Breaking :
||फल खरीदने गया पति, प्रेमी के साथ भाग गयी पत्नी||पलामू में 47.5 डिग्री पहुंचा पारा, मई महीने का रिकॉर्ड टूटा, दशक का सर्वाधिक अधिकतम तापमान||DJ सैंडी मर्डर केस : हत्या और मारपीट का मामला दर्ज, बार संचालक व बाउंसर समेत 14 गिरफ्तार||झारखंड की चर्चा खूबसूरत पहाड़ों की वजह से नहीं बल्कि नोटों के पहाड़ की वजह से हो रही : मोदी||लातेहार: हाइवा की चपेट में आने से मजदूर घायल, विरोध में सड़क जाम समेत बालूमाथ की दो ख़बरें||चक्रवाती तूफ़ान ‘रेमल’ का असर, कल से दो जून तक बारिश, इन जिलों के लिए अलर्ट जारी||टेंडर कमीशन घोटाला: कल IAS मनीष रंजन से ED करेगी पूछताछ||पलामू SP की दरियादिली, हैदराबाद के अस्पताल में जवान की मौत के बाद बकाया राशि का भुगतान कर शव भी मंगवाया||पलामू में नाबालिग के साथ दुष्कर्म, आरोपी गिरफ्तार||पलामू: 17 दिन से लापता युवक का मिला कंकाल, हत्या की आशंका
Wednesday, May 29, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरउत्तरी छोटानागपुरझारखंड

पर्यटन के मानचित्र पर झारखंड को अलग पहचान दिलाने का हो रहा प्रयास : मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने किया पतरातू में पर्यटन विहार गेस्ट हाउस का उदघाटन

रामगढ़ : झारखंड को प्रकृति ने कई खूबसूरत सौगातें दी है। इस राज्य को खनिज -संपदा के लिए तो जाना ही जाता है। इसके अलावा यहां का प्राकृतिक सौंदर्य, मनोरम और मनमोहक वादियां और धार्मिक स्थल भी आकर्षण का केंद्र रहा है। यहां के पर्यटक स्थल और भी खूबसूरत हों। यहां सैलानियों को सभी जरूरी सुविधायें मिलें। देश- दुनिया के सैलानियों का यह आकर्षण का केंद्र बनें। इसे ध्यान में रखकर सरकार द्वारा सभी पर्यटक स्थलों के विकास के लिए विशेष कार्य योजना बनायी जा रही है और उसे चरणबद्ध तरीके से धरातल पर उतारा जा रहा है। यह बातें गुरुवार को रामगढ़ जिले के पतरातू में पर्यटन विहार गेस्ट हाउस का उद्घाटन करते हुए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कही। पर्यटन विभाग ने 20 करोड़ की लागत से इस गेस्ट हाउस का निर्माण पूरा किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस पहल से पर्यटन के मानचित्र पर झारखंड को एक अलग पहचान मिलेगी।

यहां पिकनिक मनायें पर डैम को नुकसान ना पहुंचायें

मुख्यमंत्री ने लोगों से कहा कि यह पर्यटक स्थल आपकी संपत्ति है। आप यहां पिकनिक मनायें। घूमे-फिरे और मनोरंजन करें। लेकिन, इसे किसी भी सूरत में नुकसान ना पहुंचायें। इसे प्रदूषित नहीं करें। पूरे परिसर की साफ-सफाई का ध्यान रखें। सरकार किसी भी पर्यटक स्थल के आधारभूत संरचना को मजबूती दे सकती है, लेकिन इसे चलाना और सुरक्षित रखना आपकी जिम्मेदारी है।

आसपास के क्षेत्रों का होगा विकास, रोजगार के बढ़ेंगे अवसर

मुख्यमंत्री ने कहा कि एक पर्यटक स्थल के रूप में पतरातू डैम की एक अलग छवि बन रही है। यहां आने वाले सैलानियों की संख्या लगातार बढ़ रही है। इसका सीधा लाभ यहां के लोगों को मिलेगा। इससे एक तरफ आसपास के क्षेत्रों का विकास होगा, वहीं रोजगार के भी नये अवसर बढ़ेंगे। यह सिर्फ एक डैम नहीं है, बल्कि आपकी आमदनी का एक बड़ा स्रोत भी है। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि आम जनता की सहभागिता के बिना कोई भी योजना सफल नहीं हो सकती है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

डैम एरिया का नहीं हो अतिक्रमण

मुख्यमंत्री ने कहा कि पतरातू डैम कैचमेंट एरिया का सीमांकन किया जायेगा। ताकि, इसका अतिक्रमण नहीं हो और इसे सुरक्षित रखा जा सके। इसके लिए उन्होंने जिला प्रशासन को सभी जरूरी कदम उठाने का निर्देश दिया । उन्होंने कहा कि डैम परिसर में गंदगी फैलाने वालों के खिलाफ भी कार्रवाई करें।

जल्द मिलेगी रोपवे की सौगात

राज्य के पर्यटन मंत्री श्री हफीजुल हसन ने पतरातू डैम परिसर को एक पर्यटक स्थल के रूप में विकसित किये जाने को लेकर उठाये जा रहे कदमों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि यहां आने वाले सैलानियों के लिए जल्द ही रोपवे का निर्माण किया जायेगा। इसके अलावा पतरातू और नेतरहाट के लिए भी बस सेवा की शुरुआत की जायेगी। वहीं, पतरातू डैम में वाटर एक्टिविटीज तथा वाटर स्पोर्ट्स भी नियमित रूप से आयोजित किये जायेंगे।

छह योजनाओं का उद्घाटन, वीडियोग्राफी और फोटोग्राफी प्रतियोगिता के विजेता हुए पुरस्कृत

मुख्यमंत्री ने इस मौके पर लगभग 12 करोड़ 92 लाख रुपए की लागत से 6 योजनाओं का उद्घाटन- शिलान्यास किया। इसमें 7 करोड़ 10 लाख रुपए की 2 योजनाओं का उद्घाटन और 5 करोड़ 82 लाख रुपये की 4 योजनाओं का शिलान्यास शामिल है। इसके अलावा समारोह में पर्यटन निदेशालय द्वारा आयोजित फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कृत किया गया।

इस मौके पर पर्यटन मंत्री हफीजुल हसन, राज्य समन्वय समिति के सदस्य फागु बेसरा, विधायक अम्बा प्रसाद, मुख्यमंत्री के सचिव विनय कुमार चौबे, भवन निर्माण विभाग के सचिव सुनील कुमार, निदेशक पर्यटन अंजलि यादव एवं रामगढ़ के उपायुक्त माधवी मिश्रा और पुलिस अधीक्षक समेत जिला प्रशासन के कई पदाधिकारी मौजूद थे।