Breaking :
||झारखंड में भीषण गर्मी से मिलेगी राहत, 20 जून तक मानसून करेगा प्रवेश||पलामू: बालिका गृह में दुष्कर्म पीड़िता की बहन की मौत, मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में हुआ पोस्टमार्टम||सतबरवा प्रखंड के रैयतों ने सांसद से की मुलाकात, उचित मुआवजा दिलाने की मांग||पलामू में तीन अलग-अलग सड़क हादसों में तीन की मौत, नेतरहाट घूमने जा रहा एक पर्यटक भी शामिल||केंद्रीय मंत्री शिवराज व असम के मुख्यमंत्री हिमंता झारखंड विधान सभा चुनाव में भाजपा का करेंगे बेड़ापार||झारखंड में पांच नक्सली ढेर, एक महिला नक्सली समेत दो गिरफ्तार, हथियार बरामद||अब स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग स्कूली बच्चों को नशीले पदार्थो के सेवन से होने वाले दुष्प्रभावों के बारे में करेगा जागरूक||लातेहार: बालूमाथ में अनियंत्रित बाइक दुर्घटनाग्रस्त, दो युवक घायल, सांसद ने पहुंचाया अस्पताल, दोनों रिम्स रेफर||15 ऐसे महत्वपूर्ण कानून और कानूनी अधिकार जो हर भारतीय को जरूर जानने चाहिए||लातेहार में तेज रफ्तार बोलेरो ने घर में सो रहे पांच लोगों को रौंदा, एक की मौत, चार रिम्स रेफर
Tuesday, June 18, 2024
पलामू प्रमंडलमनिकालातेहार

लातेहार: मनिका में जमीन सीमांकन को लेकर अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठे रैयत

बबन पासवान/मनिका

लातेहार : मनिका प्रखंड क्षेत्र के बरवईया पंचयात के चामा गांव निवासी बीरबल उरांव, शिवराज उरांव, सुजीत उरांव, मनोज उरांव, दीपक उरांव, अंचल कार्यालय के सामने गुरुवार को अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठ गये हैं।

भूख हड़ताल में बैठे बीरबल उरांव ने बताया कि मनिका अंचल कार्यालय में अपना जमीन जिसका खाता संख्या 152 प्लॉट संख्या 700,1075, 502, 512 के मापी को लेकर कई महीना पहले आवेदन दिया है। लेकिन आज तक उनके जमीन की मापी हुई, जबकि पुराना खतियान नया खतियान ऑनलाइन रसीद उनके पूर्वज के नाम से है। लेकिन पदाधिकारी की कमी से उनके जमीन की मापी आज तक नहीं हुई।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

उनका कहना है कि अंत में थक हार कर वे आदिवासी परिवार पूर्व में अंचल अधिकारी को अल्टीमेटम देकर अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल मैं बैठे हैं। जब तक उन लोगों के जमीन की मापी नहीं होती तब तक उनका भूख हड़ताल जारी रहेगा।

वहीं भूख हड़ताल पर बैठे लोगों का हाल जानने भाजपा नेता रघुपाल सिंह धरना स्थल पहुंचे व लोगों से मामले की जानकारी ली। उन्होंने प्रशासन से जल्द से जल्द मामले की जांच कर भूख हड़ताल तुड़वाने की मांग की।

श्री सिंह ने कहा कि खेती के दिन में किसान अपने खेत जमीन छोड़कर भूख हड़ताल पर अंचल कार्यालय के समक्ष बैठे हैं। प्रशासन को जल्द ही इस पर कानून संवत कार्रवाई करनी चाहिए और रैयतो को संतुष्ट करना चाहिए।

वहीं इस भूख हड़ताल का चामा ग्राम निवासी मरियम तिर्की, रंगो देवी, इंद्रदेव उरांव,जगबीर उरांव, विदेश्वर उरांव, दिलेश्वर उरांव, लाल सहाय उरांव, विनोद उरांव, संतोष उरांव, सुनील उरांव, सुरेश उरांव, राजेश उरांव, निर्मल उरांव, पंखु उरांव, योगेंद्र उरांव, बनेश्वर उरांव भी समर्थन दे रहे हैं।

इस मामले में अंचल निरीक्षक बीरबल उरांव ने बताया कि ग्राम चामा के पुराना खाता 25 जो नया खाता 152 बना है, उस जमीन पर मतनाग गांव निवासी देवबंद यादव बगैरह के द्वारा न्यायालय में टाइटल सूट चल रहा है। जब तक न्यायालय के द्वारा आदेश प्राप्त नहीं होता है, तब तक भूमि का अंचल द्वारा सीमांकन नहीं किया जा सकता है। नया खाता खतियान उरांव परिवार के लोग के नाम से अंकित है, आगे न्यायालय द्वारा जो फैसला आयेगा अंचल उसका अनुपालन करेगा।