Breaking :
||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता का इंडी गठबंधन पर हमला, कहा- कोड वर्ड के जरिये बेच दिया झारखंड को||टेंडर कमीशन देने में पांकी के ठेकेदार का भी नाम : शशिभूषण मेहता||टेंडर घोटाले की जांच में पूर्व मंत्री आलमगीर आलम नहीं कर रहे सहयोग : ED||पांचवें चरण में 63.21 फीसदी वोटिंग, पुरुषों से ज्यादा रही महिलाओं की भागीदारी||गढ़वा: शादी समारोह में शामिल होने जा रही मां-बेटी की सड़क हादसे में मौत, बेटा और बेटी की हालत नाजुक||झारखंड: स्कूलों में शत प्रतिशत नामांकन को लेकर राज्य शिक्षा परियोजना गंभीर, लापरवाही बरतने पर होगी कार्रवाई||टेंडर कमीशन घोटाला मामला: ED ने अब IAS मनीष रंजन को पूछताछ के लिए बुलाया||मतदान केंद्र में फोटो या वीडियो लेना अपराध, की जा रही है कार्रवाई : मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी||लातेहार: बालूमाथ में बाइक दुर्घटना में एक युवक की मौत, दूसरा गंभीर, रिम्स रेफर||गढवा: डोभा में नहाने के दौरान डूबने से JJM नेता के पोते समेत दो किशोरों की मौत
Thursday, May 23, 2024
पलामूपलामू प्रमंडल

युवा नेता रूद्र शुक्ला ने की IG से मुलाक़ात, पलामू जिले से CRPF 134 बटालियन को नहीं हटाने का किया अनुरोध

प्रेम पाठक/सतबरवा

कहा हटाने से उग्रवाद व आपराधिक गतिविधियों के फिर से पनपने का है खतरा

पलामू : पांकी विधानसभा के पूर्व विधायक प्रत्याशी, प्रदेश कोऑर्डिनेटर प्रोफेशनल विंग, कांग्रेस मंत्री प्रतिनिधि, वित्त सह खाद्य आपूर्ति विभाग, झारखंड सरकार, युवा नेता रुद्र शुक्ला ने पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) से मुलाकात की और एक पत्र सौंप कर सीआरपीएफ 134 बटालियन को पलामू जिले से नहीं हटाये जाने की मांग करते हुए पलामू जिले में ही छोड़ने का अनुरोध किया है।

युवा नेता रूद्र शुक्ला ने कहा कि पलामू जिला अंतर्गत जीएलए कॉलेज मुख्यालय सहित चक, मनातू, ताल, हरिहरगंज, डांगरा, कुकुकला आदि जगहों पर उग्रवादी एवं आपराधिक गतिविधियों को रोकने के लिए लंबे समय से सीआरपीएफ की 134 बटालियन तैनात है, जिसे सरकार ने हटाने का आदेश दिया है।

उन्होंने पत्र में लिखा है कि झारखंड सरकार द्वारा पलामू जिले को नक्सल मुक्त जिला घोषित किया गया है। जिस कारण सीआरपीएफ 134 बटालियन को पलामू जिले से स्थानांतरित किया जा रहा है। लेकिन यहां हर दिन नक्सली गतिविधियों से डर बना रहता है। यहां कोई केंद्रीय पुलिस बल तैनात नहीं है, इसलिए हमें नहीं लगता कि पलामू के ऐसे संवेदनशील इलाकों से सीआरपीएफ कंपनी को हटाया जाना चाहिए। अगर कंपनी को यहां से हटाया गया तो मुझे लगता है कि यहां फिर से नक्सली गतिविधियां और आपराधिक गतिविधियां होंगी। इसे विकसित होने में ज्यादा समय नहीं लगेगा। इससे आम जनता में भय का माहौल बनेगा। विकास कार्य भी बड़े पैमाने पर बाधित होंगे और आपराधिक गतिविधियां फिर से फैलने लगेंगी।

पत्र के माध्यम से उन्होंने में पलामू जिला पुलिस प्रशासन और झारखंड के मुख्यमंत्री, डीजीपी और प्रशासनिक अधिकारियों से अनुरोध किया है कि केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल को पलामू से नहीं हटाया जाये। पलामू की जनता अपराधमुक्त एवं भयमुक्त वातावरण में रह सके। इसके लिए पांकी विधानसभा एवं पलामू की जनता सदैव आभारी रहेगी।

Palamu Latest News Today