने वाले आपत्तिजनक पोस्ट पर झारखंड पुलिस की पैनी नजर, गाइडलाइन जारी||झारखंड: प्रचार करने पहुंचीं भाजपा प्रत्याशी गीता कोड़ा का विरोध, भाजपा और झामुमो कार्यकर्ताओं के बीच झड़प||झारखंड में 20 अप्रैल को जारी होगा मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट||कुर्मी को आदिवासी सूची में शामिल करने की मांग से आदिवासी समाज में आक्रोश, आंदोलन की चेतावनी||लातेहार: सुरक्षा व्यवस्था को लेकर डीसी ने रामनवमी जुलूस निकालने वाले मार्गों का किया निरीक्षण||पलामू: तेज रफ़्तार कार और बाइक की टक्कर में युवक की मौत
Monday, April 15, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

झारखंड में अधिकारियों के तबादले में चुनाव आयोग के निर्देशों का नहीं हुआ पालन, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने लिखा पत्र

रांची : लोकसभा चुनाव को लेकर झारखंड में मनमाने तरीके से तबादले का मामला आयोग तक पहुंच गया है। आयोग के संज्ञान में आने के बाद मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी (सीईओ) के रवि कुमार ने शनिवार को झारखंड के सभी अपर मुख्य सचिव, प्रधान सचिव और सचिव को पत्र लिखा है।

आयोग द्वारा लिखे गये पत्र के मुताबिक, आगामी लोकसभा आम चुनाव के मद्देनजर अधिकारियों के स्थानांतरण और पदस्थापन के लिए आयोग द्वारा दिशानिर्देश दिये गये थे। आयोग के संज्ञान में आया है कि अधिकारियों का स्थानांतरण एक ही संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत सीमावर्ती जिले में कर दिया गया है, जो स्थानांतरण नीति की मूल भावना के विपरीत है। संबंधित पत्र के माध्यम से यह निर्देश दिया गया है कि जिन पदाधिकारियों का पूर्व में स्थानांतरण हो चुका है परंतु आयोग के निर्देशानुसार स्थानांतरण नहीं हुआ है। उनका स्थानांतरण उपरोक्तानुसार किया जाये।

गौरतलब है कि मुख्य सचिव और डीजीपी के स्तर से अधिकारियों के ट्रांसफर और पोस्टिंग से संबंधित अनुपालन रिपोर्ट 26 फरवरी को दोपहर 3 बजे तक आयोग को भेजनी है।

Jharkhand Transfer-Posting Case